टुडे न्यूज़युवा प्रतिभा

वो कौन सा है पद , जिसे देता ये जहाँ सम्मान

गुरू है इस पद का नाम। मेरा सभी गुरूजनो को शत-शत प्रणाम ।

हिसार टुडे। मंदार राजे, 

वो कौन सा है पद , जिसे देता ये जहाँ सम्मान।
वो कौन सा है पद , जो करता है देशों का निर्माण।
वो कौन सा है पद , जो बनाता है इंसान को इंसान।
वो कौन सा है पद , जिसे करते है सभी प्रणाम।
वो कौन सा है पद , . छाया में मिलता ज्ञान ।
वो कौन सा है पद, जो कराये सही दिशा की पहचान।
गुरू है इस पद का नाम। मेरा सभी गुरूजनो को  शत-शत प्रणाम ।

पढ़कर सुनकर देखकर निकला यह निष्कर्ष  योद्धा बन लड़ते रहो
जीवन है संघर्ष कर्मक्षेत्र में जो डटे लिया लक्ष्य को साध
वही चखेंगे एक दिन  मधुर जीत का स्वाद मौन हुआ वातावरण
मांग रहा हूंकार  वक्त पुकारे आज फिर हो जाओ तैयार
जागो आगे बढ़ चलो करो शक्ति संधान
केवल दृढ़ संकल्प से  संभव नवनिर्माण
कुछ तो ऐसा कर चलो  जिस पर हो अभिमान
इस दुनिया की भीड़ में  बने अलग पहचान

माता-पिता,

ईश्वर की वो सौगात है,
जो हमारे जीवन की  अमृतधार है!
आपसे ही हमारी  एक पहचान है,
वरना हम तो इस दुनिया से अनजान थे!
आपके आदर्शों पर चलकर ही,
हर मुश्किल का डटकर सामना करना सीखा है हमने!

आपने ही तो इस जीवन की दहलीज़ पर हमें,
अंगुली थामे चलना और आगे बढ़ना सिखाया है,
वरना एक कदम भी न चल पाने से हम हैरान थे!
आपने दिया है जीवन का ये नायाब तोहफा हमें,
जिसे भुला पाना भी  हमारे लिए मुश्किल है!

आपकी परवरिश ने ही दी है नेक राह हमें,
वरना हम तो इस नेक राह के काबिल न थे!
आपसे ही हमारे जीवन की शुरुआत है,
आपसे ही हमारी खुशियाँ और आबाद है,
आप ही हमारे जीवन का आधार है,
आप से हैं हम,और आप से ही ये
सारा जहांन है!

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close