टुडे न्यूज़युवा प्रतिभा

हमें न मालूम है

मदमस्त जीवन जिया और जी रहे हैं और जीते रहेंगे।

हिसार टुडे ।राजीव डोगरा

हमें न मालूम है
न मालूम करना चाहते हैं।
हमें इश्क था हमें इश्क है,
और इश्क ही बस करना चाहते हैं।

न जीवन का ठिकाना पता है,
न मृत्यु का अट्हास का सुना है।
हर घड़ी, हर पल उल्हास
में जीवन जिया है।

जी रहे हैं और बस जीना चाहते हैं।
न दुख की अनुभूतियों में ग़म किया।
न सुख की अनुभूतियों में
उल्लास किया।

मदमस्त जीवन जिया और जी रहे हैं
और जीते रहेंगे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close