टुडे न्यूज़

समाजसेविका हरबंसकौर को श्रद्धांजलि देने के लिए अन्तिम शोकसभा 13 जून को शीशमहल में

हिसार की प्रसिद्ध समाजसेविका व भारत माता मंदिर की भूखंड प्रदाता माता हरबंस कौर की अन्तिम शोक सभा शीश महल पैलेस मे दोपहर एक से दो बजे तक होगी।

हिसार टुडे।

हिसार की प्रसिद्ध समाजसेविका  व भारत  माता मंदिर की भूखंड प्रदाता माता हरबंस कौर की अन्तिम शोक सभा 13 जून को दिल्ली रोड पर स्थित शीश महल पैलेस मे दोपहर एक से दो बजे तक  होगी। पूरे देश व प्रांत से विभिन्न धार्मिक ,सामाजिक ,सांस्कृतिक व अन्य संगठनों के लोग निवास स्थान माडल टाऊन पंहुच कर माता को श्रद्धासुमन अर्पित कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि माता हरबंस कौर का 1 जून, शनिवार को देहावसान हो गया था। वे काफी लंबे समय से अस्वस्थ चल रही थी। माता हरबंस कौर के पदचिह्नों पर चलते हुए उनके पुत्र अनिल महत्ता भी समाजसेवा में अग्रणी भूमिका निभा रहे हैं।भारत माता ट्रस्ट के महासिचव विजय शर्मा ने बताया कि  माता हरबंस कौर ने अपने पति स्व. चौ.फतेह चंद के पदचिंहो पर चलते हुए सामाजिक एवं धार्मिक कार्यों में अपना पूरा जीवन  बिना किसी प्रचार प्रसार के समर्पित कर दिया।हिसार के मॉडल टाउन निवासी माता हरबंस कौर को समाज का  पोषक कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।

शर्मा ने बताया कि उन्होंने  एम. सी. कॉलोनी में स्थित भारत माता मंदिर के निर्माण में अहम भूमिका निभाई । उन्होने  न  केवल भूखंड प्रदान किया बल्कि मंदिर निर्माण में भी पूर्ण सहयोग प्रदान किया।इसी भांति हिसार के गांव काबरेल में स्थित काबरेल गोशाला के निर्माण एवं संवर्धन के लिए  41एकड जमीन के  दान  व आर्थिक सहयोग को कभी भुलाया नहीं जा सकता।

इतना ही नहीं मील गेट के पास स्थित दीपनगर में सेवा भारती स्कूल, मंदिर एवं सिलाई सेंटर का निर्माण ,छत्तीसगढ़ में वनवासी बंधुओं के लिए अस्पताल का निर्माण करवा समाज कल्याण का अनूठा उदाहरण समाज को दिया। इन संस्थानों की स्थापना एवं संचालन में उनकी भूमिका देखकर हर कोई नतमस्तक  हो जाता है। वह अन्तिम समय तक अनगिनत सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं को वे नियमित रूप से सहयोग करती रहीं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close