टुडे न्यूज़हिसार

हरियाणा के किसानों के सबसे बड़े दुश्मन की गोदी में बैठ गए दुष्यंत: भव्य

Hisar Today

टुडे न्यूज | हांसी
हिसार लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी भव्य बिश्नोई ने कहा है क्षेत्र की जनता के आशीर्वाद से चुनाव जीतकर वे क्षेत्र में युवा वर्ग के कल्याण के लिए विशेष नीति के तहत उच्च शिक्षण संस्थान लाने का प्रयास करेंगे ताकि युवा वर्ग को उच्च शिक्षा के लिए बाहर न जाना पड़े।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार व मौजूदा सांसद ने हिसार लोकसभा क्षेत्र के युवाओं के लिए ऐसा कोई संस्थान लाने की बजाय युवाओं को केवल अपने लिए नारे लगाने के लिए प्रयोग किया। वे आज हांसी हलके के गांव ढाणी देपल, गुज्जरखेड़ा, ढाणी कुतुबपुर, लालपुरा, ढाणी शोभा, ढाणी पुरिया, मोरपुरा, ढाणी शांकरी, हाजमपुर, हांसी बार एसोसिएशन व टाईपिस्ट, रोहनात, ढाणी मेहंदा, थुराना, ढाणी पाल, सैनीपुरा, जग्गाबाड़ा में सभाओं को संबोधित कर रहे थे।
भव्य ने कहा कि दुष्यंत चौटाला हरियाणा के किसानों के सबसे बड़े दुश्मन की गोदी में जाकर बैठ गए। सत्ता के लिए ये लोग कहीं तक भी जा सकते हैं। एसवाईएल की राह में रोड़ा रहे पहले बादल और अब केजरीवाल से हाथ मिलाकर दुष्यंत ने साबित कर दिया कि इन्हें प्रदेश के हितों से कोई लेना-देना नहीं है। हलके के दौरे के दौरान भव्य ने कहा कि हिसार लोकसभा क्षेत्र में कोई भी सार्वजनिक कारखाना, आईआईटी या आईआईएम नहीं है। इसके अलावा केन्द्रीय शिक्षण संस्थान आईजर या नाईजर की के लिए भी बच्चों को बाहर जाना पड़ता है लेकिन सीटें कम व युवा अधिक होने के कारण उन्हें मायूस होना पड़ता है। उन्होंने युवा वर्ग को आश्वस्त किया कि अब उनका प्रयोग नारे लगाने के लिए नहीं बल्कि देश के नवनिर्माण में होगा।
इसके तहत जनता के आशीर्वाद से सांसद बनने के बाद वे हिसार लोकसभा क्षेत्र में कोई सार्वजनिक कारखाना लाने का प्रयास करेंगे जिससे कि युवा वर्ग को रोजगार व क्षेत्र को बड़ी परियोजना मिले। इसके अलावा क्षेत्र में आईआईटी, आईआईएम की शाखा, आईजर या नाईजर लाकर सीटें बढ़ाने का प्रयास किया जाएगा ताकि युवा वर्ग मायूसी के आलम में जीने की बजाय महत्वपूर्ण पदों पर जाकर देश के नवनिर्माण में अपना योगदान दे सकें। उन्होंने युवा वर्ग से आह्वान किया कि वे अपने सुनहरे भविष्य के लिए कांग्रेस का साथ दें।

क्योंकि भाजपा व अन्य पार्टियों के पास न तो किसी वर्ग के उत्थान की नीतियां हैं और न ही ये पार्टियां ऐसे प्रयास करती है। भव्य बिश्नोई ने कहा कि हिसार लोकसभा क्षेत्र चौ. भजनलाल का परिवार है। चौ. भजनलाल ने ताउम्र इस क्षेत्र की सेवा की और उनके पिता चौ. कुलदीप बिश्नोई भी अब इसी कदम पर चल रहे हैं।
उन्होंने कहा कि जनता के आशीर्वाद से सांसद बनने के बाद वे भी अपने दादा चौ. भजनलाल व पिता चौ. कुलदीप बिश्नोई के पदचिन्हों पर चलते हुए क्षेत्र की सेवा में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। इस दौरान बड़ी संख्या में पार्टी नेता व कार्यकत्र्ता उपस्थित थे।

मोदी ने पिछले पांच सालों में हिसार को क्या दिया : कुलदीप बिश्नोई
नारनौंद। कांग्रेस केन्द्रीय कार्यसमिति के सदस्य कुलदीप बिश्नोई ने कहा कि मोदी सरकार ने पिछले पंाच सालों में हिसार लोकसभा क्षेत्र में ऐसा कौन सा काम किया है, जिसके नाम पर भाजपा वोट मांग रही है। कोई बड़ा उद्योग धंधा, कॉलेज, यूनिवर्सिटी बनवाई हो। क्षेत्र के स्कूलों, अस्पतालों की हालत दयनीय स्थिति में है। नहरों में पानी के लिए किसान तरस रहे हैं। मोदी सरकार हिसार लोकसभा क्षेत्र के साथ विकास व रोजगार में घोर भेदभाव किया है। वे आज हलके के गांव बुडाना, राखी खास, राखी शाहपुर, गामड़ा, खेड़ी लोहचब, खेड़ी जालब, किन्नर, नाड़ा, कापड़ो, कौथकलां, कौथ खुर्द, मिर्चपुर में सभाओं को संबोधित कर रहे थे। केन्द्र व प्रदेश की भाजपा सरकार को किसानों, कर्मचारियों व व्यापारी वर्ग के लिए भस्मासुर के समान बताया है। उन्होंने कहा कि फसलों की खरीद समय पर न होने, गेहूं का उठान न होने से किसान परेशान है, आढ़तियों पर नई-नई शर्तें थोपकर उन्हें बर्बाद करने की नीतियां बनाई जा रही है वहीं कर्मचारी वर्ग की जायज मांगे भी नहीं मानी जा रही है, जिससे मजबूर होकर उन्हें आंदोलन करने पड़ रहे हैं। उन्होंने किसानों, कर्मचारियों, आढ़तियों व आम जनता को आश्वस्त किया कि लोकसभा चुनाव में जीत के साथ ही उनके बुरे दिन समाप्त हो जाएंगे। कुलदीप बिश्नोई हिसार शहर में नुक्कड़ सभाओं व जलपान कार्यक्रमों में बोल रहे थे। इस दौरान उनका जोरदार स्वागत किया गया।
और जनता ने कांग्रेस का पुरजोर साथ देने का ऐलान किया। नुक्कड़ सभाओं में कुलदीप बिश्नोई ने कहा कि किसानों को सरसों का 4200 रुपये प्रति क्विंटल का भाव देने की बात कही गई, किसानों की पर्चियां देखने पर पता चला कि उन्हें ठगा गया है और उनकी वह सरसों पूरे खर्चे निकालने के बाद 3500 या 3600 रुपये प्रति क्विंटल ही पड़ी। उन्होंने कहा कि सरसों खरीद में आढ़तियों को दरकिनार करके किसानों व आढ़तियों के बीच दरार डालने का प्रयास किया गया, जो निंदनीय है। उन्होंने कहा कि किसी आढ़ती लंबे समय से किसानों के सहयोग से आढ़त का काम करते आ रहे हैं, उन्हें बेईमान ठहराना कहां का न्याय है। यदि सरकार को कहीं कोई कमी नजर आती है तो उसको दुरूस्त करें लेकिन किसानों व आढ़तियों के बीच दरार पैदा करके इन दोनों वर्गों को बर्बादी की तरफ धकेलना उचित नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने ही किसानों को उनकी फसलों का पूरा मूल्य व किसी घटना के समय उचित मुआवजा देकर किसानों को पूरी सहायता दी और अब भी कांग्रेस किसानों सहित हर वर्ग के हित में काम करने को कृतसंकल्प है। कुलदीप बिश्नोई ने कहा कि प्रदेश का कर्मचारी वर्ग आंदोलन को मजबूर है। सत्ता में आने से पूर्व कांग्रेस ने कर्मचारियों को पंजाब के समान वेतन देने का वादा किया लेकिन सत्ता मिलते ही अपने वादे को भूल गई। उल्टा हर विभाग में निजीकरण की नीतियां लागू करके कर्मचारियों पर तलवार लटका दी गई। विभिन्न विभागों में हजारों पद खाली पड़े हैं, कर्मचारियों पर काम का बोझ बढ़ रहा है लेकिन सरकार का इस तरफ ध्यान नहीं है। कर्मचारी वर्ग अपनी जायज मांग के लिए आंदोलन करता है तो सरकार लाठी या गोली के बल पर उनकी आवाज दबाने का प्रयास करती है। उन्हें सस्पेंड या बर्खास्त करके उन पर प्रताडऩा की कार्रवाही की जाती है। उन्होंने कहा कि सरकार में लंबी सेवा के बाद सेवानिवृत हो चुके कर्मचारियों की भी सरकार सुध नहीं ले रही है। रिटायर्ड कर्मचारी समाज का महत्वपूर्ण अंग, वरिष्ठ नागरिक व हमारे बुजुर्ग हैं लेकिन सरकार इनकी उपेक्षा कर रही है, जो निंदनीय है। उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग में सरकार ने निजी बसें चलाने के नाम पर जो घोटाला अपने चहेतों से करवाया है, वह जगजाहिर हो चुका है। सरकार विजीलेंस जांच के नाम पर इस घोटाले को दबाना चाहती है। उन्होंने कर्मचारी वर्ग से अपील की कि वह जनविरोधी भाजपा को सबक सिखाने के लिए कांग्रेस का साथ दें, क्योंकि भाजपा कभी अच्छे दिन नहीं ला सकती बल्कि अच्छे दिन कांग्रेस ही लाएगी। इस दौरान पूर्व विधायक प्रो. रामभगत शर्मा, डॉ. राजबीर संधू, भूप कौशिक, राजेश सिहाग सहित बड़ी संख्या में पार्टी नेता व कार्यकत्र्ता उपस्थित थे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close