टुडे न्यूज़राजनीतिहिसार

सुजीत के लिए ‘मेयर’ पद फायदे का सौदा

हिसार टुडे | हिसार
भारतीय जनता पार्टी में इन दिनों मेयर पद के लिए रस्साकशी का खेल चल रहा है। हिसार टुडे ने अपनी पिछली रिपोर्ट में इस बात की तरफ ईशारा किया था कि सुजीत कुमार विधायक एवं चेयरमैन डॉ कमल गुप्ता के चहेते माने जातें हैं।

आज भले ही मेयर बनने की सुगबुगाहट तेज हो गई हो परन्तु हकीकत यह है कि भाजपा हाईकमान संगठन से जुड़े नेता को ही इस पद के लिए आजमाने के प्रयास में जुटी हुई है। ऐसे में मेयर बनने की लालसा पाले भाजपा में शामिल होने वालों के अरमानों पर पानी जरूर फिर सकता है। विधायक एवं चेयरमैन डा. कमल गुप्ता के समक्ष अनेक नेताओं ने मेयर की उम्मीदवारी लड़ने की इच्छा जताई है लेकिन माना जा रहा है कि भाजपा हाईकमान अभी इतनी जल्दबाजी में निर्णय लेने के मूड में नहीं है।

हाईकमान संगठन से जुड़े किसी नेता को ही इस पद के लिए आजमाना चाहता है। पार्टी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक अगर ऐसे समीकरणों को देखा जाए तो विधायक डा. कमल गुप्ता के खासमखास एवं जिला महामंत्री सुजीत कुमार का नाम इस पद के लिए पहले नंबर पर लिया जा रहा है।

वे पार्टी व संगठन से लंबे समय से जुड़े हुए हैं और जिले में पार्टी के लिए वे अच्छी खासी मेहनत कर रहे हैं। बताया जा रहा कि सुजीत कुमार नलवा विधानसभा क्षेत्र से टिकट लाने के इच्छुक हैं लेकिन पार्टी का ही एक नेता, जो विधायक डा. गुप्ता का खास है, वह सुजीत कुमार को मेयर का चुनाव लडऩे के लिए राजी करने का प्रयास कर रहा है।

यदि हाईकमान से हरी झंडी मिल गई और तो सुजीत की राह में कोई अड़चन नहीं होगी क्योंकि विधायक डा. कमल गुप्ता पहले ही उनके खास है। यह भी चर्चा है कि सुजीत कुमार के लिए स्वयं डा. गुप्ता भी प्रयास करेंगे। हालांकि सुजीत का मानना है कि वह मेयर चुनाव लड़ने के लिए इक्छुक नहीं है। क्यूंकि उनका पूरा फोकस फिलहाल विधानसभा चुनाव में है। मगर राजनीतिक विशेषज्ञों का मानना है की सुजीत कुमार के लिए मेयर की दावेदारी स्वीकारना फायदा का सौदा साबित हो सकता।

संगठन में दशकों का अनुभव
गौतलब है कि हिसार की राजनीति की बात करें तो सुजीत कुमार का आरएसएस से जुड़े होने का लंबे समय का अनुभव हैं। जब से वह आए है तब से हर संगठन के कार्यकर्ताओं के बीच सुजीत के अच्छे-घनिष्ट रिश्ते रहे। ऐसे में अगर सुजीत को मेयर पद की जिम्मेदारी दी गई तो इसमें दो राय नहीं कि पार्टी संगठन और पार्टी कार्यकर्ता उन्हें जिताने में जी जान एक कर देंगे।

पीएम मोदी ने भी थपथपाई सुजीत की पीठ
सुजीत कुमार भाजपा के ऐसे नेता है जिनका सभी भाजपा मंत्रियों के साथ मधुर संबंध और अच्छी ट्यूनिंग हैं। चाहे वह विधायक डॉ कमल गुप्ता हो वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, जिला अध्यक्ष सुरेंद्र पूनिया। इतना ही नहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अमित शाह भी सुजीत की पीठ थपथपा चुके है। ऐसे में संघठन के साथ नेताओं की ताकत सुजीत के लिए अमृत का काम कर सकती है।

बाहरी होने का मिटेगा ठप्पा
बता दंे कि दशकों से हिसार कि राजनीति में अपना दमखम दिखाने वाले सुजीत कुमार को हर बार केवल “बाहरी” होने का खामियाजा उठाना पड़ा था। परन्तु इस बार मौका सुजीत कुमार के अनुकूल है। उनके चहेते डॉ कमल गुप्ता मेयर चुनाव के प्रभारी है। ऐसे में सुजीत के लिए मेयर की दावेदारी मिलना आसान होगा और सबसे बड़ी बात हिसार की राजनीति में उनकी एंट्री से उन्हें विधानसभा चुनाव के दौरान उन्हें बाहरी होने का खतरा नहीं रहेगा।

मेयर चुनाव से विधानसभा की राह भी हो सकती है आसान
बता दें कि मेयर को विधायक से ज्यादा शक्ति होती है, ऐसे में अगर सुजीत मेयर चुनाव जीतते है तो नलवा विधानसभा चुनाव के दौरान उनके लिए विधायक की टिकट मांगना और चुनाव लड़ना और आसान हो जायेगा। क्यूंकि मेयर चुनाव में डॉ कमल गुप्ता के प्रभारी बनाए जाने के बाद हिसार लोकसभा का संयोजक बनाये जाने के बाद यह तो तय है कि पार्टी का उनपर बहुत भरोसा है. इसलिए विधानसभा चुनाव में वह नलवा सीट के लिए सुजीत का नाम पार्टी प्रमुख के सामने रख कर उनके लिए वकालत कर सकते है।

मीडिया से मधुर संबंध का फायदा
बता दें कि सुजीत कुमार कि खासियत है कि उन्हें कई बार भाजपा पार्टी ने मीडिया प्रमुख और मीडिया प्रभारी की जिम्मेदारी दी गई है ऐसे में उनके हमेशा से ही मीडिया के साथ बेहतर रिश्ते रहे हंै, जिसका फायदा उन्हें आगामी चुनावों में भली-भांति मिल सकता है।

नलवा विधानसभा में सुजीत के सामने टिकट पाने में कड़ी चुनौती
बता दंे कि विधानसभा चुनाव को अभी बहुत महीने बाकी है मगर भाजपा के अंदर नलवा विधानसभा टिकट को लेकर अभी से तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। जिला महामंत्री सुजीत कुमार तो नलवा से अपनी दावेदारी पेश कर चुके हैं, मगर इनेलो से भाजपा में शामिल हिसार जिला सचिव घोलू गुर्ज्जर भी अपनी वहां से मजबूत दावेदारी पेश कर रहे हैं। इतना ही नहीं भाजपा महिला मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष अभिनेत्री सोनाली फोगाट भी नलवा से विधानसभा चुनाव लड़ने में इक्छुक हंै। सोनाली फोगाट के अच्छे सम्बन्ध पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से होने के कारण भी उनकी दावेदारी भी मजबूत मानी जा रही है। बता दंे कि नलवा में इनेलो के कदावर नेता रणबीर गंगवा है ऐसे में नलवा विधानसभा में उनकी टक्कर में चौ. भजनलाल के समर्थक रहे घोलू गुर्ज्जर को दावेदारी दी जा सकती हैं। ऐसे में सुजीत अगर वो मौका खो देंगे तो शायद उन्हें इतनी जल्दी दोबारा मौका न मिले।

अबतक ये रहीं हैं जिम्मेदारियां
2002 में अर्बन मंडल हिसार के उपाध्यक्ष।
2003 में वे हिसार जिला उपाध्यक्ष।
2004 मीडिया प्रमुख, हिसार विभाग।
2004-2006 प्रदेश कार्यकारी मीडिया प्रमुख, हरियाणा।
2006 -2008 प्रदेश उपाध्यक्ष, युवा मोर्चा हरियाणा।
2008-2010 प्रदेश कोषाध्यक्ष, युवा मोर्चा हरियाणा।
2010-2012 प्रदेश उपाध्यक्ष, युवा मोर्चा हरियाणा।
2013 -अब तक जिला महामंत्री, हिसार।
2014 -कार्यकारी जिलाध्यक्ष, भाजपा।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close