टुडे न्यूज़ताजा खबरसिरसा

सिरसा लोकसभा क्षेत्र की चुनावी दौड़ में सुनीता दुग्गल नंबर वन, 8 मई को नरेंद्र मोदी व 9 मई को सन्नी देयोल देंगे आशीर्वाद

सुनीता दुग्गल ने जनता की सेवा के लिए छोड़ी सरकारी नौकरी, अब निर्णय जनता के हाथ में...

Hisar Today

जातीय समीकरणों की चपेट में आ चुकी हरियाणवी राजनीति का प्रभाव संसदीय क्षेत्र सिरसा में स्पष्ट देखा जाने लगा है। प्रदेश के करनाल, सिरसा, फरीदाबाद, कुरुक्षेत्र संसदीय क्षेत्रों में पंजाबी तथा वैश्य समुदाय के मतदाता निर्णायक भूमिका 12 मई को होने जा रहे लोकसभा चुनाव में निभायेंगे। आरक्षित संसदीय क्षेत्र सिरसा में ज्यों-ज्यों चुनाव तिथि नजदीक आ रही है,त्यों-त्यों इस क्षेत्र के राजनीतिक मानचित्र में बदलाव आ रहा है। आयकर विभाग का कमिश्नर पद छोड़कर जनसेवा के लिए चुनावी मैदान में आई सुनीता दुग्गल का पलड़ा भारी नजर आने लगा है। सुनीता दुग्गल संसदीय क्षेत्र सिरसा से भाजपा प्रत्याशी है और सुनीता दुग्गल का प्रचार तेजी पकड़ा हुआ है। 8 मई को फतेहाबाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जन रैली और 9 मई को सिरसा में सन्नी देयोल का रोड़ शो भी संसदीय क्षेत्र सिरसा में कमल खिलाने का काम करेंगे।

जनेसवा के लिए छोड़ी सरकारी नौकरी

भाजपा प्रत्याशी सुनीता दुग्गल कहती है कि राजनीति जनसेवा का बेहतरीन माध्यम है। भारतीय जनता पार्टी ने देश में स्वच्छ राजनीति की एक अनूठी मिसाल कायम की है। इसी से प्रेरित होकर उन्होंने भाजपा ज्वाइन की और अब पार्टी ने उन्हें संसदीय क्षेत्र सिरसा से प्रत्याशी के रूप में जनता के बीच भेजा है। इसी के चलते उन्होंने सरकारी नौकरी का त्याग कर स्वयं को जनता को समर्पित कर दिया है। अब जनता उन्हें सिरआँखों पर बैठाती है या घर वापिस भेज देती है, जनता जर्नादन पर निर्भर करता है। दुग्गल ने कहा कि वह सांसद बने या न बने लेकिन हमेशा जनता की सेवा करती रहेगी।

सुनीता दुग्गल के पक्ष में एक तरफा माहौल, लोग बैठा रहे हैं सिर आँखों पर

लोकसभा चुनाव को अब  एक सप्ताह शेष है और 23 मई को परिणाम आने है। गांव-गांव, वार्ड-वार्ड हर जगह सुनीता दुग्गल के पक्ष में एक तरफा लहर है। इसकी अहम् वजह मोदी फैक्टर भी है।  दरअसल 5 वर्ष पूर्व सत्ता में आई भाजपा ने अपने शासनकाल में पारदर्शिता के साथ तमाम कार्य किए है। देश व प्रदेश को भ्रष्टाचार व अपराध मुक्त करने की दिशा में सराहनीय कदम उठाए। इसी के बलबूते आज सुनीता दुग्गल प्रचार के लिए जहां भी पहुंचती है उन्हें पूरा मान-सम्मान मिलता है।  इसी के प्रतिफल आज सुनीता दुग्गल के पक्ष में एकतरफा माहौल है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close