टुडे न्यूज़हिसार

जिनको दिया गया है टिकट उन्हें चांदनी चौक में छोड़ दो तो हिसार वापस आने की भी जानकारी नहीं : विकास गोदारा

Hisar Today

अर्चना त्रिपाठी | हिसार

  • हिसार लोकसभा सीट से निर्दलीय लड़ेंगे चुनाव

  • भव्य को कहा बेवकूफ और बृजेन्द्र को कहा 21 साल में क्या किया काम

    गए 10 साल से जनशक्ति नामक गैरसरकारी सामाजिक संस्था के माध्यम से पीड़ित, शोिशत किसानों के साथ महिलाओ के उत्थान और छात्रों के हक की आवाज उठाने वाले समाजसेवक विकास गोदारा ने इस बार हिसार लोकसभा सीट से बतौर आज़ाद उम्मीदवार चुनाव लड़ने की तैयारी कर ली है।

    विकास गोदारा ने इसी की घोषणा संवाददाता सम्मलेन में करते हुए कही। उन्होंने भाजपा के इम्पोर्टेड प्रत्याशी बृजेन्द्र सिंह और कांग्रेस के प्रत्याशियों पर सीधा कटाक्ष करते हुए कहा कि जो व्यक्ति 21 सालों से आईएएस अफसर के तौर पर काम करते हुए कभी लोगों के बीच नहीं रहा उसे आज भाजपा ने उम्मीदवारी देकर जनता के विश्वास के साथ खिलवाड़ करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि आज वंशवाद की राजनीति और चुनाव में धनबल के इस्तेमाल के कारण आज चुनाव आम आदमी के पहुंच से दूर चला गया है। 20 से 25 करोड़ आजकल चुनाव में खर्चा आता है।

वंशवाद की राजनीति खत्म हो : विकास गोदारा
जैसा की आज भाजपा वंशवाद की राजनीति को बढ़ावा दे रही है, भाजपा के वो नेता जिनके दिल में हमेशा से यह टिस रही कि काश मैं मुख्यमंत्री होता, आज भाजपा ने उन्ही के बेटे को टिकट दे दिया। विकास गोदारा ने कहा कि क्या भाजपा के पास पुरे हिसार में कोई नेता नहीं मिला कोई कार्यकर्ता नहीं मिला जो उन्होंने उस नेता के बेटे को टिकट दिया जिसके दिल में खुद मुख्यमंत्री बनने की टिस रही।

बृजेन्द्र की राजनीति का मकसद स्वयं का विकास करना
जिस बृजेन्द्र ने 21 साल आईएएस की नौकरी की जिसका कमरा कभी आम आदमी के लिए नहीं खुला, वो आम आदमी के बीच जाकर काम कैसे क्या करेगा? मेरा सवाल है भाजपा के प्रत्याशी से वह जवाब दे कि 21 साल तक आईएएस रहते हुए आपने हिसार की जनता के लिए क्या सामाजिक कार्य किया? उनका राजनीति में आने का मकसद लूट खसोट है।

“भव्य बिश्नोई” राजनीति में बच्चा
विकास गोदारा ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जिस कांग्रेस के उम्मीदवार की अब तक टिकट ही पक्की नहीं वो लोगों को बरगला कर चुनाव प्रचार शुरू करने का काम कर रहे हैं। वो लोग कहते हैं कि मैं हिसार को राजधानी बना दूंगा, ये कैसी बचकानी हरकत है। हरियाणा की राजधानी बनाना बहुत बड़ा मुद्दा है वो राज्य सरकार के साथ जुड़ा है, वो हिंदी भाषिक क्षेत्रों के साथ जुड़ा है, वो राजीव लोंगावाला समझौते से जुड़ा है। कैसे गुमराह कर रहे है, बेवकूफी भरी बातें कर रहा है। ऐसे लोगों से किसान और युवा तंग आ चूका है। जो केवल फोटो खिचवाने के लिए राजनीति करने के लिए खेतों में फोटो खिचाते हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close