टुडे न्यूज़ताजा खबरसंपादकीयहरियाणाहिसार

कितना खर्च किये हो सांसद जी!

महेश मेहता | हिसार टुडे
जैसे जैसे चुनाव के दिन नजदीक आते जा रहे है राजनीतिक पारा बढ़ता जा रहा है। लोेकसभा चुनाव का माहौल गर्माने के साथ ही नेताओं की आपसी खींचतान और भिड़ंत भी तेज हो गई है। राजस्थान से सटी बांगर बेल्ट के प्रमुख संसदीय क्षेत्र हिसार जो इस समय सबसे हॉट सीट मानी जाती है।
अब चुनाव नजदीक आते ही नया मोड़ सामने आ रहा है। क्योंकि हाल में दुष्यंत चौटाला ने ऐसे आरोप लगा दिए है जिसके चलते हरियाणा के तीन प्रमुख नेता अब एक दूसरे के खिलाफ नजर आ रहे है। बात आ रही है चुनावी फंड की। दुष्यंत चौटाला ने यहां सांसद निधि के खर्च को लेकर उठाये सवाल से बवाल मच गया है।
ताऊ देवीलाल के पड़पोते एवं निवर्तमान सांसद दुष्यंत चौटाला ने अपने से पूर्व के तीन सांसदों को कठघरे में खड़ा करने की कोशिश करते हुए यह आरोप लगाया कि उन्होंने संसदीय फंड का इस्तेमाल नहीं किया। क्या इन बातो में सच्चाई है। वैसे दुष्यंत ने ऐन चुनाव में जिन सांसदों का नाम लिया है उसमें शामिल है पूर्व सीएम भजनलाल, उनके बेटे कुलदीप बिश्नोई और पूर्व केंद्रीय मंत्री जय प्रकाश जेपी।
वैसे दुष्यंत यह कहते हैं कि उनके कार्यकाल के पहले के तीन विधायकों ने अपने कार्यकाल में मंजूर सांसद निधि का पूरा इस्तेमाल ही नहीं किया था। दुष्यंत चौटाला के आरोप पर पलटवार करते हुए कुलदीप बिश्नोई और जय प्रकाश जेपी ने उन पर पलटवार कर दिया है।
कुलदीप का कहना है कि खुद दुष्यंत अपने कार्यकाल में पौने चार करोड़ रुपये तक खर्च नहीं कर पाए। दूसरी और जयप्रकाश अपनी सफाई देते हुए कह रहे हैं कि जिस सांसद के कार्यकाल में राशि मंजूर होती है, वह उसी के खाते में दर्ज मानी जाती है। इतना ही नहीं हिसार संसदीय क्षेत्र में सांसद निधि के खर्च को लेकर मचे बवाल से सियासत गरमा गई है।
फिलहाल दुष्यंत चौटाला, कुलदीप बिश्नोई के बेटे भव्य बिश्नोई और भाजपा के बीरेंद्र सिंह के बेटे बृजेंद्र सिंह चुनावी मैदान में हैं। दुष्यंत चौटाला ने दावा किया है कि उन्होंने अपने कार्यकाल में अलाट हुई करीब 25 करोड़ रुपये की सांसद निधि के अलावा अपने से पूर्व के तीन सांसदों की सांसद निधि भी खर्च की है। दुष्यंत के अनुसार उनसे पहले कुलदीप बिश्नोई, भजनलाल और जयप्रकाश जेपी हिसार संसदीय क्षेत्र के लिए अलाट सांसद निधि का काफी हिस्सा अपने कार्यकाल में खर्च नहीं कर पाए थे।
दुष्यंत ने चुनाव के पहले ही अपने पुराने राजनीतिक दुश्मन पर आरोप लगा कर माहौल को और गरमा दिया है। उन्होंने कहा कि उनसे पहले सांसद रहे कुलदीप बिश्नोई दो करोड़ 70 लाख 95 हजार 230 रुपये 99 पैसे खर्च नहीं कर पाए थे। कुलदीप बिश्नोई से पहले उनके पिता भजनलाल सांसद थे, जिन्होंने सांसद निधि की 21 लाख 31 हजार 972 रुपये की राशि खर्च नहीं की।
भजनलाल से पहले सांसद रहे जयप्रकाश जेपी जब हिसार से सांसद रहे तब उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान 23 लाख दो हजार 550 रुपये 17 पैसे खर्च नहीं किए। क्या चुनाव के दौरान लगाए यह आरोप कहीं सामने वाली पार्टी के लिए सरदर्द न बन जाएं, एक तो पहले ही 5 साल जनता के काम न करवाने के लिए एक नेता को जनता दोष दे रही है।
ऐसे में दुष्यंत के इस प्रहार से सामने वाले नेता की मुसीबत और न बढ़ जाए। दुष्यंत चौटाला ने बेहद समझदारी का परिचय दिया और अपने ताश के पत्ते खोले एन चुनाव के दौरान। उन्होंने तो पूरा प्रूफ ही दे दिया कि रिकार्ड के आधार पर उन्होंने लोकसभा सचिवालय से पुरानी धनराशि को फिर से न केवल री-स्टोर कराया, बल्कि इसे अपने क्षेत्र के लिए ट्रांसफर भी कराया है। दुष्यंत ने अपने कार्यकाल के दौरान अलाट हुई करीब 25 करोड़ रुपये की सांसद निधि के अलावा तीनों पूर्व सांसदों की बची हुई तीन करोड़ 14 लाख रुपये से अधिक की राशि को भी खर्च किया है।
वैसे दुष्यंत के इस आरोपों का जवाब देते हुए कुलदीप बिश्नोई और जयप्रकाश ने उनको आड़े हाथो भी लिया। उनका तो मानना है कि एक सस्ती लोकप्रियता के चक्कर में दुष्यंत से सभी हद्दें पार कर दी। दुष्यंत चौटाला के इस आरोप के बाद कुलदीप बिश्नोई और जयप्रकाश जेपी ने इसे दुष्यंत की सस्ती लोकप्रियता का फंडा बताया। खैर कुछ भी हो मगर इस बार चुनाव रोचक होगा।
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close