खेलकूदटुडे न्यूज़हिसार

कुश्ती एकेडमी में गांव भगाना की पांच इटर नैशनल

कुश्ती खिलाडियों का सिर्फ और सिर्फ टारगेट ओलपिक तथा कामन वेल्थ गैम्स में गोल्ड मैडल हासिल करना

हिसार टुडे

हिसार गंगवा स्थित सुशील कुमार कुश्ती एकेडमी में गांव भगाना की पांच इटर नैशनल कुश्ती खिलाडी कडा प्रशिक्षण ले रही है खिलाडियों का अगला ओलपिक में सिर्फ सिर्फ गोल्ड मैडल हासिल करके भारत देश का नाम रोशन करना है। कुश्ती एकेडमी में लगभग सौ महिला कुश्ती खिलाडियों को रोजाना 7 घंटे का कडा कुश्ती प्रशिक्षण दिया जाता है जिसमें दंगल कुश्ती तथा टैक्नीकल कुश्ती के दावपेच सिखाए जाते है। प्रशिक्षण पाने वाली महिला खिलाडियों की आयु मात्र 10 वर्ष लेकर 25 वर्ष तक है ये कुश्ती सब जूनियर तथा सीनियर वर्ग की खेल प्रतियोगिता  में हिस्सा लेती है।

महिला खिलाडियों को लडको से कुश्ती लडने में किसी तरह की कोई गुरेज व शर्म नही है वे प्रशिक्षण के दौरान लडकों को खेल में पछाड देती है दंगल की फिल्म की तरज पर महिला कुश्ती खिलाडियों में लडकों के साथ कुश्ती लडने में कोई परहेज नही है लडकों के साथ कुश्ती करने से लडकियों में साहस की क्षमता ज्यादा बढती है।  कुश्ती एकेडमी के सचांलक व कुश्ती कोच जसबीर ढाका ने बताया कि कुश्ती एकेडमी में हरिायणा, मध्यप्रदेश, दिल्ली, राजस्थान की लगभग 100 महिला खिलाडी प्रशिक्षण हासिल कर रही है इनमें 10 से 22 आयु वर्ग की खिलाडी शामिल है। ये कुश्ती के साथ साथ आस पास के स्कूल में पढने के लिए भी जाती है। उन्होंने बताया कि भगाना गांव की पांच इंटरनैशनल खिलाडी अतिम, अंजू, कुमारी, मनीषा ज्योति पूजा जो कडा प्रशिक्षण हासिल कर रही है।

उन्होंने बताया कि यहां दगलों में मिट्टी के दावपेच सिखाए जाते है तथा इटर नैशनल कुश्ती के लिए टैकनीकल दावपेच भी सिखाए जाते है। कुश्ती खिलाडियों ने कहा कि उनका अगला उद्देश्य कामन वेल्थ गेम्स तथा ओलंपिक गेम्स में गोल्ड मैडल हासिल करना है। उन्होंने बताया कि उनकी एकेडमी की खिलाडी अंजु ने आईपीएल में दंगल फिल्म की रितु फोगाट को हराया था। कुश्ती संघ के प्रधान हवा सिंह खारिया, पूर्व जिला खेल अधिकारी सुभाष सोनी, कुश्ती कोच रोशनी देवी, विकास सिहाग, बलवंच कोच ने कहा कि सुशील कुमारी एकेडमी में प्रशिक्षण ले रही है खिलाडियों ने जल्द भी कुछ समय में खेल में अच्छी योग्यता हासिल करके कुश्ती खेलो में मैडल हासिल किए है। कुश्ती खिलाडियों ने बताया कि पूर्व खेल अधिकारी व सीनियर कुश्ती कोच  सुभाष सोनी व कोच रोशनी विकास सिहाग द्वारा भी यहां कुश्ती खिलाडियों के द्वारा टैक्नीकल कुश्ती के दाव पेच सिखाए जाते है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close