खेलकूद

सिडनी में रिकॉर्ड है डरावना, मैच ड्रॉ रहा तो भी इतिहास रचेगा भारत

टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नए साल पर 3 जनवरी से सिडनी में शुरू हो रहे आखिरी और निर्णायक टेस्ट मैच में खेलना है। रविवार को मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया पर 137 रनों से जीत के साथ भारत चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 2-1 से बढ़त बना चुका है। भारत अगर यह टेस्ट मैच ड्रॉ भी करा लेता है, तो वह 71 साल में पहली बार ऑस्ट्रेलिया की धरती पर कोई टेस्ट सीरीज जीतने का रिकॉर्ड बना लेगा। खबरें हैं कि सिडनी की पिच काफी स्पिन करेगी, इसलिए एक बार फिर भारत इस मैच को जीतने का प्रबल दावेदार नजर आ रहा है।

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हर एक जीत के साथ ही भारत रिकॉर्ड बना रहा है. एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया को 31 रनों से मात देकर टीम इंडिया ने 15 साल बाद जीत दर्ज की थी। मेलबर्न में कंगारुओं को 137 रनों से पीटकर भारत ने 37 साल का सूखा खत्म किया था और अब भारत अगर सिडनी में खेला जाने वाला आखिरी और निर्णायक टेस्ट मैच भी जीत लेता है तो वह 40 साल बाद मैदान फतह कर लेगा। सिडनी में भारत को आखिरी बार 1978 में बिशन सिंह बेदी की कप्तानी में जीत मिली थी।उस समय भारत ने यह मैच पारी और 2 रन से जीता था।

सिडनी में भारतीय टीम के रिकॉर्ड की बात करें तो वह अच्छा नहीं रहा है। भारत अब तक खेले गए 11 टेस्ट मैचों में से सिर्फ 1 ही मुकाबला जीत पाया है, जबकि 5 टेस्ट मैचों में कंगारुओं ने टीम इंडिया को मात दी है।इसके अलावा 5 मैच ड्रॉ पर खत्म हुए हैं। आखिरी बार भारत ने विराट कोहली की कप्तानी में यहां 6-10 जनवरी 2015 में टेस्ट मैच ड्रॉ कराया था। भारत टेस्ट सीरीज में 2-1 से बढ़त लेने के बाद दबावमुक्त है। ऐसे में भारत अगर यह टेस्ट मैच ड्रॉ भी करा लेता है तो 71 साल में पहली बार ऑस्ट्रेलिया की धरती पर तिरंगा लहराएगा।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close