खेलकूदटुडे न्यूज़

भारतीय कोचों से ही प्रशिक्षण दिलाया जाए : अनूप

Today News | हिसार

महिला विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप नवम्बर में दिल्ली में होने जा रही है। इस चैम्पियनशिप में भारतीय महिला बॉक्सर मेरीकाम का छठी बार विश्व विजेता बनना लगभग तय है, क्योंकि बढ़ती उम्र का उस पर कोई असर नहीं है। भारत की अन्य अन्तरराष्ट्रीय महिला मुक्केबाज जो इस चैम्पियनशिप के लिए इंदिरा गांधी स्टेडियम में दिल्ली प्रशिक्षण ले रही हंै, उनमें एल. सरिता देवी, सीमा पूनिया, सरजू बाला, सोनिया लाठर, पिंकी जांगड़ा व प्रियंका चौधरी प्रमुख हैं और इनसे भी भारत को काफी आशाएं हैं। यह जानकारी द्रोणाचार्य अवार्डी व मुक्केबाजी के इन्टरनेशनल प्रशिक्षक अनूप कुमार ने दी। वे आज यहां नए मुक्केबाजों का मार्गदर्शन कर रहे थे।

अनूप कुमार भारतीय महिला मुक्केबाजी टीम के 16 वर्ष तक चीफ कोच रह चुके हैं और मेरीकाम के प्रशिक्षक रहे हैं। उन्होंने रोहतक की बाक्सिंग अकादमी व हरियाणा सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा कि अच्छी खेल नीति के कारण ही युवा शक्ति का रूझान खेलों की ओर बढ़ रहा है परन्तु भारत के स्पोर्टस को चीन की तरह स्कूल एजुकेशन का अनिवार्य हिस्सा बनाया जाना जरूरी है। जिला, तहसील व ब्लॉक स्तर पर खेलों की सुविधाओं को बढ़ाया जाना चाहिए। खिलाड़ी व प्रशिक्षक अच्छा तालमेल बनाकर निष्ठा, परिश्रम व अनुशासन से अभ्यास करेंगे तो और भी अच्छे परिणाम सामने आएंगे। सरकार खेलों पर पैसा तो बहुत खर्च रही है परन्तु उसका प्रयोग सही ढंग से नहीं हो रहा है। सरकार विदेशों से कोच बुलाने की बजाय अपने देश में आधुनिक प्रशिक्षकों का प्रबन्ध करे तो नतीजे अच्छे प्राप्त होंगे। शुरू से नए खिलाडिय़ों को सुविधाओं की ज्यादा जरूरत होती है और जो स्थानीय कोच मेहनत करते हैं, उन्हें ही भविष्य में प्रोत्साहित किया जाए। विदेशी प्रशिक्षण व प्रशिक्षक को बढ़ावा न दिया जाए।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close