अंतरराष्ट्रीयखेलकूद

अब मैदान पर नहीं दिखेगा इन 2 दोस्तों का याराना

Today News

लंदन । दो दोस्त एक 33 साल का तो दूसरा 36 साल का। एक ही टेस्ट में एक सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाला तेज गेंदबाज बना तो दूसरा सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने वाला बायें हाथ का बल्लेबाज। जब एक दोस्त ने अपने करियर के आखिरी टेस्ट में शतक लगाया तो दूसरा ड्रेसिंग रूम में उछल रहा था और जब दूसरे ने मैच का आखिरी विकेट लेकर ग्लेन मैक्ग्रा का रिकॉर्ड तोड़ा तो दूसरा उसे सीने से चिपकाकर खुश हो रहा था। हम बात कर रहे हैं इंग्लैंड के दो सबसे बड़े खिलाडि़यों एलिस्टेयर कुक और जेम्स एंडरसन की।

कुक ने इंग्लैंड के लिए सबसे ज्यादा रन बनाए हैं तो एंडरसन ने सबसे ज्यादा विकेट लिए हैं। दोनों के लिए ही ओवल टेस्ट बेहद खास रहा। इस रिकॉर्ड टेस्ट के बावजूद मंगलवार की शाम को दोनों की आंखों में आंसू थे क्योंकि उन्हें पता था कि अब मैदान में वह कभी एक साथ नहीं होंगे। 01 मार्च 2006 को नागपुर में पहला टेस्ट खेलने वाले कुक ने 11 सितंबर 2018 को अपना आखिरी टेस्ट खेलकर विदाई ली। उन्होंने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में भी शतक लगाया और 12 साल बाद उसी टीम के खिलाफ आखिरी टेस्ट की आखिरी पारी में 147 रन बनाकर करियर का अंत किया। उन्होंने इस मैच की दो पारियों में 71 और 147 रन बनाए।

इसी के साथ उन्होंने करियर का 33वां शतक पूरा किया। वह 2014 में ही वनडे से संन्यास ले चुके थे। 2009 में उन्होंने अपना आखिरी टी-20 खेला था। उन्हें एक शुद्ध टेस्ट बल्लेबाज के तौर पर जाना जाता है। पूरे मैच के दौरान कम से कम 20 बार कुक के लिए दर्शकों ने खड़े होकर तालियां बजाई। वह क्रिकेट इतिहास के ऐसे दूसरे बल्लेबाज बने, जिन्होंने अपने पहले और आखिरी टेस्ट मैच की दोनों पारियों में 50 या उससे अधिक का स्कोर बनाया है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close