टुडे न्यूज़सिरसा

पोलिथीन होल सैलरों के चालान करने में दिखाएं गंभीरता : उपायुक्त

पर्यावरण सरंक्षण हर व्यक्ति के स्वास्थ्य से जुड़ा मुद्दा है, इसलिए इस दिशा में सफलता हासिल करना मानव जीवन के लिए आवश्यक पहलू बन गया है

हिसार टुडे | सिरसा

पर्यावरण सरंक्षण हर व्यक्ति के स्वास्थ्य से जुड़ा मुद्दा है, इसलिए इस दिशा में सफलता हासिल करना मानव जीवन के लिए आवश्यक पहलू बन गया है। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल(एनजीटी) पर्यावरण सरंक्षण को लेकर काफी गंभीर है और पर्यावरण दूषित करने वालों के खिलाफ सख्त है।

पोलिथीन बेचने वालों के खिलाफ कार्यवाही करें और लोगों को पोलिथीन बैग की जगह जूट आदि को विकल्प के तौर पर इस्तेमाल करने बारे जागरूक करें, ताकि शहर को प्रदूषण रहित बनाकर एनजीटी के मानकों को पूरा किया जा सके।

ये निर्देश उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग ने एनजीटी के तहत आयोजित बैठक में संबंधित अधिकारियों को दिए। इस अवसर पर एसडीएम वीरेंद्र चौधरी, एसडीएम ऐलनाबाद अमित गुलिया, एसडीएम डबवाली औमप्रकाश, डीआरओ राजेंद्र सिंह, नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी सहित बैठक से जुड़े सभी अधिकारी उपस्थित थे। उपायुक्त ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि मानव स्वास्थ्य के लिए पर्यावरण सरंक्षण करना बहुत ही जरूरी है। इसमें केवल प्रशासनिक सख्ती दिखाने से सफलता हासिल नहीं की जा सकती है। इस अभियान में गणमान्य व्यक्तियों, स्वयंसेवी संस्थाओं व पर्यावरण प्रेमियों के साथ-साथ बुद्धिजीवी व्यक्तियों को साथ जोड़कर लोगों में पर्यावरण सरंक्षण के प्रति जागरूकता लानी होगी। उन्होंने कहा कि अधिकारी पोलिथीन होल सैलरों के प्रति गंभीरता दिखाएं और उनके अधिक से अधिक चालान करें, ताकि पोलिथीन के प्रयोग पर रोक लग सके। यदि कोई एक चालान के बावजूद भी नहीं मानता है, तो उसके जितनी बार भी चालान करने पड़े तो करें।

उन्होंने कहा कि अधिकारी ये ना समझें कि केेवल चालान करने से ही पोलिथीन प्रयोग पर पाबंदी लगाई जा सकती है। इसके लिए ऐसा माहौल तैयार करना पड़ेगा कि जिससे लोग स्वयं इसके इस्तेमाल से परहेज करने लगें। उन्होंने कहा कि इसे एक अभियान बनाकर अधिक से अधिक लोगों को साथ जोड़ें और लोगों में स्कूल, कॉलेजों आदि में पर्यावरण सरंक्षण पर कार्यक्रम आयोजित कर जागरूक करने का काम करें।

स्कूल या कॉलेज में आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में संबंधित एसडीएम या किसी उच्च अधिकारी के साथ-साथ ऐसी संस्थाओं व व्यक्तिय जोकि पर्यावरण सरंक्षण के प्रति गंभीर है को आमंत्रित करें। उन्होंने कहा कि स्कूली बच्चों के द्वारा पोलिथीन के प्रयोग न करने बारे जागरूकता रैली निकालें, ताकि एक ऐसा माहौल बनें जिससे लोग स्वयं पोलिथीन का इस्तेमाल करना छोड़ दें।

उपायुक्त ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि वे पोलिथीन का प्रयोग ना करें, क्योंकि पोलिथीन का इस्तेमाल पर्यावरण के लिए बड़ा ही घातक है। शहर को स्वच्छ व प्रदूषण रहित बनाने में अपना सहयोग करें।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close