टुडे न्यूज़ताजा खबरसिरसा

अटल सेवा केंद्र से शुरू होगी जनगणना

10 जून से शुरू होगा 7वीं आर्थिक जनगणना का कार्य

हिसार टुडे न्यूज |

सिरसा जिला में 7वीं आर्थिक जनगणना का कार्य आरंभ किया जा रहा है। भारत सरकार सातवीं आर्थिक जनगणना अटल सेवा केंद्र (सीएससी) के माध्यम से शुरू कर रही है।

इस उद्देश्य के लिए आज स्थानीय पंचायत भवन में भारत सरकार के सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यन्वयन मंत्रालय तथा सीएससी ई-गवनेंस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड द्वारा संयुक्त रुप से अटल सेवा केन्द्र संचालकों के जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला सांख्यिकी अधिकारी सुरेंद्र कुमार ने की। इस अवसर पर जिला सूचना अधिकारी सुषमा भी मौजूद थी। इस मौके पर स्टेट प्रोजेक्ट मैनेजर प्रभजोत व आशीष शर्मा ने जिला के सीएससी संचालकों को आर्थिक जनगणना कार्य का विस्तारपूर्वक प्रशिक्षण दिया।

जिला सांख्यिकी अधिकारी सुरेंद्र कुमार नेे बताया कि भारत में सबसे पहली आर्थिक जनगणना 1977 से शुरू हुई थी। जोकि लगभग हर 5 वर्ष के बाद होती आ रही है। आखिरी जनगणना 2013 में हुई थी। छह जनगणना होने के बाद इस वर्ष 2019 में सातवीं जनगणना है। उन्होंने बताया कि इसमें इकनॉमिक या आर्थिक गणना भी होती है, लेकिन इंसानों की नहीं बल्कि देश में चल रहे हर तरह के कामकाज की, जो किसी भी तरह की आर्थिक गतिविधि से जुड़ा हो। कोई भी ऐसा कार्य जो आप अपने लिए नहीं करते बल्कि पैसे कमाने के लिए करते हैं।

उन्होंने बताया कि सरकार को देश में रहने वालों की आर्थिक स्थिति, रहन-सहन का पता करना और यह पता करना की देश में छोटे स्तर, मध्यम स्तर और बड़े स्तर के कितने व्यापार चल रहे हैं। लोगों का रुझान किस तरह के व्यापार में है, ताकि जब भी कोई योजना बनानी हो तो सरकार इस जनगणना की मदद से लोगों की जरूरत के हिसाब से एक बेहतर और लाभदायक योजना बना सके। उन्होंने बताया कि आर्थिक जनगणना के लिए सुपरवाइजर व गणनाकार की नियुक्ति की गई है। इस बार जनगणना कार्य सीएससी के माध्यम से करवाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि 7वीं जनगणना का कार्य 10 जून से शुरू हो जाएगा। जिला में जनगणना कार्य को सफलतापूर्वक संपन्न करवाने के लिए 430 सुपरवाइजर व 2080 गणनाकार नियुक्त किए गए हैं। उन्होंने कहा कि डिजिटाईजेशन से कार्यों में पारदर्शिता व तेजी आई है। इससे लोगों को योजनाओं का लाभ तेजी मिल रहा है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार का यह प्रयास है कि आम जनता तक योजनाओं की पहुंच हो, इसके लिए डिजिटाईजेशन को बढावा दिया गया है। यह कार्यक्रम अब सफल भी हो रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि प्रत्येक व्यक्ति डिजिटल इंडिया से जुड़े। स्टेट प्रोजेक्ट मैनेजर प्रभजोत ने बताया कि हम सभी का यह कर्तव्य बनता है कि आमजन को सीएससी द्वार प्रदान की जा रही सेवाओं के बारे में जन-जन को जागरुक करें।

उन्होंने आर्थिक जनगणना के प्रत्येक पहलु के बारे में सीएससी संचालकों को विस्तार पूर्वक बताया तथा उनके प्रश्रों के सभी जवाब दिये। उन्होंने सीएससी संचालकों से अपील करते हुए कहा कि पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए जिला को हरा भरा बनाने के लिए 10-10 पौधे अवश्य लगाएं तथा उनकी देखभाल करें ताकि पर्यावरण संतुलन बना रहे।

इस अवसर पर एडीएसओ हनुमान, एसएसओ रमेश कुमार, नोडल अधिकारी धर्मवीर मदान, जिला प्रबंधक सविता अरोड़ा व गुरजीत कौर भी मौजूद थी।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close