राजनीतिहरियाणा

हिसार का विकास न्यूटल गीयर में : तरुण जैन

Hisar Today

हिसार में ना समस्याएं टस से मस हो रही हैं और ना ही विकास कार्य। हिसार के विधायक व निगम प्रतिनिधियों को जनता ने पावर तो दे दी है लेकिन उस पावर से इन लोगों ने केवल अपनी गाड़ी स्टार्ट की है। उसको समस्या समाधान या विकास कार्यों के लिए गीयर में नहीं डाला है।

दिखावे के लिए तो ये कहते हैं कि हिसार के विकास की गाड़ी चल रही है पर दरअसल वो सिर्फ न्यूटल गीयर में है, जिसके चलते आज हिसार वासी अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहे हैं। यह कहना है इंडियन नेशनल लोकदल के नवनियुक्त हिसार हलका प्रधान तरुण जैन को। आज दिल्ली रोड़ स्थित अपने कार्यालय में पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए तरुण जैन ने हिसार की समस्याओं और ठप पड़े विकास कार्यों को लेकर हिसार के विधायक और पूर्व विधायक पर जमकर कटाक्ष किए। इस अवसर पर उनके साथ वरिष्ठ इनेलो नेता वेद अग्रवाल, डॉ. राजकुमार दिनोदिया, विपिन गोयल, कपिल कटारिया आदि भी साथ थे।

कल 13 सितंबर को इनेलो हलका हिसार कार्यकर्ताओं की एक बैठक का आयोजन दिल्ली रोड़ शीशमहल के पास स्थित इनेलो हलकाध्यक्ष तरुण जैन की अध्यक्षता में किया जाएगा। कार्यकर्ता बैठक में हिसार लोकसभा के सांसद दुष्यंत चौटाला मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित होंगे। बैठक के दौरान ही सांसद दुष्यंत चौटाला को अधर में लटके डाबड़ा चौक पुल को पूरा करवाने सहित अन्य मांगों के लिए ज्ञापन भी सौंपा जाएगा। तरुण जैन ने कहा कि सरकार और प्रशासन की तरफ से बार-बार हिसार को बेसहारा पशुओं और जाम की समस्या से मुक्ति दिलाने का दावा किया जाता है लेकिन आप लोग भी गवाह हैं, क्या एक दिन के लिए भी इन समस्याओं से हिसार की जनता को निजात मिली है। जाम की समस्या के चलते जहां हिसार की जनता का समय व पैसा दोनों बर्बाद हो रहे हैं वहीं बेसहारा पशुओं के कारण आए दिन दुर्घटनाओं के समाचार सुर्खियों में रहते हैं।

हिसार की समस्याओं की अनदेखी और विकास कार्यों की जीरो स्पीड का सबसे बड़ा उदाहरण अधर में लटका डाबड़ा चौक का पुल है। पिछले एक साल में कम से कम तीन बार सरकार और प्रशासन द्वारा इसको शुरु करवाने का समय बढ़ाया जा चुका है और अब हालात यह है कि किसी को कुछ नहीं पता है कि यह कब तक पूरा हो पाएगा। डाबड़ा चौक पुल की समस्या का समाधान होने से पहले ही प्रशासन ने सैक्टर 16-17 बाईपास रेलवे फाटक पर पुल निर्माण शुरू कर दिया है, जिसके कारण जाम की समस्या ने भयंकर रूप ले लिया है।

शहर में कहीं से गुजरने पर नागरिकों को जाम से दो-चार होना पड़ रहा है। संबंधित अधिकारियों को भी ज्ञापन सौंप कर अल्टीमेटम दिया जाएगा। उसके बावजूद कोई ठोस कार्यवाही या जवाब नहीं दिया गया तो डाबड़ा चौक पुल निर्माण के लिए आंदोलन का बिगुल बजाया जाएगा। जिसकी पूरी जिम्मेवारी सरकार और प्रशासन की रहेगी। इसके साथ-साथ हिसार शहर को जाम फ्री व कैटल फ्री करने के लिए भी सरकार व प्रशासन पर दबाव बनाया जाएगा। अगर कोई कार्यवाही नहीं हुई तो वे घर-घर जाकर हिसार के विधायक और अन्य प्रतिनिधियों के निक्कमेपन की पोल खोलने से भी नहीं चुकेंगे।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close