राजनीतिहिसार

सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों की गाज पड़ रही आम जनमानस पर : रेणुका

Hisar News | बवानीखेड़ा

विधायक रेनुका बिश्नोई ने कहा कि प्रदेश सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों की गाज आम जनमानस पर पड़ रही है। बार-बार कर्मचारी वर्ग को हड़ताल के लिए मजबूर होना पड़ता है और आम जनमानस को इससे भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। रोडवेज का निजीकरण करने के विरोध में एक बार फिर से रोडवेज कर्मचारियों ने दो दिन की हड़ताल की घोषणा कर दी है, जिससे लोगों को परेशानी होगी। हठधर्मी सरकार ने कर्मचारियों से बातचीत करके हड़ताल रद्द करने का कोई प्रयास नहीं किया। प्रदेश सरकार की नाकाबिलियत के करोड़कारण राज्य में रोडवेज पिछले चार सालों से लगातार घाटे में हैं। 2014-15 में 482.48 करोड़, 2015-16 में 486.76 करोड़, 2016-17 मेें 597.79 करोड़ तथा 2017-18 में रोडवेज विभाग 676.24 करोड़ रूपए के घाटे में रहा। यह सब भाजपा सरकार की कर्मचारी विरोधी नीतियों तथा कुप्रंधन के कारण हुआ है। रेनुका ने कहा कि आज सुबह रोहतक, फरीदाबाद, अंबाला आदि जिलों में कर्मचारियों ने गिरफ्तारियां दी हैं।

ये कर्मचारी कोई अपनी तनख्वाह बढ़वाने या निजी हित के लिए आंदोलन नहीं कर रहे, बल्कि सरकारी विभाग को बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, जिनका प्रदेश भर में बाकी संगठन भी सहयेाग कर रहे हैं। सरकार को अपनी हठधर्मिता छोड़कर रोडवेज कर्मचारियों की मांगों को मानते हुए निजीकरण के फैसले को वापिस लेना चाहिए। वे मंगलवार को बवानीखेड़ा हलके के 9 गांवों में विभिन्न जलपान कार्यक्रमों में भाग लेने दौरान लोगों से बातचीत कर रही थी। इस दौरान गांवों में पहुंचने पर ग्रामीणों ने उनका फूल मालाओं, लड्डूओं से जोरदार स्वागत किया। रेनुका बिश्नोई ने इस दौरान बवानीखेड़ा अनाज मंडी में पहुंचकर फसल खरीद का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदा से त्रस्त किसान वर्ग किसी तरह से अपनी फसलेें बचाकर मंडी में लेकर आता है, परंतु यहां भी किसानों के साथ अन्याय हो रहा है।

 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close