राजनीतिहरियाणा

व्यापारियों की समस्या का समाधान नहीं किया तो व्यापार मंडल हरियाणा में करेगा अन्दोलन : गर्ग

Today News | कैथल

व्यापार मंडल का राज्यस्तरीय व्यापारी सम्मेलन हनुमान वाटिका, कैथल में हुआ। जिसमें प्रदेश भर से सभी ट्रेड के व्यापारी प्रतिनिधियों ने भारी संख्या में भाग लिया। इस सम्मेलन में मुख्य अतिथि हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महासचिव बजरंग गर्ग थे। सभी वक्ताओं ने सरकार की गलत नीतियों के कारण व्यापार व उद्योग ठप होने के आरोप लगाए।

व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने सम्मेलन में उपस्थित व्यापारियों को संबोधित करते हुए कहा कि इस सरकार में व्यापारी लूटा है और किसान पीटा है। इस राज्य में प्रदेश का हर ट्रेड का व्यापारी व उद्योगपति दुखी है। क्योंकि इस सरकार ने अपने कार्यकाल में एक भी फैसला व्यापारियों के हित में नहीं लिया। बल्कि व्यापारियों पर जीएसटी के तहत अनाप-शनाप करो में बढ़ोतरी करके देश के व्यापारी व आम जनता की कमर तोड़ कर रख दी है। कपड़ा, चीनी, खेती में उपयोग आने वाली दवाइयां व खाद आदि अनेकों वस्तुओं पर टैक्स नहीं था उन वस्तुओं पर भी 5 प्रतिशत जीएसटी लगा दिया है। यहां तक की आम उपयोग में आने वाली वस्तुओं पर 18 व 28 प्रतिशत टैक्स लगा कर देश की जनता की कमर तोड़ कर रख दी है। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि देश में नोटबंदी करके देश के व्यापार को भारी नुकसान पहुंचाने का काम इस सरकार ने किया है। एक साल बीतने के बावजूद भी देश का व्यापारी व छोटा उद्योगपत्ती जीएसटी व नोटबंदी की मार से अभी तक उभर नहीं पाया है।

सरकार कह रही है कि हमने देश व प्रदेश में व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए काफी काम किए हैं। जबकि केंद्र व हरियाणा सरकार ने झूठी घोषणा व व्यादे करने के सिवाय कोई काम अब तक नहीं किया है। जबकि 4 साल में देश व प्रदेश के व्यापारी व उद्योगपतियों को किसी प्रकार की रियायते इस सरकार ने नहीं दी। धीरे-धीरे करके पेट्रोल व डीजल के रेट में भारी भरकम बढ़ोतरी कर दी, मार्केट बोर्ड द्वारा लाइसेंस फीसों में 10 गुना बढ़ोतरी कर दी गई, प्रदेश के हर व्यापारी व उद्योगपतियों पर नया जजिया व्यवसाय कर थोप दिया गया, सेल टेक्स, मार्केट कमेटी, प्रदूषण व सैंपल विभाग के अधिकारी अपने निजी स्वार्थ के लिए व्यापारियों को दोनों हाथों से लूटने में लगे हुए हैं। यहां तक की रोड चेकिंग के नाम पर व्यापारी व आम जनता की गाड़ी रोक रोक कर खुलेआम सरकारी अधिकारी पैसे ऐठने का काम कर रहे हैं।

प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि जिस व्यापारियों के सहयोग से केंद्र व हरियाणा की सरकार बनी और आज भी व्यापारी व उद्योगपति के द्वारा दिए जा रहे राजस्व के कारण ही देश व प्रदेश में विकास कार्य हो रहे हैं। मगर बड़े अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि इस सरकार में आज सबसे ज्यादा अनदेखी व ज्याति व्यापारियों के साथ हो रही है। जिसके कारण देश व प्रदेश में लगातार व्यापार व उद्योग पिछड़ता जा रहा है। जबकि सरकार को व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए कठोर से कठोर कदम उठाने की जरूरत है। जिसमें व्यापारी व उद्योगपति को कम ब्याज पर लोन देने, जीएसटी के तहत टैक्स फ्री के अलावा 5 प्रतिशत व अधिकतम टैक्स दर 15 प्रतिशत होनी चाहिए।

जीएसटी लगने के बाद देश में मार्केट फीस समाप्त होनी चाहिए, पेट्रोल व डीजल पर टैक्स कम करके इसे जीएसटी के दायरे में लाया जाए, व्यापारी जो टैक्स भरता है उसका 5 प्रतिशत कमीशन प्रोत्साहन के रूप में सरकार व्यापारियों को दें, व्यापारी व उद्योगपत्ती जो टैक्स पेई है उसकी सरकार पेंशन योजना लागू करें, व्यापारी व उद्योगपति की दुकान व फैक्ट्री में आग लगने पर उन कि दुकान व फैक्ट्री में जितना भी माल है उस माल के नुकसान की भरपाई के लिए सरकार अपने खर्चे पर समान का पूरा मुफ्त बीमा योजना लागू करना चाहिए। छोटा-मोटा बीमा लागू करने का कोई औचित्य नहीं है।

सरकार अपनी घोषणा के अनुसार कपास पर मार्केट फीस 80 पैसा करें और प्रदेश में जो कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई हुई है उसमें सुधार लाने के इस के लिए हरियाणा सरकार कठोर से कठोर कदम उठाए। क्योंकि प्रदेश का व्यापारी, उद्योगपति व आम जनता अपनी जानमाल कि सुरक्षा के लिए पूरी तरह से भयभीत है। अगर सरकार ने व्यापारियों कि समस्याओं का समाधान नहीं किया तो व्यापार मंडल हरियाणा में सरकार के खिलाफ धरना, प्रदर्शन व आन्दोलन करेंगा। इस सम्मेलन में व्यापार मंडल कैथल शहरी प्रधान सिंकदर लाल गुप्ता, जिला प्रधान श्रवण गोयल, प्रदेश प्रचार मंत्री राजीव गुप्ता व आदि प्रतिनिधियों ने प्रान्तीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग को पगड़ी व तलवार भेटकर के भव्य फूलों की माला पहनाकर स्वागत किया।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close