टुडे न्यूज़राजनीतिहरियाणा

फसलों की नहीं हो रही गिरदावरी, किसान कर रहे हैं आत्महत्या

Hisar News | हिसार

भारी वर्षा, तूफान व सूखे से बर्बाद हुई फसलों की स्पेशल गिरदावरी व मुआवजा तथा मूंग, बाजरा व अन्य फसलों की सरकारी खरीद की मांग को लेकर किसानों का उपायुक्त कार्यालय पर चल रहा बेमियादी धरना आज छठे दिन भी जारी रहा। धरने की अध्यक्षता वरिष्ठ उपप्रधान बारूराम मुकलान, ने की व संचालन जिला सहसचिव दयानंद ढुकिया ने किया।
आंदोलन के दौरान रखी गई मांगों को लेकर व गांव पाबड़ा के किसान रामकुमार द्वारा फसल खराब होने के कारण व कर्ज के दबाव के कारण 4 अक्तूबर को आत्महत्या करने के मामले को किसान सभा ने काफी गंभीरता से लिया।

उकलाना तहसील के सचिव दयानंद ढुकिया ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि किसान सभा ने आज अतिरिक्त उपायुक्त को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देकर मृतक किसान रामकुमार के परिवार का पूरा कर्जा माफ हो, किसान के परिवार को 20 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाए व उसके परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी मिले, इसके लिए किसान सभा निर्णायक लड़ाई लड़ेगी। किसान सभा के जिला सचिव सूबेसिंह बूरा ने बताया कि नई अनाज मंडी में चिकनवास के किसान पिछले 4 दिनों से पर्ची कटवाए बैठे हैं किंतु उनका बाजरा लेने वाला कोई नहीं है।

धरने पर बैठे किसानों को धर्मबीर कवांंरी, सरपंच भोजराज उमेद सिंह, बलबीर नम्बरदार पाबड़ा, रिछपाल कड़वासरा, सुखपाल, धर्मबीर बजाज, शमशेर नम्बरदार लाडवा, विरेन्द्र बगला, रामदेश पाबड़ा, भरतसिंह, चंदगीराम सिहाग, सतबीर भाकर, रणजीत भोजराज, रामानदं यादव, जयसिंह भोजराज, किसान महिला नेत्री बीरो देवी लाडवा, भूपसिंह नम्बरदार मंगाली, जिला सर्व कर्मचारी संघ के प्रधान सुरेन्द्र मान आदि नेताओं ने संबोधित किया।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close