टुडे न्यूज़ताजा खबरफतेहाबादराजनीतिसिरसाहरियाणाहिसार

दुष्यंत मुख्यमंत्री व आरती राव हो सकती हैं उप मुख्यमंत्री!

हरियाणा की राजनीति में बनेंगे नए समीकरण, अजय चाैटाला व राव इंद्रजीत के साथ आने की चर्चा, राजनीतिक गलियारों में

Hisar Today News

Mahesh Mehta, Editor Hisar Today

हरियाणा की राजनीति में बनेंगे नए समीकरण, अजय चाैटाला व राव इंद्रजीत के साथ आने की चर्चा, राजनीतिक गलियारों में

  • अहीरवाल की 18 सीट, नॉन जाट पर राव की मजबूत पकड़
    इनेलो की हिसार, सिरसा, फतेहाबाद, जींद, भिवानी व दादरी की 28 विधानसभा सीटों पर है मजबूत पकड़
  • 45-45 सीटों पर हो सकता है गठबंधन

हिसार। औमप्रकाश चाैटाला को पैरोल मिलते ही हरियाणा में राजनीतिक माहौल गरम हो गया है। गुरुग्राम कार्यकर्ता सम्मेलन में विरासत को लेकर चौटाला परिवार में जो कड़वाहट की शुरुआत हुई व गोहाना रैली में हुटिंग व दुष्यंत के पक्ष में नारेबाजी से होकर अब दुष्यंत चाैटाला के निलंबन तक पहुंच गई है। इनेलो के कार्यकर्ताओं से ज्यादा विपक्षी दलों में ज्यादा दिलचस्पी देखने को मिल रही है।

अब हरियाणा में राजनीतिक हलकों में चर्चा यहां तक चल पड़ी है डॉ. अजयसिंह चौटाला का पूरा सपोर्ट अपने बेटों दुष्यंत व दिग्विजय चौटाला के साथ है। डॉ. अजय सिंह चौटाला का स्वभाव मिलनसार, सौम्य, सुसिशिक्षित रहा है सिरसा जिले में चौटाला के पूरे परिवार का दबदबा किसी से छिपा नहीं है, लेकिन सिरसा के बाहर चौ. औमप्रकाश चौटाला व ताऊ देवीलाल की लोकप्रियता को कोई आगे बढ़ा सकता था तो वह डॉ. अजय सिंह चौटाला थे। वैसी ही छवि अपने छोटे से राजनीतिक कार्यकाल में विपक्षी सांसद होने के बावजूद अपने कार्यों से आमजन, राजनीतिक हलकों व प्रशासनिकों हलकाें में दुष्यंत चौटाला ने बना ली है।

गोहाना रैली व अब जनपथ पर युवाओं के जोश व साथ ने दुष्यंत के मन की दूविधा को दूर कर दिया वे अब उन्होंने अब सीएम के रास्ते पर बढ़ने का संकल्प ले लिया है। राजनीतिक गलियों में चर्चाएं हैं राव इन्द्रजीत सिंह व दुष्यंत, दिग्विजय ने जननायक सेवादल के बीच गठबंधन का संभावनाएं तलाशनी शुरु कर दी हैं। राव इंद्रजीत सिंह भी अपनी सुपुत्री आरती राव को आगे बढ़ाना चाहते हैं लेकिन वे जानते हैं यह सब कुछ इतना आसनी नहीं है जाट बैल्ट में मजबूत साथी के बगैर यह संभव नहीं है व जाटलैंट में दुष्यंत से मजबूत साथी कौन हो सकता है।

यह देखना दिलचस्प होगा कि यह सिर्फ राजनीतिक चर्चाएं ही बनकर रह जाएंगी या राव इन्द्रजीत व दुष्यंत चौटाला वाकई हरियाणा की राजनीति में नया समीकरण बनाएंगे। गौरतलब है कि अहीरवाल की 18 विधानसभा सीटों पर राव इन्द्रजीत की मजबूत पकड़ है वे खुद भी सांसद हैं। वे हवा की रुख पकड़ना अच्छी तरह जानते हैं। इनेलो की हिसार, सिरसा, फतेहाबाद, जींद, भिवानी व दादरी की 28 विधानसभा सीटों पर इनेलो की मजबूत पकड़ या कह सकते हैं की जीतने की स्थिति में है।

जाहिर सी बात है दुष्यंत चौटाला गठबंधन में बड़ी भूमिका में है। इसी से इन चर्चाओं को बल मिला है, दुष्यंत चौटाला मुख्यमंत्री व आरती राव उपमुख्यमंत्री पद की दावेदार हो सकती हैं। बाकी कार्यकर्ताओं में तो चर्चा दुष्यंत के आम आदमी पार्टी में शामिल होने की हैं व वहां पर भी दुष्यंती की दावेदारी मुख्यमंत्री की ही है। जाहिर से बात है दुष्यंत चौटाला आगामी विधानसभा चुनाव में बड़ी भूमिका में हाेंगे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close