राजनीतिहिसार

दिवंगत मदन गोपाल शास्त्री का जीवन हम सबके लिए प्रेरणा का स्रोत : मुख्यमंत्री

Hisar News | हिसार

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि जस्टिस सूर्यकांत के पिता दिवंगत मदन गोपाल शास्त्री का सौम्य, निर्मल और काव्यात्मक जीवन हम सबके लिए प्रेरणा का सा्रेत है। हम सबको उनके सादगी भरे जीवन व आदर्शों से प्रेरणा लेनी चाहिए। मुख्यमंत्री मनोहर लाल आज फ्लेमिंगो कॉम्पलेक्स में हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश जस्टिस सूर्यकांत के पिता दिवंगत मदन गोपाल शास्त्री की श्रद्धांजलि सभा में अपने भाव प्रकट कर रहे थे। उन्होंने हर प्रकार के प्रोटोकॉल से इतर, लाइन में लगकर दिवंगत मदन गोपाल शास्त्री की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री ने मदन गोपाल शास्त्री के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए परमपिता परमात्मा से उनकी आत्मा की शांति की कामना की और जस्टिस सूर्यकांत और उनके परिजनों को सांत्वना दी। मुख्यमंत्री ने श्रद्धांजलि सभा को प्रेरणा सभा बताते हुए कहा कि मदन गोपाल शास्त्री का जीवन कितना उज्ज्वल रहा, इसका अनुमान उनके होनहार पुत्रों के जीवन को देखकर सहजता से लगाया जा सकता है। उनका जीवन हम सबके लिए प्रेरणा का स्रोत है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब जस्टिस सूर्यकांत से मेरा परिचय हुआ तो मुझे उनकी पृष्ठभूमि के बारे में अधिक नहीं पता था। बाद में मुझे पता लगा कि उनके पिताजी मदन गोपाल शास्त्री हिसार जिला में रहते हैं। एक बार गांव रामराय में मेरा जस्टिस सूर्यकांत के बड़े भाई से भी मेरा मिलना हुआ। इनके विचारों, संस्कारों और कोमलता से मुझे मदन गोपाल शास्त्री के जीवन की महानता का अहसास हुआ।मुख्यमंत्री ने मदन गोपाल शास्त्री की एक कविता की लाइन-शुक्ल पक्ष आएगा, उजियारा फैलेगा सुनाते हुए कहा कि सूर्यकांत जैसे सुपुत्र को जन्म देकर शास्त्रीजी ने स्वयं भी समाज में उजियारा ही फैलाया था। उनके पुत्र सूर्यकांत आज न्याय के दिव्य आकाश के चमकते सितारे हैं।

 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close