टुडे न्यूज़राजनीतिशिक्षा

खेल-खिलाड़ी हरियाणा की संस्कृति का हिस्सा: कैप्टन अभिमन्यू

Today News | सोनीपत

वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यू ने कहा कि खेल और खिलाड़ी हरियाणा की संस्कृति का हिस्सा है। खेलों को उपर उठाने में सरकार की नीतियों के साथ-साथ नौजवानों की मेहनत व रक्त का जोश भी शामिल है। वित्त मंत्री रविवार को गोहाना में जय बालाजी स्पोटर्स अकादमी के उद्घाटन अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। कैप्टन अभिमन्यू ने कहा कि प्रदेश सरकार ने खिलाडिय़ों को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। किसी भी खिलाड़ी को अपने खेल को आगे बढ़ाने में आर्थिक दिक्कतों का सामना न करना पड़े इसके लिए कानून में बदलाव कर 80 करोड़ रुपये एक ही दिन खिलाडिय़ों को देने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा की माटी में मां जन्म देने के तुरंत बाद अपने बेेटे-बेटियों को देश के नाम कर देती हैं। कुछ बेटे तो किसान बनकर देश के लिए की अन्न उपजाने का काम करते हैं और कुछ बेटे सेना में भर्ती होकर देश की सीमाओं की रक्षा करते हैं। उन्होंने कहा कि कुछ बेटे-बेटियां खेलों में देश का नाम रोशन करने का जिम्मा भी अपने उपर लिए हुए हैं। इनमें साक्षी मलिक जैसी बेटियों का नाम लेते हुए हमें गर्व हो रहा है।

उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हरियाणा में प्रत्येक गांव में दादा खेड़े को इष्ट मानकर सभी 36 बिरादरी भाईचारे के साथ रहती हैं। यह वो जगह है जहां पर भगवान श्रीकृष्ण ने गीता का संदेश दिया और हमने कभी भी छूआछात को अपने समाज में स्थान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि किलोई गांव के डा. रामधन हुड्डा ने लायलपुर यूनिवर्सिटी में दुनिया में सबसे पहले गेहूं के बीज विकसित कर देश का नाम रोशन किया। उन्होंने कहा कि हमें आज चौधरी छोटूराम के विचारों पर चलने की आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग समाज में एक दूसरे को लड़ाकर भाईचारा बिगाडऩे का काम करने कर रहे हैं। लेकिन हमें किसी के बहकावे में न आते हुए प्रदेश व देश को विकास के रास्ते पर आगे लेकर जाना है। उन्होंने कहा कि कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें अपने प्रदेश व क्षेत्र में कोई जानता नहीं है लेकिन हरियाणा में आकर लोगों को बहकाकर जलाने का काम करते है। इस आग से सिर्फ हरियाणा के युवाओं का भविष्य जलता है। उन्होंने कहा कि हमें बच्चों की ऊर्जा को सकारात्मक दिशा में लेकर जाना है और बच्चों की ऊर्जा को खेल खिलाड़ी और देश की सीमा की रक्षा करने में लगानी है। उन्होंने कहा कि हम किसी राजनैतिक परिवार से नहीं हैं और मेरी मां ने छह बेटों में से तीन को देश की रक्षा करने के लिए सेना में भेजा। उन्होंने कहा कि गोहाना से हमारे परिवार का पुराना रिश्ता है। इस दौरान उन्होंने अकादमी के लिए 11 लाख रुपये देने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने किसानों के हितों लिए लगातार कार्य किया है। पिछले दिनों आई बरसात से खराब हुई फसलों की भरपाई के लिए स्पेशल गिरदावरी के आदेश दिए गए हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close