टुडे न्यूज़नई दिल्‍ली

जम्मू कश्मीर में बड़ा एक्शन

आधी रात को उमर और महबूबा मुफ्ती किए गए नजरबंद

हिसार टुडे ।  नई दिल्‍ली

जम्मू-कश्मीर पर हर किसी की नजर बनी हुई है. अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती के साथ-साथ राजनीतिक हलचल भी बढ़ रही है. ऐसे में सरकार कश्मीर पर क्या बड़ा फैसला ले सकती है, इसपर भी हर किसी की नज़र है. कश्मीर में लगातार बदलते हालात के बीच राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती और एनसी नेता उमर अब्दुल्ला को श्रीनगर में नजरबंद किया गया है.इन दोनों नेताओं को घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है. पूरे जम्मू-कश्मीर में धारा 144 लागू है, आज सुबह जम्मू में धारा 144 लगाने की खबर आई. इसके साथ ही पूरे राज्य मोबाइल, इंटरनेट सेवा भी बंद है, लैंडलाइन के फोन भी काम नहीं कर रहे हैं. राज्य के स्कूल और कॉलेज को भी बंद किया गया. राज्य में सचिवालय, पुलिस मुख्यालय, एयरपोर्ट और अन्य संवेदनशील जगहों पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है.

नजरबंद होने के बाद उमर अब्दुल्ला ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने ट्वीट किया कि हिंसा से केवल उन लोगों के हाथों में खेलेंगे जो राज्य की भलाई नहीं चाहते. शांति के साथ रहें और ईश्वर आप सभी के साथ रहें.

इसके बाद जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया, ‘‘मोबाइल फोन कनेक्शन समेत जल्द ही इंटरनेट बंद किए जाने की खबरें सुनी. कर्फ्यू का आदेश भी जारी किया जा रहा है. अल्लाह जानता है कि हमारे लिए कल क्या इंतजार कर रहा है. यह रात लंबी होने वाली है.’

महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट में लिखा कि ऐसे कठिन समय में, मैं अपने लोगों को यह विश्वास दिलाना चाहती हूं कि जो हो सकता है, हम इसमें एक साथ हों और इसका मुकाबला करेंगे. जो कुछ भी हमारा अधिकार है

इसके बाद महबूबा मुफ्ती ने लिखा, ”ये कैसी विडंना है कि हमारे जैसे चुने हुए प्रतिनिधि जिन्होंने शांति के लिए लड़ाई लड़ी उन्हें नजरबंद कर दिया गया है. दुनिया देख रही है कि किस तरह लोगों की आवाज दबाई जा रही है. उसी कश्मीर को दबाया जा रहा है जिसने लोकतंत्र के लिए भारत को चुना था. देश के लोग जाग जाएं. मुश्किल हालात में मैं लोगों को ये भरोसा देना चाहती हूं कि रास्ते में जो भी कठिनाई आए हम एकजुट रहेंगे और लड़ाई लड़ेंगे. जिस पर हमारा हक है वो हमसे कोई नहीं छीन सकता.” पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा कि बीजेपी नेता होने का बावजूद वाजपेयी जी कश्मीर के लोगों से प्यार करते थे और कश्मीर के लोग भी उन्हें प्यार करते थे. आज उनकी कमी हमें सबसे ज्यादा महसूस हो रही है.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close