जनरल नॉलेजराष्ट्रीय

हाइड्रोजन के एक टैंक से 1,000 किलोमीटर चलेगी ट्रेन

Today News

अब ट्रेनें डीजल से नहीं, बल्कि हाइड्रोजन से चलने लगी हैं। जर्मनी के उत्तरी पश्चिमी राज्य लोअर सैक्सोनी में दुनिया का पहली फुली हाइड्रोजन पावर्ड ट्रेन सर्विस शुरू हुई है। इस ट्रेन को इंजीनियरिंग कंपनी एल्सटॉम ने बनाया है। यह ट्रेन बहुत कम शोर करती है और प्रदूषण का उत्सर्जन भी जीरो है। यह ट्रेन हाइड्रोजन के एक टैंक पर करीब 1,000 किलोमीटर चलती है। फिलहाल, इस ट्रेन को करीब 100 किलोमीटर की दूरी के बीच चलाया गया है। इस ट्रेन में लगा इंजन 140 किलोमीटर प्रति घंटे तक की रफ्तार पकड़ सकता है।

इस ट्रेन को बनाने वाली कंपनी एल्सटॉम का कहना है कि यह ट्रेन खरीदने में डीजल ट्रेन के मुकाबले महंगी है, लेकिन चलने में हाइड्रोजन ट्रेन काफी सस्ती है। इस ट्रेन में लगी हाइड्रोजन फ्यूल सेल थोड़ी महंगी होती है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close