राजनीतिराष्ट्रीयहरियाणा

सदन की मर्यादा तार तार : हरियाणा में विधायकों की शर्मनाक हरकत, विस में निकले जूते

Today News

हरियाणा‍ विधानसभा में मंगलवार को  बेहद दुर्भाग्‍यपूर्ण हालत पैदा हो गई। सदन में कांग्रेस के वरिष्‍ठ विधायक करण सिंह दलाल और इनेलो विधायक व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला के बीच भिड़ंत हो गई। शब्‍दों की सीमाएं लांघने के संग-संग सदन की मर्यादा को भी ठेस पहुंची। आपे से बाहर हुए कांग्रेस विधायक दलाल और चौटाला ने एक-दूसरे पर जूते निकाल लिये। करण दलाल को इस व्‍यवहार के लिए विधानसभा से एक साल के लिए निलंबित कर दिया गया।

करण दलाल और अभय चौटाला ने एक-दूसरे पर जूते निकाले, हुई गाली गलौज

मंगलवार को विधानसभा के अंतिम दिन दोपहर बाद कांग्रेस के वरिष्‍ठ विधायक और पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल और इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला में नोकझोंक हो गई। दाेनों की कहासुनी बढ़ती चली गई और इस दौरान शब्‍दों की मर्यादा टूट गई। इसके बाद दोनों आमने-सामने हो गए अौर उनके बीच भिड़ंत की नौबत आ गई। इस दौरान आपे से बाहर आए करण सिंह दलाल और अभय चौटाला ने अपने जूते निकाल लिये।

विवाद उस समय शुरू हुआ जब विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला ने हरियाणा प्रदेश को कलंकित कहे जाने के मुद्दे पर करण सिंह दलाल के खिलाफ़ भाजपा विधायकों द्वारा प्रस्ताव लाए जाने पर समर्थन करने की कही। इस पर करण सिंह दलाल भड़क गए आैर चौटाला पर बिफर पड़े। दोनों के बीच गाली गलौच होने लगी। इसके बाद माहौल बेहद तनावपूर्ण हो गया। पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और अन्‍य सदस्‍यों ने बीच बचाव किया और दोनों सदस्‍यों को अलग किया। हालत यह हो गई कि मार्शलों को बीच बचाव करना पड़ा। शोर-शराबे और तनाव के कारण सदन की कार्यवाही थोड़ी देर के लिए स्‍थगित करनी पड़ी। इसके बाद अभय सिंह चौटाला ने कहा कि करण सिंह दलाल से बाहर मत निकलना मैं तेरा इलाज करता हूं। सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर वित्‍तमंत्री कैप्‍टन अभिमन्‍यु ने करण सिंह दलाल को एक साल के लिए सदन से निलंबित करने का प्रस्‍ताव रखा। इस पर चर्चा चलने के बाद प्रस्‍ताव को मंजूर कर लिया गया । प्रस्‍ताव पर चर्चा केे दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने दलाल के पक्ष में दलील रखने की कोशिश की, लेकिन यह पारित हो गया और करण सिंह दलाल को सदन की कार्यवाही से एक साल के लिए निलंबित कर दिया गया।

सीएम खट्टर ने सदन की मर्यादा की उल्लंघना करने की कड़ी निंदा की

चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा विधानसभा के मानसून सत्र में कांग्रेस विधायक करण सिंह दलाल द्वारा सदन की मर्यादा की उल्लंघन करने की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि सदन की मर्यादा बनाये रखना हर जनप्रतिनिधि का दायित्व होता है। पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि आज जो सदन की मर्यादाएं तोड़ी गई वो अच्छी बात नहीं है। बाकी सत्रों में विधानसभा के नियमों के अनुसार विधानसभा स्पीकर आवश्यक करवाई करेंगे।

हरियाणा विधानसभा में बेशर्मी की हदें पार, कांग्रेसी विधायक एक साल के लिए निलंबित

चंडीगढ़: मॉनसून सत्र के तीसरे और अंतिम दिन विधायकों ने हरियाणा विधानसभा में बेशर्मी की सभी हदें पार कर दीं। दरअसल कांग्रेसी विधायक करण दलाल ने गरीबों के राशन कार्ड काटने का मुद्दा उठाते हुए सरकार पर हरियाणा को पूरे देश में कलकिंत करने की बात कही। दलाल के इस बयान के बाद बीजेपी विधायकों ने जोरदार हंगामा करना शुरू कर दिया। बीजेपी ही नहीं इस दौरान विरोधी दल इनेलो के नेता व नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला ने भी दलाल के बयान की निंदा की और करण दलाल को सदन से निलंबित करने की मांग कर डाली। इस दौरान करण दलाल और अभय चौटाला के बीच तीखी नोकझोंक हुई जिसके बाद दलाल ने जूता तक निकाल लिया। करण के जूता निकालते ही चौटाला भी आपा खो बैठे और वो भी जूता हाथ में लेकर करण की ओर बढ़ गए जिसके बाद सदन में तैनात मार्शलों ने बीचबचाव कर हुए स्थिति को काबू किया। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान सदन में जोरदार हंगामा हुआ और सदन की कार्यवाही को 15 मिनट के लिए स्थगित कर दिया गया। सदन के दोबारा शरू होते ही वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने करण दलाल के निलंबन का प्रस्ताव पेश किया जिसे इनेलो के समर्थन के साथ सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। प्रस्ताव पारित होने के साथ ही करण दलाल को एक साल तक के लिए विधानसभा से निलंबित कर दिया गया। दलाल का निलंबन कांग्रेस के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close