राष्ट्रीय

विजय माल्या के भागने के मामले में अब स्वामी ने भी वित्त मंत्री पर साधा निशाना

Today News

शराब कारोबारी विजय माल्या के देश छोड़कर भागने के मामले में अब राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने भी वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा है। स्वामी ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए इस मामले पर अपनी बात रखी और वित्त मंत्री की भूमिका को सवालों के घेरे में लिया। उन्होंने कहा कि इस तथ्य को खारिज नहीं किया जा सकता कि माल्या ने संसद के सेंट्रल हॉल में वित्त मंत्री को लंदन जाने के बारे में बताया था।

बता दें कि बुधवार को माल्या ने एक बयान देकर भारतीय राजनीति में हलचल मचा दी। माल्या ने कहा कि वह भारत छोड़ने से पहले वित्तमंत्री से मिलकर आए थे। उन्होंने कहा कि वह सेटलमेंट को लेकर वित्त मंत्री से मिले थे। इसके बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ब्लॉग लिखकर बताया, ‘विजय माल्या ने कहा कि वह भारत छोड़ने से पहले सेटलमेंट ऑफर को लेकर मुझसे मिले थे। तथ्यात्मक रूप से यह बयान पूरी तरह झूठ है। 2014 से अब तक मैंने माल्या को मुलाकात के लिए कोई अपॉइंटमेंट नहीं दिया है, ऐसे में मुझसे मिलने का सवाल ही नहीं उठता।’

हालांकि कुछ देर बाद विजय माल्या ने सफाई देते हुए कहा, ‘मैंने संसद में उनसे (जेटली से) मुलाकात की थी और उन्हें बताया था कि मैं लंदन के लिए निकल रहा हूं। उनके साथ मेरी कोई अधिकारिक मुलाकात नहीं हुई। इसके बाद समय के साथ मैंने संसद में कई सहयोगियों से मुलाकात की और अपने बकाए को सेटल करने की इच्छा के बारे में बताया।’

जेटली को देना चाहिए इस्तिफा : राहुल

वित्तमंत्री ने माल्या के बयान को झूठा करार देते हुए कहा कि उन्होंने 2014 के बाद उसे कभी मिलने का समय नहीं दिया। जेटली ने कहा कि माल्या राज्यसभा सदस्य के तौर पर हासिल विशेषाधिकार का ‘दुरुपयोग’ करते हुए संसद-भवन के गलियारे में उनके पास आ गया था। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने माल्या के दावे को ‘अति गंभीर आरोप’ करार दिया और कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जांच का आदेश देना चाहिए और जांच पूरी होने तक जेटली को इस्तीफा दे देना चाहिए। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘ लंदन में माल्या की ओर से लगाये गए अति गंभीर आरोपों को देखते हुए प्रधानमंत्री को तत्काल स्वतंत्र जांच का आदेश देना चाहिए. जब तक जांच चलती है तब तक अरुण जेटली को वित्त मंत्री के पद से हट जाना चाहिए।’

राहुल की लंदन यात्रा के बाद ही माल्या क्यों कह रहे ऐसी बातें

भारतीय बैंकों से करोड़ों रुपये का कर्ज लेकर ब्रिटेन फरार हुए शराब कारोबारी विजय माल्या की ओर से अरुण जेटली से मुलाकात के दावे पर सियासी घमासान मचा है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस पूरे मामले को कांग्रेस की साजिश करार देते हुए कहा है कि विजय माल्या का यह बयान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लंदन के दौरे के बाद आया है। प्रसाद ने कहा, ‘क्या किसी ने यह बात नोटिस की है कि राहुल गांधी के लंदन दौरे के बाद माल्या की तरफ यह बातें कही जा रही हैं? क्या कोई संबंध हैं? आप (मीडिया) को इसमें देखना चाहिए.’ दरअसल विजय माल्या ने लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेशी से पहले संवाददाताओं को बताया था कि उन्होंने वित्तमंत्री से मुलाकात की थी और बैंकों से लोन निपटारे करने की पेशकश की थी।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close