राष्ट्रीय

वाराणसी को पीएम मोदी ने दी 557 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात

Today News | वाराणसी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीएचयू के एम्फी थियेटर में जनसभा को संबोधित कर काशीवासियों को उनके क्षेत्र में चल रही परियोजनाओं की जानकारी दी। अपने दो दिन के दौरे में उन्होंने वह विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण किया। जिसमें अटल इन्क्यूबेशन सेंटर, नागपुर ग्राम पेयजल योजना के अलावा पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की विभिन्न परियोजनाएं शामिल हैं। साथ ही बीएचयू में बनने वाले वेद विज्ञान केंद्र व रीजनल इंस्टीट्यूट आफ ऑप्थेल्मोलाजी का शिलान्यास किया। आपको बता दें कि पीएम मोदी 17 सितंबर यानी अपने जन्मदिन पर वाराणसी के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे और काशी विद्यापीठ ब्लाक के अंदर पहुंचकर और प्राथमिक पाठशाला के बच्चों के बीच केक काटकर अपना 68वां जन्मदिन मनाया।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में कमल के फूल चढ़ाये और दुग्धाभिषेक किया और विशेष पूजा-अर्चना की। पीएम मोदी ने अपने दौरे के दौरान योजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास के जरिए संसदीय क्षेत्र काशी की जनता को 557.40 करोड़ रुपये की सौगात दी है। इनमें 486.21 करोड़ के 10 लोकार्पण और 71.18 करोड़ रुपये के तीन शिलान्यास शामिल हैं।

भोलेनाथ की कृपा से दी वाराणसी को नई दिशा

  • मेरे लिए ये सौभाग्य की बात है कि देश के लिए समर्पित एक और वर्ष की शुरुआत मैं बाबा विश्वनाथ और माँ गंगा के आशीर्वाद से कर रहा हूँ।

  •  4 साल पहले जब काशीवासी बदलाव के इस संकल्प लेकर निकले थे तो आज उनमें बदलाव नजर आ रहा है। वरना आप तो उस व्यवस्था के गवाह रहे हैं जब आप काशी को भोले के भरोसे छोड़ दिया गया था। आज हम बाबा भोलेनाथ के कृपा से वाराणसी को विकास की नई दिशा में सफल रहे हैं।

  • काशी की चौतरफा अव्यवस्था को चौतरफा विकास में बदलना है। जब में सांसद बनने से पहले यहां आता था तो बिजली के लटकते हुये तारों को देख सोचता था कि इससे कब मुक्ति मिलेगी।

  • आज शहर के एक बड़े हिस्से लटकते कार से मुक्ति मिल गई है। अभी जमीन के अंदर तार फैलाने का काम जारी है।

  • हम काशी में जो भी बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं वो उसकी परंपराओं को संजोते हुए, उसकी पौराणिकता को बचाते हुए किया जा रहा है। अनंत काल से जो इस शहर की पहचान रही, उसे संरक्षित करते हुए, इस शहर में आधुनिक व्यवस्थाओं का समावेश किया जा रहा है।

  • आज यहां 550 करोड़ रुपए से ज्यादा के प्रोजेक्ट्स का या तो लोकार्पण हुआ है या फिर शिलान्यास हुआ है। विकास के ये कार्य बनारस शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों से भी जुड़े हैं

    मेरे लिए ये सौभाग्य की बात है देश के लिए समर्पित एक और वर्ष की शुरुआत मैं बाबा विश्वनाथ और मां गंगा के शुभ आशीष से कर रहा हूं। आप सभी का ये स्नेह, ये आशीर्वाद मुझे हर पल प्रेरित करता है।

  • हम काशी में जो भी बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं वो उसकी परंपराओं को संजोते हुए, उसकी पौराणिकता को बचाते हुए किया जा रहा है। अनंत काल से जो इस शहर की पहचान रही, उसे संरक्षित करते हुए, इस शहर में आधुनिक व्यवस्थाओं का समावेश किया जा रहा है।

  • फ्रांस, जापान के राष्ट्रपति ने काशी के आतिथ्य को पूरी दुनिया में सराहा है. जनवरी में दुनिया भर में बसे भारतीयों का कुंभ काशी में लगने वाला है. इसके लिये सरकार अपने स्तर पर काम कर रही है।

  • हम चाहते हैं कि जो लोग आएं वह ऐसा अनुभव करके जाएं को वह पूरी दुनिया में काशी के पर्यटन के एम्बैसडर बन जाएं।

  • बुद्धा थीम पार्क, सारंग नाथ तालाब, गुरुधाम मंदिर, मारकंडेय महादेव मंदिर जैसे अनेक स्थलों का सुंदरीकरण किया जा चुका है. स्वच्छता के मामले में भी काशी ने परिवर्तन देखा है, आज यहाँ के घाटों, सड़कों और गलियों में स्वच्छता स्थाई बनती जा रही है।

  • स्मार्ट बनारस में स्मार्ट परिवहन हो, इसके लिए ट्रासपोर्ट के हर तरीके को आधुनिक बनाने का काम हो रहा है वाराणसी में हो रहे विकास के गवाह, यहां एयरपोर्ट पर आने वाले लोग भी बन रहे हैं। हवाई जहाज से बनारस आने वाले लोगों और टूरिस्टों की संख्या में निरंतर बढोतरी हो रही है। काशी में कचरे से खाद बनने का काम भी शुरू कर दिया गया है. इस प्लांट से बिजली पैदा करने का काम किया जा रहा है।

  •  वाराणसी शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों को भी सड़क, बिजली, पानी जैसी सुविधाएं पहुंचाई गई हैं। सांसद के रूप में जिन गांवों को विशेष रूप से विकसित करने का जिम्मा मेरे पास है उनमें से एक नागेपुर गांव के लिए आज पानी के एक बड़े प्रोजेक्ट का लोकार्पण किया गया है। बुद्धा थीम पार्क, सारंग नाथ तालाब, गुरुधाम मंदिर, मारकंडेय महादेव मंदिर जैसे अनेक स्थलों का सुंदरीकरण किया जा चुका है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close