अंतरराष्ट्रीयराजनीतिराष्ट्रीय

लग्जरी आइटम्स के आयात पर पाबंदी लगाएगा पाकिस्तान: इमरान खान

Today News

हमेशा दूसरों पर निर्भर रहनेवाले मुल्क के रूप में छवि बना चुका पाकिस्तान अब इससे बाहर निकलने के लिए जल्द बड़ा फैसला ले सकता है। इस फैसले में नए प्रधानमंत्री इमरान खान की सरकार लग्जरी कारों, स्मार्टफोन्स के साथ-साथ चीज के आयात पर पाबंदी लगा सकती है। ऐसा अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) से मिलनेवाले बेलआउट पैकेज से बचने के लिए किया जाएगा।

पाकिस्तान की आर्थिक हालत में सुधार के लिए हाल में एक मीटिंग हुई थी। वित्त मंत्री असद उमर की अध्यक्षता वाली इस मीटिंग में हाल में बनाई गई इकनॉमिक अडवाइजरी काउंसिल (EAC) के सदस्य मौजूद थे। आयात घटाने और निर्यात बढ़ाने के लिए कई विचारों पर चर्चा की गई, लेकिन फिलहाल कोई निर्णय नहीं निकला है।

दरअसल, पाकिस्तान के चालू खाते का घाटा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में पाकिस्तान के गिरते एक्सपोर्ट और बढ़ते इंपोर्ट की वजह से वहां डॉलर की कमी हो गई थी और इससे लोकल करंसी पर दबाव बन रहा था। इस वजह से इमरान खान के शपथ लेने से पहले ही अर्थशास्त्री अनुमान लगा रहे थे कि वह पीएम बनते ही IMF से बेलआउट पैकेज की मांग करेंगे, लेकिन हुआ इसका उल्टा। पाकिस्तान इससे पहले 14 बार (1980 से अबतक) बेलआउट पैकेज ले चुका है।

प्रधानमंत्री बनने के बाद इमरान खान ने साफ किया कि उन्हें दूसरों पर निर्भर रहने की आदत ठीक नहीं लगती। इस वजह से EAC की मीटिंग का मुख्य उद्देश्य बेलआउट पैकेज से बचने की राह
तलाशना था।

मीटिंग में मौजूद यूनिवर्सिटी प्रफेसर अशफाक हसन ने बताया कि मीटिंग में चीज, कार, सेलफोन्स और कुछ फलों के इंपोर्ट पर एक साल तक के बैन लगाने पर बात हुई। माना जा रहा है कि इससे करीब 4-5 बिलियन डॉलर बच सकते हैं। इसी बीच एक्सपोर्ट को 2 बिलियन डॉलर और बढ़ाने का विचार है।

पाकिस्तान के वित्त मंत्री इससे पहले यह भी कह चुके हैं कि जरूरत पड़ने पर वह मित्र देश (चीन और सऊदी अरब) से मदद के सकते हैं और IMF आखिरी ऑप्शन होगा। बता दें कि पाकिस्तान का चालू खाते का घाटा जून 30 तक 43 प्रतिशत बढ़कर 18 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया था। इस वजह से उसे अपनी करंसी का अवमूल्यन भी करना पड़ा था।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close