राष्ट्रीयहरियाणा

बीमा क्लेम की मांग पर जलघर की टंकी पर चढ़े किसान, प्रशासन की धड़कनें बढ़ी

खरीफ 2017 की फसल के मुआवजे को लेकर 43 दिन से धरने पर बैठे किसानों ने की सरकार के खिलाफ नारेबाजी

Today News | सिरसा

खरीफ 2017 की फसल के मुआवजे की मांग को लेकर 43 दिन से धरने पर बैठे किसानों ने सोमवार सुबह चौपटा खंड के गांव रूपावास के जलघर की 50 मीटर डिग्गी पर चढ़कर प्रशासन की धड़कने बढ़ा दी, वहीं सैंकड़ों की संख्या
में किसान जलघर में धरने पर बैठकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते रहे।

सूचना पाकर जिला प्रशासन के अधिकारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे व टंकी पर चढ़े किसानों को मनाने के लिए प्रयास किया, लेकिन किसान मुआवजा राशि किसानों के खातों में जमा ना होने तक टंकी पर से उतरने से राजी नहीं हुए। किसानों ने जिला प्रशासन एंव सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी शुरू कर दी। पिछले 43 दिनों से सिरसा जिला के दर्जनों किसान उपायुक्त कार्यालय के पास खरीफ 2017 की फसलों के मुआवजा राशि की मांग पर धरने पर बैठे थे।

25 अगस्त डबवाली में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 10 दिन में मुआवजा राशि किसानों के खाते में डालने की बात कही थी लेकिन मुआवजा राशि आज तक किसानों के खातों में नहीं डाली गई। धरने पर बैठे किसान प्रकाश ममेरां ने बताया कि सोमवार सुबह 5 बजे सैंकड़ों की संख्या में विभिन्न गांवों से जिला के किसान रूपावास के जलघर पहुंचे व पांच किसान जिसमें रामदत्त पूनिया डिंग, विकल पचार, अरविंद रायपुर, मदन सांगवान डिंग, कालूराम रामपुरा ढिल्लों टंकी पर चढ़ गए। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार वायदा खिलाफी करके किसानों के हकों को दबाने का काम कर रही है। सिरसा जिला के किसानों का करीब 170 करोड़ रूपए मुआवजा राशि बीमा कंपनी जारी नहीं कर रही है, जिससे किसानों को नुकसान हो रहा है।

किसानों की मांग है कि जल्द से जल्द सरकार बीमा कंपनी से मुआवजा राशि लेट होने के बाद से ब्याज सहित जारी करें। किसान प्रकाश ममेरां, रामजस चौयल मोडिया खेड़ा, जगदीश रूपावास, जगदीश छिंपा, पूर्व सरपंच बलिंद्र सहारण सहित अन्यों का कहना है कि यदि किसानों की मुआवजा राशि जल्द ही किसानों के खातों में नहीं डाली तो आगामी दिनों में जिला के अन्य गांवों के जलघरों की पानी की टंकियों पर किसान धरना देंगे।

किसानों को उन्हें समझाते नायब तहसीलदार छैल्लूराम जाखड़।
                                         किसानों को उन्हें समझाते नायब तहसीलदार छैल्लूराम जाखड़।

अधिकारियों को कराया गया है अवगत

टंकी पर चढऩे की सूचना पाकर जिला प्रशासन की तरफ से नायब तहसीलदार छेलूराम जाखड़ व चौपटा पुलिस मौके पर पहुंची। छेलूराम जाखड़ ने बताया कि किसानों की मांगों को सुना गया है और उच्चाधिकारियों को इसके बारे में अवगत करवाया गया है। उच्चाधिकारियों के आदेशों पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close