राष्ट्रीय

गरीब परिवारों को 5 लाख रूपए तक मुफत ईलाज की सुविधा 23 सितंबर से

Today News | चण्डीगढ़

गरीब परिवारों को 5 लाख रूपए तक मुफत ईलाज की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए बनाई गई आयुष्मान भारत योजना 23 सितंबर से लागू होने जा रही है। इस योजना का राष्ट्रव्यापी लॉंच प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी रांची से करेंगे और उसी दिन हरियाणा में इस योजना की शुरूआत मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा करनाल से की जाएगी।इस संबंध में जानकारी आज स्वास्थ्य विभाग हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव आर आर जोवल द्वारा चण्डीगढ से उपायुक्तों के साथ की गई वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग में दी गई। श्री जोवल ने बताया कि 23 सितंबर को आयुष्मान भारत योजना के राष्ट्रीय लॉंच का कार्यफ्म वैब लिंक के जरिए प्रदेश के सभी जिलों में होने वाले कार्यफ्मों में दिखाया जाएगा।

प्रधानमंत्री का संबोधन वैब लिंक के माध्यम से रिले किया जाएगा। उन्होंने बताया कि करनाल में उस दिन होने वाले राज्य स्तरीय कार्यफ्म में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के अलावा, राज्यपाल तथा स्वास्थ्य मंत्री भी उपस्थित रहेंगे। अन्य जिलों में भी योजना के शुभारंभ के लिए मंत्रियों, विधायकों तथा अधिकारियों की डयूटियां राज्य सरकार द्वारा लगाई जाएंगी। गुरुग्राम में इस योजना का शुभारंभ कार्यफ्म नागरिक अस्पताल में आयोजित होगा जिसमें केंद्रीय योजना, रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह मुख्य अतिथि होंगे। उन्होंने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की पहचान कर ली गई है और अब उन्हें योजना का लाभ देने के लिए गोल्डन कार्ड बनाकर दिए जा रहे हैं।

लाभार्थी को अपना पंजीकरण करवाने के लिए अपने आधार कार्ड, राशन कार्ड की प्रति तथा मोबाईल नंबर के साथ नजदीकी सरकारी अस्पताल में जाना होगा। श्री जोवल ने बताया कि जिला स्तर पर स्थित सभी नागरिक अस्पतालों को इस योजना के तहत पंजीकृत किया गया है। इनके अलावा उपमण्डल स्तर पर स्थित अस्पतालों का भी पंजीकरण हुआ है। उन्होंने बताया कि निजी अस्पतालों का भी पंजीकरण किया जा रहा है। अब तक प्रदेश में 122 निजी अस्पतालों का इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण किया गया है।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन हरियाणा की मिशन निदेशक अमनीत पी कुमार ने इस मौके पर बताया कि लाभार्थियों को उनके घर के नजदीक आयुष्मान भारत योजना का लाभ पहुंचाने के लिए जल्द ही प्रदेश के 500 स्वास्थ्य केंद्रों को हैल्थ एण्ड वैलनेस सैंटर में परिवर्तित किया जाएगा जिनमें मातृत्व एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं सहित 12 आवश्यक सेवाएं उपलब्ध होंगी। गुरुग्राम जिला में इस योजना को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए अब तक किए गए प्रबंधो की जानकारी देते हुए उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने बताया कि जिला में 4 नागरिक अस्पतालों के अलावा, 8 निजी अस्पतालों ने योजना के तहत पंजीकरण करवाया है।

इनके अलावा, 10 निजी अस्पतालों का पंजीकरण मुख्यालय स्तर पर लंबित है तथा 20 अन्य निजी अस्पतालों का पंजीकरण के लिए आवेदन जिला स्तरीय कमेटी के पास पहुंच चुका है जिन्हें जल्द ही राज्य स्तरीय कमेटी के पास भेज दिया जाएगा। इस प्रकार गुरुग्राम जिला में आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 38 निजी अस्पतालों का पंजीकरण हो जाएगा। इनकी और संख्या बढाने के लिए उपायुक्त द्वारा बुधवार को पुन: निजी अस्पतालों के संचालकों के साथ बैठक लघुसचिवालय में रखी गई है।
इस अवसर पर चण्डीगढ मुख्यालय में अतिरिक्त मुख्य सचिव आर आर जोवल के साथ आयुष विभाग के निदेशक डा. साकेत कुमार, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की मिशन निदेशक अमनीत पी कुमार भी उपस्थित थे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close