अन्य

पेड़-पौधे लगाकर किया जाए महापुरूषों को याद : गायत्री

-डा. मुखजी के बलिदान दिवस के उपलक्ष्य में लगाई त्रिवेणी-

हिसार टुडे।
भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष, कष्ट निवारण समिति की सदस्य एवं सामाजिक संगठन भगत धन्ना सेवा समिति की अध्यक्ष गायत्री देवी ने आज गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय परिसर में दीनदयाल उपाध्याय कंप्यूटर सेंटर के सामने त्रिवेणी लगाकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद किया तथा उनको बलिदान दिवस की श्रद्धांजली दी।
इस अवसर पर गायत्री देवी ने कहा कि हमारे महापुरुषों को ज्यादा से ज्यादा पेड़-पौधे लगाकर याद करना चाहिए। वातावरण की शुद्धि तथा बढ़ते प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए हमें समय रहते चेतना चाहिए। अधिक से अधिक पौधारोपण करके हमें वातावरण को शुद्ध करके  स्वस्थ भारत की पटकथा लिखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि महिला मोर्चा सामाजिक कार्यों को लेकर हमेशा से ही अग्रणी रहा है तथा पार्टी के सभी कार्यक्रमों में महिला मोर्चा ने बढ़-चढ़कर भाग लिया है।
देश की आधी आबादी होने के कारण महिलाओं की जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है। महिलाएं आज देश व प्रदेश का नेतृत्व करने की क्षमता रखती हैं। उन्होंने कहा कि महिला मोर्चा ने यह संकल्प लिया है कि संगठन जितने भी कार्यक्रम तय करेगा महिला मोर्चा उन सभी कार्यक्रमों पर खरा उतरेगा।
इस दौरान गायत्री देवी ने डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनके बताये गये मार्ग पर हम सबको चलना है। उन्होंने संगठन मजबूती के लिए कार्य योजना के बारे में चर्चा की। डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि शहादत दिवस के रूप में मनायी जा रही है।
श्यामा प्रसाद मुखर्जी धर्म के नाम पर देश विभाजन के विरोधी थे। उनका नारा एक राष्ट्र-श्रेष्ठ राष्ट्र था। वे धारा 370 के भी विरोधी थे, क्योंकि एक देश में दो प्रधानमंत्री नहीं हो सकते। गायत्री ने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद ने देश के लिए संघर्ष किया और देश की अखंडता व एकता के लिए प्राण त्याग दिये।
इस अवसर पर उनके साथ जिला महामंत्री कृष्णा पातड़, रोशनी देवी, कमलेश, संजू, आरती, बृजभूषण, बलजीत, सचिन कुमार, मनजीत, योगेश चौधरी, विनोद, पिंकी, अनीता, राकेश, प्रेम, राधा, कुसम, सोमी, रामस्वरूप, बीना, शमीम, पिंकी व राकेश सहित काफी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

Close
Close