अंतरराष्ट्रीयटुडे न्यूज़

G-7 शिखर सम्मेलन: पीएम मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप की मुलाकात के क्या मायने हैं

जम्मू कश्मीर में अऩुच्छेद 370 हटाने की घोषणा 5 अगस्त को देश की संसद में हुई थी. तब से लेकर अभी तक ये मुद्दा गर्म है. कश्मीर में तो हालांकि हालात धीरे-धीरे सामान्य होने की ओर बढ़ रहे हैं

हिसार टुडे । पेरिस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फ्रांस की राजधानी पेरिस में हैं. पीएम मोदी वहां जी-7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए गए हैं. बैठक के इतर आज पीएम मोदी की अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात होनी है. ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि इस मुलाकात में कश्मीर मसले पर भी बात होगी. दोनों नेताओं के बीच जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद ये पहली मुलाकात है.

ट्रंप ने फ्रांस रवाना होने से पहले कहा था कि वह मोदी से कश्मीर मसले पर बात करेंगे. इससे पहले दोनों फोन पर भी बात कर चुके हैं, ऐसे में ये देखना होगा कि जब दोनों नेता आमने-सामने होंगे तो क्या फैसला होता है और रुख किस तरह का रहता है. क्योंकि भारत हर बार और दुनिया के हर मंच पर इस बात को साफ कर चुका है कि जम्मू-कश्मीर को लेकर जो भी विवाद है वह भारत-पाकिस्तान के बीच का है, अनुच्छेद 370 को लेकर जो फैसला है वह भारत का आंतरिक मसला है

पीओके है पाकिस्तान के डर की असली वजह

राजनाथ सिंह  ने कहा था, ”पाकिस्तान से यदि बात होगी तो तभी होगी जब आतंकवाद को संरक्षण देने और पैदा करने का जो काम पाकिस्तान अपनी धरती पर कर रहा है, उसे खत्म करे. पाकिस्तान जब तक आतंकवाद को खत्म नहीं करता तब तक बातचीत करने का कोई कारण नहीं है. आगे भी जो बातचीत होगी और किस मुद्दे पर होगी तो पाक अधिकृत कश्मीर पर बात होगी और किसी मुद्दे पर बात नहीं होगी.”
भारत की इस दो टूक से पाकिस्तान में खलबली मची है.  भारत के तेवरों से घबराकर इमरान खान पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस समारोह को इस्लामाबाद में मनाने के बजाय पीओके की तरफ दौड़ पड़े. वहां उन्होंने कह दिया कि भारत पीओके पर हमला कर सकता है.

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close