टुडे न्यूज़हिसार

बिना दान, दहेज शादियां संपन्न समाज के लिए मिसाल

रामायणी के पाठ के साथ बिना बैंड, बाजा, बारात व दान-दहेज के 15 मिनट में शादियां हुईं संपन्न

 हिसार टुडे 

नशा तन का नाश तो करता ही है वहीं परिवार का भी पतन करता है इसलिए हमें नशा व अन्य कोई भी ऐसा कार्य नहीं करना चाहिए जिससे किसी भी जीव को कोई कष्ट पहुंचे। जितना भी हो सके हमें दूसरों की भलाई के लिए व लाचारों व जरूरतमंदों की सहायता करनी चाहिए और कबीर साहब के बताए भलाई के मार्ग पर ही चलना चाहिए व समाज में फैली दहेज प्रथा जैसी कुरीति को खत्म करने का प्रयास करना चाहिए।

उक्त प्रेरणादायक प्रवचन सीडी के माध्यम से दिल्ली रोड स्थित सूर्या सेलिब्रेशन में बंदी छोड़ भक्ति मुक्ति ट्रस्ट के सेवादारों ने जगतगुरु तत्वदर्शी संत रामपाल महाराज के आशीर्वाद से भक्तों के बीच रखे। इसके अलावा गांव कानी खेड़ी फतेहाबाद के गुलाब पुत्र रामप्रताप, गांव बिठमड़ा के जिन्द्रपाल की पुत्री प्रीति का विवाह बिना बैंड बाजा न कोई बाराती, न ही कोई ढोल व बिना किसी आडंबर के मात्र 15 मिनट की रामायणी से बिना दान-दहेज के संपन्न करवाया गया। इस मौके पर दुल्हा-दुल्हन को ट्रस्ट के सेवादार राजेश सिवानी ने विवाहित जोड़ों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधा।

राजेश सिवानी ने बताया कि गुरु महाराज की कपा से आज तक कई हजार शादियां करवाई जा चुकी हैं जो कि बिना दहेज के संपन्न हुई हैं। इसके अलावा आए भक्तों के लिए ट्रस्ट द्वारा जलपान का आयोजन भी किया गया। इस मौके पर कई जीवों ने नाम की दीक्षा भी ली। राजेश सिवानी, मनोज सिसाय, बिजेंद्र डोभी, कृष्ण आदमपुर, पाल मिर्जापुर आदि इस मौके पर विशेष रूप से मौजूद रहे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close