टुडे न्यूज़हिसार

‘सोसायटी एक्ट 1984 के तहत खाताधारकों को दिया जाए पैसा’

सर्वजन समाज पार्टी ने पीएम के समक्ष उठाई सोसायटी घोटाले की सीबीआई जांच की मांग

Hisar News

हिसार । सर्वजन समाज पार्टी की एक बैठक मुल्तानी चौक पार्क में राष्ट्रीय अध्यक्ष सर्वजन पार्टी की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में हिसार में हुए सोसायटी घोटाले पर विचार-विमर्श किया गया व इस घोटाले की मांग सीबीआई से करवाने के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखा गया। पार्टी के अध्यक्ष नंद किशोर चावला ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में कहा कि रजिस्ट्रार सहकारिता विभाग हरियाणा पंचकुला ने थ्रिप्ट एंड क्रेडिट और नॉन एग्रीकल्चर आदि 190 सोसायटियां सोसायटी एक्ट 1984 के अनुसार हिसार में खोली गई थी। इस सोसायटियों में दी बैंक स्टाफ को. ऑपरेटिव सोसायटी एस.ई.टी.सी. विजय नगर हिसार, दी एवर ग्रीन को. ऑप्रेटिव सोसायटी एन.टी.सी. मोहल्ला रामपुरा हिसार, दी शांति निकेतन को. ऑपरेटिव एन.ए.टी. हिसार, जय लक्ष्मी को-ऑपे्रटिव सोसायटी कपिल शर्मा हिसार, दी फ्रैंड्स को. ऑप्रेटिव एस.ई.टी. एस. कपिल शर्मा हिसार, बैंक स्टाफ को ऑप्रेटिव ई.टी. आशीष सांखला हिसार, सिटी एवर प्लान को ऑप्रेटिव सोसायटी साखला, दी ऑल एम्पलाइज को ऑप्रेटिव एस.ई.टी. कपिल शर्मा, दी स्कॉलर हाऊसिंग बिल्डिंग सोसायटी आदि सोसायटियों की स्वीकृति विभाग द्वारा दी गई है।

चावला ने बताया कि उनके कार्यालय के पत्र क्रमांक दिनांक 20 मई 2018 व दिनांक 22 जून 2018 को लिख कर अनुरोध किया गया था कि सहकारिता विभाग हरियाणा ने थ्रिप्ट एंड क्रेडिट और नॉन एग्रीकल्चर की सोसायटी खोल कर गरीब जनता का बैंक पास बुक, एफ.डी. और आर.डी. के रूप में 500 करोड़ से भी अधिक पैसा जमा करवा लिया गया है। विभाग के अधिकारियों ने पंजाब सोसायटी सर्विस रूल 1961 की अनुपालना नहीं की है। बल्कि भ्रष्टाचार के कारण अनुपालना नहीं की गई है जिस कारण प्रबंधक और सहकारिता विभाग के अधिकारियों ने जनता के पैसे से कोठी, बंगला, जमीन, कारें आदि खरीद दी हैं।

 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close