हिसार

शिक्षक भी आए रोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में

सर्वकर्मचारी संघ के कार्यालय में रोडवेज बस की हड़ताल के समर्थन में सिरसा जिला के सभी शिक्षक संगठनों की बैठक हुई, जिसमें सभी शिक्षक संगठनों के जिला प्रधान व सचिव की एक तालमेल कमेटी बनाने के बाद शिक्षक संघ की तालमेल कमेटी ने निर्णय लिया कि 22 अक्टूबर को सोमवार को सिरसा जिला के हजारों की संख्या में सभी अध्यापक 3 बजे रोडवेज के आंदोलन के समर्थन और हरियाणा सरकार की तानाशाही के विरोध में जिला सचिवालय पर प्रदर्शन करने के बाद जिला उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल के नाम ज्ञापन सौंपेंगे। सभी शिक्षक संगठनों की तालमेल कमेटी ने एकजुटता दिखाते हुए कहा कि हरियाणा सरकार तानाशाही तरीका अपनाकर रोडवेज कर्मचारियों की मांगों को दबाने का काम कर रही है, जिसे सभी शिक्षक संगठन किसी भी सूरत में सहन नहीं करेंगे और हरियाणा सरकार को इसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा। इसी के साथ यह भी निर्णय लिया गया कि जब तक रोड़वेज कर्मचारियों की हड़ताल रहेगी, तब तक शिक्षक काली पट्टी बांधकर ही अपना शैक्षणिक कार्य करेंगे।

शिक्षक संगठनों की तालमेल कमेटी ने कहा कि रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल अपने वेतन को बढ़ाने और निजी स्वार्थों के लिए नहीं है, बल्कि यह हड़तालजनता के हित के लिए निजीकरण के खिलाफ है। इसलिए सभी शिक्षक संगठनों ने निर्णय लिया है कि हरियाणा सरकार अपने हठ को छोड़कर तुरंत प्रभाव से 720 बसों का निजीकरण हाथों में परमिट देने का फैसला वापिस ले और हरियाणा रोडवेज में 10 हजार के लगभग, जो सरकारी बसों की जरूरत है सरकारी बस चलाने का काम करें ताकि हरियाणा प्रदेश के लगभग 70 हजार बेरोजगारों को रोडवेज में रोजगार मिलने के साथ साथ हरियाणा प्रदेश की आम जनता को सुविधा मिल सके। शिक्षक संगठनों की तालमेल कमेटी सिरसा जिला के सभी शिक्षकों से अनुरोध किया है कि सोमवार को 3 बजे जिला सचिवालय पर हरियाणा सरकार और जिला प्रशासन की तानाशाही के विरोध में प्रदर्शन में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close