धर्मकर्महिसार

भगवान आदिनाथ मंदिर में वेदी प्रतिष्ठा व जिनबिंब स्थापना का कार्यक्रम आयोजित किया गया

 हिसार
‘मांझी हो तुम राही हूं मैं, तुम जो मिले मंजिल मिले रोज यही मांगू, हुआ मुझे तेरा दर्श’ आदि सुंदर भजनों से गुरुवर व भगवान के प्रति अपने मन के उद्गार प्रस्तुत करते हुए संगीतकार ने विधिवत रूप से पूजन करवाया। सकल दिगंबर जैन समाज एवं श्री दिगंबर जैन मंदिर कला द्वारा मुनि श्री 108 श्री वीर सागर महाराज, मुनि श्री 108 श्री विशाल सागर महाराज व श्री 108 श्री धवल सागर महाराज की प्रेरणा से नागोरी गेट में स्थित श्री 1008 भगवान आदि नाथ मंदिर जी में भव्य वेदी प्रतिष्ठा व जिनबिंब स्थापना का कार्यक्रम बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है। कार्यक्रम अनुसार श्रद्धालुओं द्वारा प्रात: 6 बजे मंदिर में पहुंचकर श्रीजी का विधिवत रूप से अभिषेक किया गया व सरलीकरण, इन्द्रप्रतिष्ठा, मंडल प्रतिष्ठा का कार्यक्रम हुआ। टीकमगढ़ से पहुंचे संगीतकार पुष्पेंद्र जैन व प्रतिष्ठाचार्य ऋषभ जैन ने उपस्थित श्रद्धालुओं को पूरे विधान से पूजन करवाया। सुदंर भजनों ‘मैंने तो हरपल गुरुवर की वाणी को जीवन में अपने उतारा है, पल-पल हर पल उसका पालन किया है’, ‘मेरा ये जीवन तेरे हवाले है मैंने तो तुझ को माना मेरे तो जो भी गुरुवर बस तुम’, ‘शीतल नाथ निराले हो, भक्तों के रखवाले मेरे शीतल सुंदर हो’, ‘चारों ओर अंधेरा फैला कोई नहीं बचया बहिस तममय’, ‘कभी न मैंने तुम्हें बताया संकट बहुत बड़े हैं’, ‘आज प्रभु पूजा करना है हमें आप पूजा करना है’, ‘भगवान सेवक हूं मैं तुम्हारा कभी न कभी मिलन हो तुमसे हमारा’ आदि भजनों पर श्रद्धालु मस्ती में झूमते रहे।
प्रतिष्ठाचार्य ने आए श्रद्धालुओं को जीओ और जीने दो का पाठ पढ़ाया। इस अवसर पर समिति के राजीव जैन, गौरव जैन, प्रवीण जैन, अमित जैन, आशीष जैन, सुभाष जैन, विपिन जैन, सुदेश जैन, शशि जैन, मीनाक्षी जैन, कृष्णा जैन, डोली जैन आदि उपस्थित रहेे। समिति द्वारा आए हुए मेहमानों को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close