ताजा खबरहिसार

ड्रग इंस्पेक्टर पर फर्जी रेड का आरोप

> सीसीटीवी में कैद दूकान में घटा सारा मांजरा
> केमिस्ट ने लगाया ड्रग अधिकारी द्वारा 20,000 रूपए मंथली मांगने का आरोप
> प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, स्वास्थ मंत्री और एसपी को दी शिकायत

Hisar News| हिसार

ऋषि नगर बुधला संत मंदिर के करीब स्थित शिव शक्ति मेडिकल हॉल के मालिक सुरेंद्र सिंह ने हिसार -1 के ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार चौधरी पर आरोप लगाया है कि उन्होंने उनसे 20 हजार रूपए मंथली देने कि मांग की, मगर जब दुकान के मालिक ने पैसा देने से इंकार कर दिया तब उनकी दुकान पर ड्रग कंट्रोल अधिकारियों ने नशीली दवा की बिक्री का आरोप लगाकर फर्जी रेड मारकर उनको फसाने का काम किया। न केवल अधिकारियों ने उनकी दुकान बंद करके उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई, बल्कि रेड के दौरान उन्होंने दुकान मालिक पर हाथ भी उठाये। सुरेंद्र सिंह ने अपनी बात साबित करते हुए बताया कि उसके पास सीसीटीवी फुटेज है जिसमें इस बात की पुष्टि होती है कि ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार ने जबरन एक व्यक्ति को दुकान में कुछ नशीली दवाओं के साथ भेजा और उन्हें फसाने का काम किया।

दरअसल शिव शक्ति मेडिकल शॉप के मालिक के अनुसार 19 सितंबर 2017 को ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार चौधरी उनकी दुकान में आये थे। वहां उन्होंने मेडिकल शॉप का मुआयना किया जहां उन्हेंे कुछ अनियमितता पाई गयी थी। उन्होंने निरिक्षण के बाद 25 सितंबर 2018 को नोटिस जारी किया, हमने उस नोटिस का जवाब दिया मगर अधिकारी उस जवाब से संतुष्ट नहीं हुए। जिसके बाद 31 अगस्त 2018 को शिव शक्ति मेडिकल शॉप के मालिक सुरेंद्र सिंह का लाइसेंस 10 सितंबर से 2018 से 19 सितंबर 2018 तक निलंबित कर दिया। 10 दिनों तक दुकान बंद करने के बाद 20 सितम्बर को सुरेंद्र ने दुबारा दुकान खोली और इसकी सूचना ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार चौधरी को दी कि अब वह अपनी दुकान खोलने जा रहे हैं।

सुरेंद्र का आरोप है कि जब वह वहां से निकल रहा था तो ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार चौधरी ने उनसे पैसे की मांग करते हुए 20 हजार हर महीने मंथली देने की मांग की और कहा कि जीएसटी भरने की कोई जरुरत नहीं बस पैसे दे दो और पहली किश्त अभी दे दो। जिसपर मेडिकल शॉप के मालिक सुरेंद्र सिंह ने अपनी असमर्थता जताई तो ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार ने उन्हें धमकी देते हुए कहा कि वह देख लेंगे। सुरेंद्र का आरोप है कि 20 अगस्त 2018 को ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार ने चंद्र मोहन (25) के एक आदमी के जेब में नशीली दवाईयां रखकर दुकान में दो बार भेजा। हमारे कर्मचारियों ने उस आदमी को दुकान से 2 बार धक्के देकर बाहर निकाला। जब रेड डालने के लिए मोहरे के तौर पर इस्तेमाल किये जाने वाले चंद्र मोहन ने दुकान में जाने से इंकार किया तब हिसार -1 ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार और वरिष्ठ ड्रग कंट्रोल अफसर रमन कुमार अपनी पूरी टीम के साथ चंद्र मोहन को जबरन दुकान में ले आये और पहले से उसके जेब में रखी दवाई निकाल कर उल्टा हमारे ऊपर नशीली दवाई बिक्री का आरोप लगाकर पैसे कमाई के लिए फर्जी रेड की।

सुरेंद्र सिंह का कहना है कि शुक्र है सीसीटीवी में सभी सच्चाई सामने आ गई है। सिर्फ मंथली(पैसे उगाही) चालू करने के लिए यह अधिकारी दुकानदारों को परेशान कर फर्जी रेड डालते हैं। उन्होंने कहा कि हिसार में सभी मेडिकल शॉप के साथ ड्रग कंट्रोल अधिकारियों (ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार और वरिष्ठ ड्रग कंट्रोल अफसर रमन कुमार श्योराण) के नाइंसाफी के और भ्रष्टाचार के खिलाफ उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सुब्रमण्यम स्वामी, मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, स्वास्थ अधिकारी अनिल विज समेत एसपी को भी पत्र लिखकर इस रैकेट की शिकायत की है। हालांकि जब हिसार टुडे की टीम ने इस मामले को लेकर जब ड्रग कंट्रोल अधिकारी सुरेश चौधरी से संपर्क साधने की कोशिश की गयी तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया।

सीसीटीवी कैमरे में ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार चौधरी की सारी करतूत कैद, उम्मीद है मिलेगा इन्साफ

सुरेंद्र सिंह (मालिक, शिव शक्ति मेडिकल शॉप)
सुरेंद्र सिंह (मालिक, शिव शक्ति मेडिकल शॉप)

जिस आदमी को ग्राहक बनाकर हमारी दुकान में पहले से ही काली थैली में दवाई रखकर भेजा था, उसे तो हमारे दुकान के कर्मचारी ने 2 बार धक्के देकर बाहर निकाला, मगर ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार चौधरी ने जबरन बाहर से पकड़ कर उस आदमी को दुकान में ले आये। पहले से जेब में रखी दवाई निकाल कर हमें फसाने का काम करते हुए फर्जी रेड डाली। शुक्र है कि सीसीटीवी कैमरे में ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश कुमार चौधरी की सारी करतूत कैद हो चुकी है। मैंने बस उन्हें हर महीने 20 हजार मंथली देने से मना कर दिया इस वजह से उन्होंने मेरी दुकान में फर्जी रेड की। जिसका खुलासा उस लड़के ने भी किया जिससे दवाईयां उन ड्रग अधिकारियों ने जब्त की। मेरे पास पुख्ता सबूत हैं और मुझे उम्मीद है कि मुझे न्याय जरूर मिलेगा।

जिस आदमी को ग्राहक बनाकर भेजा, उसी ने ड्रग कंट्रोल अधिकारी पर फर्जी कार्यवाई का लगाया आरोप

हिसार टुडे के पास चंद्र मोहन नामक शख्स का एफिडेविट है जिसमें उन्होंने इस बात को कबूल किया कि उसे ड्रग कंट्रोल अफसर सुरेश चौधरी ने जबरन उसके पायजामे की दाहिनी जेब में एक खांसी की दवाई की शीशी एवं 2 पत्ते कैप्सूल काळा रंग के लिफाफे में रखकर डाले और उन लोगों ने कहा कि शिव शक्ति दुकान में दवा लेकर जाएं हम पीछे से आते हैं। उसने अपने दस्तावेज में इस बात को भी कबूला है कि अधिकारियों ने फर्जी कार्यवाई की है।

सीसीटीवी में कैद सारा माजरा

हिसार टुडे के पास 1 घंटे 1 मिनट 10 सेकंड का सीसीटीवी वीडियो है जिसमें सुरेंद्र सिंह के अनुसार ऐसा साफ दिख रहा है कि ग्राहक बनाकर जिसे दूकान में भेजा गया उसने तो दवाई खरीदी ही नहीं। फिर भी उसे बाहर से धक्के देकर दुकान के अंदर ड्रग कंट्रोल अफसर लाकर उसके जेब में पहले से रखी थैली निकाल कर दुकान के मालिक पर ही उल्टा नशीली दवाई बेचने का आरोप लगा रहे हैं। सीसीटीवी में इस बात का भी खुलासा हुआ है ड्रग कंट्रोल अफसर ने दुकान के मालिक सुरेंद्र सिंह पर भी हाथ उठाये

नोट : हिसार टुडे के पाठक अगर  ड्रग कंट्रोल अफसर की कथित फर्जी रेड का पूरा वीडियो देखना चाहते है तो कृपया हमारी यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/watch?v=Onx0cKIyW6I&t=1922s के इस लिंक पर जाकर वीडियो देखे। 

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close