टुडे न्यूज़राष्ट्रीयहरियाणाहिसार

जो अपने गांव में नहीं दे सके पीने का पानी, उनके मुंह से विकास की बात बेमानी : दुष्यंत चौटाला

टुडे न्यूज | हिसार
भाजपा प्रत्याशी के अपने पैतृक गांव डूमरखां में आज भी पीने के पानी की किल्लत है। बिरेंद्र सिंह मोदी सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री रहे परन्तु अपने गांव वासियों के लिए पीने के पानी की व्यवस्था नहीं कर पाए। आलम यह है कि आज भी डूमरखां वासियों को पीने के पानी के लिए आए दिन नया जुगाड़ ढूंढना पड़ता है।
जो मंत्री और विधायक अपने गांव मेें पीने के स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था नहीं कर सके, उनसे लोकसभा क्षेत्र के प्रगति करने की उम्मीद करना बेमानी है। आज भी डूमरखा के वाल्मीकि बस्ती मेंं पीने के पानी की समस्या है। यह बात जेजेपी-आप प्रत्याशी दुष्यंत चौटाला ने कही। वे यहां उचाना हलके के गांव पेगा में आयोजित नुक्कड़ सभा को संबोधित कर रहे थे।
दुष्यंत चौटाला ने कहा कि उचाना हलके के गांवों में पीने के पानी की समस्या केवल उनके बिरेंद्र सिंह के पैतृक गांव डूमरखां में ही नहीं बल्कि हलके में दर्जन से अधिक ऐसे गांव हैं जहां लोग पीने के पानी की एक-एक बूंद के लिए तरसते हैं। इस्पात मंत्री बिरेंद्र सिंह के गोद लिया गांव खटकड़ भी उनमें से एक है जहां न वे तो केंद्र सरकार से पीने के पानी की समस्या से निजात दिलवा पाए और न ही भाजपा प्रत्याशी की मां प्रेमलता प्रदेश की मनोहर लाल खट्टर सरकार से शुद्धपेय जल की आपूर्ति सुनिश्चित करवा पाई।
दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सांसद आदर्श गांव खटकड़ में मैंने आरओ और वाटर कूलर लगवा कर पेयजल की समस्या का हल करवाने का प्रयास किया।
उन्होंने कहा कि उचाना की जनता ने बिरेंद्र सिंह को बहुत कुछ दिया और उन्हें कई बार सत्ता की शिखर तक पहुंचाया। उनके परिवार ने उचाना हलके को केवल सत्ता तक जाने की सीढ़ी समझ रखा है। सत्त्ता में पहुंचते ही उचाना वासियों को डूमरखां परिवार भूल जाता हैं और ढूंढे से भी नहीं मिलते हैं। उन्होंने कहा कि कभी बिरेंद्र सिंह ने राहुल और सोनिया गांधी का नाम लेकर वोट बटोरे तो कभी वे मोदी के नाम वोट हासिल करना चाहते हैं परन्तु जनता के बार-बार पूछने पर वे यह नहीं बताते कि उन्होंने सत्ता में पहुंचाने के बदले जनता के लिए क्या किया।
दुष्यंत चौटाला ने भाजपा और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा का जोडऩे में नहीं तोडऩे में और कांग्रेस का लूटने में विश्वास है। आज भी भाजपा अंग्रेजो की बांटने और राज करने की नीति को आगे बढ़ाते हुए सत्ता पाने की लालसा पाले हुए है वहीं कांग्रेस सत्ता में आकर फिर से जनता को लूटना चाहती है। उन्होंने कहा कि तोडऩे और लूटने का ध्येय रखने वाली भाजपा-कांग्रेस को 12 मई को सबक सीखाने का समय आ गया है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close