टुडे विशेषहिसार

इनसो से जाने का आ गया है समय : दिग्विजय चौटाला

“आप” के साथ बना रहे “जजपा” का गठबंधन : दिग्विजय

हिसार टुडे।अर्चना त्रिपाठी 

विधानसभा चुनाव के पहले आम आदमी पार्टी और जननायक जनता पार्टी के गठबंधन पर लगी ब्रेक पर भले ही जजपा के नेता दुष्यंत और आप के नेता अरविन्द केजरीवाल ने चुप्पी साधी हो, मगर आज इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने इसे लेकर हिसार टुडे द्वारा पूछे सवाल पर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होने साफ कहा वह चाहते हैं कि आम आदमी पार्टी और जननायक जनता पार्टी के बीच गठबंधन रहना चाहिए। दिग्विजय ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने उन्हें खुद कहा था कि उन्होंने जहां-जहां जिनके साथ गठबंधन किया था उसे उन्होंने रद्द कर दिया, गठबंधन खत्म नहीं किया। ऐसे में इसमें कोई नाराजगी का सवाल ही नहीं आता। यह उनके कोर कमेटी का फैसला था। मुझे लगता है कि हम और आम आदमी पार्टी एक ही विचारधारा के लोगों को साथ रहना चाहिए और आना चाहिए।

हमारा साथ इसी तरह बना रहे तो ज्यादा अच्छा है। इसलिए मुझे लगता है यह गठबंधन बने रहना चाहिए। यह बात इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने 5 अगस्त को मनाए जाने वाले स्थापना दिवस को लेकर हिसार में आयोजित प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में कही।
इतना ही नहीं उन्होंने प्रदेश कार्यकारिणी में कार्यकर्ताओं की गैरमौजूदगी पर सभी को आड़े हाथों लिया। दिग्विजय ने कड़े लब्जों में कहा कि उन्हें आज की बैठक में कार्यकर्ताओं की गैरमौजूदगी देखकर पीड़ा हुयी। अगर कोई कार्यकर्ता अपना पद जिम्मेदारी से नहीं संभाल रहा तो उसकी जगह जोश में लबालब कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दो। दिग्विजय ने कहा अगर किसी को लगे कि वह संघर्ष नहीं कर सकता तो उसे लिए बेहतर है वह भाजपा का रास्ता नापे।

दिग्विजय चौटाला के एक बयान से सभी चौंक गए। उन्होंने कहा कि इनसो से अब उनके जाने का समय आ गया है। उन्होंने साफ संकेत दे दिए हैं कि आज इनसो का जो हाल है उसके लिए वह खुद जिम्मेदार है। क्योंकि उनके ऊपर अब इतनी जिम्मेदारी आ चुकी है कि अब समय आ गया है कि वह इनसो से अलविदा ले और उसकी जगह किसी काबिल सक्रीय कार्यकर्ता को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। अब 18 तारीख को अगली प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक की जाएगी, जो ऐतिहासिक होगी।

नहीं चाहते ये गठबंधन टूटे : दिग्विजय चौटाला

जननायक जनता पार्टी के नेता दिग्विजय चौटाला ने हिसार टुडे द्वारा आप के साथ गठबंधन को लेकर पूछे सवाल पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा, वह नहीं चाहते कि जननायक जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी का गठबंधन टूटे। क्योकि हम और आम आदमी पार्टी एक ही विचारधारा के लोग हैं। हमारा साथ रहना और चलना जरुरी है। यह साथ इसी तरह बना रहे तो ज्यादा अच्छा रहेगा। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि आप ने गठबंधन सभी जगहों का रद्द किया है तोड़ा नहीं।

इनसो से अलविदा लेने का आ गया है समय

दरअसल 5 अगस्त को इनसो के स्थापना दिवस को लेकर प्रदेश कार्यकारिणी की महत्वपूर्ण बैठक में कार्यकर्ताओं की गैर मौजूदगी को देखकर इनसो राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला बेहद खफा हुए। उन्होंने इनसो पदाधिकारियों को आड़े हाथों लेते हुए इस अनुपस्थिति पर गहरा दुख जताया। उन्होंने कहा की मुझे हैरानी हुयी कि इस हॉल की क्षमता जितने लोग भी नहीं पधारे, हो सकता है कुछ लोगों की मजबूरी और कठिनाई हो। क्रिटिकल समय में एक भी आदमी न हो तो कमी होती, पिछले कुछ चुनावों में मैं संगठन से दूर चला गया था। कैप्टन होने के नाते यह मेरी जिम्मेदारी थी मैं ध्यान देता मगर मैं नहीं दे पाया। इसलिए मैं मानता हुं कि यह मेरी कमी है। इसलिए अब समय आ गया है कि मैं इनसो से अलविदा कह दूं, क्यूंकि अब मेरे ऊपर पार्टी की बहुत सारी जिम्मेदारी आ चुकी है, ऐसे में मेरे लिए इस जिम्मेदारी को निभा पाना मुश्किल है।

खट्टर से कोई टक्कर ले सकता है तो वह है दुष्यंत

 

दिग्विजय ने इनसो कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए कहा कि अक्टूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव में कोई खट्टर से ठक्कर ले सकता है और भाजपा का खूंटा हरियाणा से कोई उखाड़ सकता है तो वह दुष्यंत चौटाला ही है। उन्होंने कहा कि हमारे पास क्षमता है, हम चाहें तो भाजपा की सरकार को जड़ों से उखाड़ फेंक सकते हैं। इतना ही नहीं भाजपा के खिलाफ आगामी 19 तारीख से हर विधानसभा क्षेत्र में एक ही दिन 2 हलकों में बैठक लेने की बात उन्होंने कही। साथ ही कहा कि भिवानी में ही इस बार इनसो का स्थापना दिवस आयोजित किया जाए।

भाजपा का रास्ता नापो

दिग्विजय ने बैठक में प्रदेश भर के इनसो पदाधिकारियों की गैरमौजदगी पर नाराजगी जताते हुए कहा कि अगर किसी को लगे कि वह संघर्ष नहीं कर सकता तो उसके लिए बेहतर है कि वह भाजपा का रास्ता नापे। दिग्विजय ने कहा कि जो लोग 18 तारीख की सभा में भी नहीं आएंगे ऐसे लोगों पर इनसो संगठन सख्त से सख्ती कार्यवाही करेगा। दिग्विजय ने कड़े लब्जों में कहा कि उन्हें आज की बैठक में कार्यकर्ताओं की गैरमौजूदगी देखकर पीड़ा हुयी। अगर कार्यकर्ता अपना पद जिम्मेदारी से नहीं संभाल रहा तो उसकी जगह जोश में लबालब कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दो।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close