टुडे विशेषहिसार

दिल के टुकड़े हजार हुए, कोई यहां गिरा, कोई वहां गिरा: सुभाष बराला

जनता के सुझाव जानकर बनाएंगे संकल्प पत्र , कांग्रेस जिस हवा के रुख की बात कह रही वो भाजपा की तरफ बह रही , महागठबंधन न होगा, न होगा उसका भविष्य : बराला

अर्चना त्रिपाठी | हिसार टुडे

हरियाणा विधानसभा चुनावो को लेकर जहा बीजेपी 75 पार के नारे के साथ जीत की तैयारियों में जुटी हुई है, तो वहीं ठीक दुसरी तरफ भाजपा का वेग रोकने के लिए प्रदेश में नए रूप से महागठबंधन के प्रयास शुरू हो गए हैं। हाल में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चौधरी रंजीत सिंह ने इसके संकेत देते हुए कहा था कि प्रदेश में कांग्रेस, इनेलो, बसपा और जननायक जनता पार्टी को महागठबंधन की कोशिश  करनी चाहिए। वहीं चौधरी रंजीत सिंह ने प्रदेश में कांग्रेस के नेतृत्व बदलने और पार्टी की कमान चौधरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा को देने की भी वकालत की थी। मगर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष व टोहाना विधायक सुभाष बराला ने कांग्रेस के महागठबंधन की बात पर व्यंग कसते हुए कहा कि इन लोगों का खुद का भविष्य ही खतरे में है इसलिए वह गठबंधन की बात कर रहे हैं, मगर उनका गठबधन का न टिकेगा और न ही उनका कोई भविष्य है। जबकि इनेलो के आज के हालत पर उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि वो मशहूर गाना याद होगा दिल के टुकड़े हज़ार हुए उसी प्रकार आज इनेलो और कांग्रेस का हाल हो गया है “दल के टुकड़े हजार हुए कोई यहां गिरा कोई वहां गिरा।” इस अवसर पर विधायक एवं हरियाणा ब्यूरो ऑफ पब्लिक इंटरप्राइजेज के चेयरमैन डॉ. कमल गुप्ता, कॉन्फेड चेयरमैन कैप्टन भूपेंद्र, हरियाणा वेयर हाउसिंग कॉरपोरेशन चेयरमैन श्रीनिवास गोयल, माटी कला बोर्ड के चेयरमैन कर्णसिंह रानौलिया, नगर निगम मेयर गौतम सरदाना, भाजपा जिलाध्यक्ष सुरेंद्र पूनिया, विनोद भ्याणा, रणबीर गंगवा आदि मौजूद थे।

संकल्प पत्र संकलन यात्रा रथों को सुभाष बराला ने दिखाई हरी झंडी

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर संकल्प पत्र तैयार करने के लिए लोगों के सुझाव पाने के लिए इस संकल्प पत्र संकलन यात्रा की शुरुवात की गई। लक्ष्य हमारा-मनोहर दोबारा नारे के साथ शुरू हुई पांच जिलों की यह रथ यात्रा का शुभारम्भ प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने हरी झंडी दिखाकर किया। यह रथ यात्रा प्रत्येक जिला के सभी विधानसभा क्षेत्रों के प्रत्येक गांव तक जाएगी। बता दें कि इसकी शुरूआत गुरुग्राम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने की। वहीं आज यहां से हिसार, फतेहाबाद, सिरसा, जींद व भिवानी जिलों के लिए भी 5 रथों को रवाना किया गया है जो प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में तीन दिन लगाते हुए सभी गांवों को कवर करेंगे। इन रथों में लगाई गई वीडियो स्क्रीन के माध्यम से आमजन को प्रदेश सरकार के विकास कार्यों व कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी जाएगी। रथ के साथ चलने वाली टीम आमजन को संकल्प पत्र वितरित करेगी जिनमें लोग अपनी भावनाएं लिखकर पेटियों में डालेंगे। लोगों की इन्हीं भावनाओं के अनुरूप भाजपा विधानसभा चुनाव के लिए अपना घोषणा पत्र तैयार करेगी तथा इन्हीं बिंदुओं के आधार पर अगले पांच साल प्रदेश का विकास करवाया जाएगा। यह यात्रा 14 अगस्त तक पूरे प्रदेश को कवर करेगी। 16 अगस्त के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल की जन आशीर्वाद यात्रा शुरू की जाएगी।

हुड्डा जिस हवा की बात कह रहे हैं, वह भाजपा की ओर बह रही है : बराला

सुभाष बराला ने कहा कि हरियाणा में इस समय न तो कांग्रेस और न ही इनेलो या जजपा का कोई जनाधार है। जिस प्रकार लोकसभा चुनाव में प्रदेश की जनता ने सभी 10 सीटों पर विजय दिलाकर भाजपा की नीतियों पर मुहर लगाई है उसी प्रकार विधानसभा चुनाव में भी हरियाणा में जनता जनार्दन का आशीर्वाद फिर से भाजपा को मिलेगा। बता दें कि हाल में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का पिछले दिनों एक बयान आया था जिसमे उन्होंने कहा था कि परिवर्तन रैली के माध्यम से हवाओं का रुख बदल देंगे। जिस पर बराला ने चुटकी लेते हुए कहा कि “वो जिस हवा को बदलने की बात कर रहे थे वो बदल कर भाजपा की तरफ बह रही है।”

इनेलो और कांग्रेस पर बराला का तंज

सुभाष बराला ने कहा कि हाल में एक नेता महागठबंधन की बात करते हैं जबकि आज हकीकत तो यह है कि वह अपनी पार्टियां संगठित करने में नाकामयाब रहे है। उन्हें अपने अस्तित्व का डर सता रहा है। उन्हें पता है कि मोदी जी के सामने उनका अस्तित्व नहीं बचेगा। इसलिए वो इस प्रकार के गठबंधन की बात कर रहे है, मगर ऐसा गठबंधन न रहेगा न टिकेगा। आज यह लोग जिस पार्टी के साथ गठबंधन की बात कर रहे है वो तो खुद इतने बटे हुए हैं कि उनके हालत को देख गाना याद आता है दिल के टुकड़े हजार हुए कोई यहां गिरा कोई वहां ठीक उसी प्रकार इनके “ दल के टुकड़े हजार हुए, कोई यहां गिरा कोई वहां गिरा”

हरियाणा में महागठबंधन हो : रणजीत

कांग्रेस के नेता रणजीत सिंह ने प्रदेश में कांग्रेस, इनेलो, बसपा और जननायक जनता पार्टी को आपस में महागठबंधन करने की बात करके राजनीतिक माहौल को गरमा दिया है। रणजीत ने प्रदेश में कांग्रेस के नेतृत्व बदलने और पार्टी की कमान भूपेंदर सिंह हुड्डा को देने की वकालत भी की। उन्होंने कहा कि लोक सभा चुनावो में कांग्रेस कोई बड़ा चेहरा लोगों के सामने नहीं दे पाई तभी कांग्रेस का ये हाल हुआ है। इसलिए यदि कांग्रेस ने जन भावनाओं के तहत कोई फैसला नहीं लिया तो वे जल्द कोई बड़ा फैसला लेंगे। साथ ही दूसरी पार्टियों के नेता भी उनके संपर्क में है जहा से उन्हें सकारत्मक संकेत मिले है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close