टुडे न्यूज़टुडे विशेषराजनीतिहरियाणा

“कमल और चाबी” के बीच होगा अबकी बार विधानसभा चुनाव

भाजपा के रोजगार के जवाब में दुष्यंत का “रोजगार मेरा अधिकार”, मांगा सरकार से “श्वेतपत्र”

हिसार टुडे 

  • भाजपा के मिशन 75 के जवाब में जेजेपी का मिशन 46
  • भाजपा के रोजगार मुद्दे की जजपा ने उड़ाई धज्जियां
  • किसानों का कर्ज माफी जजपा का रामबाण

अर्चना त्रिपाठी | हिसार
भाजपा के मिशन 75 की तुलना में जननायक जनता पार्टी जिसे भाजपा का विकल्प कहा जाता है वो इस विधानसभा चुनाव में मिशन 46 लेके आए हैं। इस बात का खुलासा आज हिसार में खुद जननायक जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह ने अर्बन एस्टेट स्थित दुष्यंत चौटाला के आवास पर पत्रकार वार्ता में कही। मगर यह मात्र सरदार निशांत सिंह के शब्द नहीं, बल्कि यह भावना दुष्यंत चौटाला ने काफी बार उठायी है।

दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी हरियाणा में भाजपा के बाद दूसरी ऐसी पार्टी जिन्होंने नियोजित तरीके से अपने चुनाव प्रचार के अजेंडे को तय कर चुनावी मैदान में अपने कार्यकर्ताओं के साथ सक्रियता से उत्तर चुके हैं। वहीं ठीक दूसरी तरफ इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला की पार्टी इनेलो भी काम में जुट गयी है, वहीं कांग्रेस के नेता अपनी-अपनी तरफ से मैदान में बिना किसी नेतृत्व के उतर रहे हैं। मगर इन तमाम पार्टियों के बीच दुष्यंत अपनी साफ ईमानदार छवि के साथ मैदान में उतर रहे हैं। हालांकि इस बात को नकारा नहीं जा सकता कि उनका भाजपा के साथ मुकाबला बहुत तगड़ा होने वाला है।

लोकसभा का चुनाव राष्ट्रवाद के नाम पर भाजपा ने जीत कर भले ही अपना माहौळ बनाने की कोशिश की है, मगर हकीकत तो यह है कि अब जब विधानसभा चुनाव हैं तो यहां स्थानीय मुद्दे हावी होंगे। यही कारण है कि जननायक जनता पार्टी नेता दुष्यंत चौटाला ने मिशन 46 के जरिये रोजगार, महिलाओं की सुरक्षा, किसानों के आर्थिक हालात, बढ़ते अपराध, अवैध खनन सहित अन्य स्थानीय मुद्दे के साथ जननायक जनता पार्टी भाजपा को घेरने की कोशिश करेगी।

भाजपा के रोजगार के जवाब में दुष्यंत का “रोजगार मेरा अधिकार”, मांगा सरकार से “श्वेतपत्र”

बता दें कि एक तरफ नौकरियों में भर्ती पर भर्ती निकाल कर भारतीय जनता पार्टी खुद की ईमानदार छवि को प्रदेश भर में फैला कर और नौकरियां देकर विधानसभा चुनाव के पूर्व ही माहौल बनाने की कोशिश कर रही है। मगर ठीक दूसरी तरफ दुष्यंत चौटाला ने इसी रोजगार नीति पर लगातार सरकार को घेरते हुए उन्होंने एक नई मुहीम के साथ सरकार की पोल-खोल करने और बेरोजगार युवाओं को वास्तविकता में काम दिलवाने के लिए “रोजगार मेरा अधिकार” की शुरुवात की है। जहां केवल बेरोजगार युवाओं का आंकड़ा जुटाएंगे, बल्कि सरकार पर दबाव भी बनाएंगे कि उनको नौकरियां दी जाए। जैसा कि आपको ज्ञात है कि दुष्यंत ने कई बार इस बात का खुलासा किया है कि सरकार ग्रुप “डी” की नौकरियां निकाल रही है।

मगर यहां पर काबिल और शिक्षित युवाओं के लिए कोई रोजगार उपलब्ध नहीं। उन्होंने आरोप लगाया कि मनोहर लाल खट्टर के राज में एग्जाम के पेपर लीक होने के बावजूद भी पेपर कैंसिल न करना और मामले में गिरफ्तारी के बाद भी कोई कठोर एक्शन न होना इस बात का सबूत है कि भाजपा के राज में नौकरियों में भ्रष्टाचार का मामला चरम पर रहा है। जजपा ने वादा किया है कि सत्ता में आने के बाद युवाओं के लिए निजी क्षेत्र में 75 प्रतिशत नौकरियां आरक्षित करेगी। दुष्यंत ने मनोहर लाल सरकार को घेरते हुए उनसे “श्वेतपत्र” को मांग की और पूछा कि वह बताये कितनो को उन्होंने नौकरिया दी। उन्होंने कहा कि हकीकत है कि ग्रुप-डी में लगे अनेक युवा अपना इस्तीफा दे रहे हैं। क्योंकि उन्हें योग्यता अनुसार नौकरी नहीं मिली।

किसानों का कर्ज माफ़ी जजपा का रामबाण

फसल बीमा योजना में धांधली, बीमा की रकम के लिए धक्के खाते किसान, नकली बीज से फसल की पैदावार में नुकसान, फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य से काफी किसान वंचित, किसानों पर आता अितरिक्त कर्ज का बोझ, न जाने ऐसे कितने ही मुद्दे से हरियाणा के किसानों को इन साढ़े चार सालो में क्या-क्या समस्या भुगतनी पड़ी। इतना ही नहीं केंद्र से लेकर राज्य सरकार ने किसानो के कर्ज माफी को लेकर कोई फैसला नहीं लिया। इसलिए ताऊ देवीलाल के नक्शेकदम में चलते हुए दुष्यंत ने किसानों के हितों को अपने अजेंडे में शामिल करते हुए इस बार किसानो के कर्ज माफी का मुद्दा विधानसभा में उठाने का फैसला लिया है।

इसके तहत जननायक जनता पार्टी ऐसे किसानों को चिन्हित करके उनका आंकड़ा तैयार करेगी, जो किसी सरकारी रिकार्ड या अन्य कहीं कर्ज माफी के हकदार नहीं बन सके हैं। पार्टी ने यह भी फैसला लिया है कि जजपा सरकार बनने पर पहली कलम से ऐसे किसानों का कर्ज माफ करने का काम किया जायेगा। इतना ही नहीं जेजेपी के सत्ता में आने पर डार्क जोन में किसानों को धान न लगाने की शर्त को खत्म करना और पूसा 1509 किस्म लगाने के लिए प्रोत्साहित करेगी। प्रदेश में टयूबवैल लगाने की लगाई पाबंदी को भी जेजेपी सत्ता में आने पर समाप्त करेगी। जजपा अपना फोकस जनहित को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर कर रही है।

भाजपा के 75 के जवाब में दुष्यंत का 46
जननायक जनता पार्टी ने भाजपा की 75 की भाषा पर उनको आड़े हाथो लेते हुए वह पहले ही कह चुके है कि उनका उद्देश्य भाजपा को 75 से 4 पर लाना है। दरअसल दुष्यंत चौटाला ने कहा कि भाजपा को प्रदेश में 4 से 47 तक पहुंचने में 40 साल लगे थे। अब हरियाणा के विकास के ताले की चाबी जजपा के पास है, जिससे वह विधानसभा चुनाव में स्व. देवीलाल के सपनों की सरकार बनाने का काम करेगी और हो सकता है कि भाजपा को दुबारा से 4 सीट पर आना पड़े।

कमल का मुकाबला करेगी “चाबी”
इस बार कमल का मुकाबला जननायक जनता पार्टी चाबी के साथ करने जा रही है। कमल खिलाने वाले कहते हैं कि जहां जहां कीचड़ होगा वहां-वहां कमल खिलेगा और अब उसके जवाब में जननायक जनता पार्टी सभी समस्या का हल “चाबी” चुनाव चिन्ह के साथ लोगों के बीच जा रही है। अब देखना यही है कि कमल, हाथ, चश्मा, हाथी और चाबी में से किसका दांव चलता है।

दुष्यंत ने वरिष्ठ नागरिकों की पेंशन पर किया फोकस
इसके अलावा दुष्यंत चौटाला ने जजपा का लक्ष्य रखा है कि सरकार बनने पर महिलाओं की पेंशन उम्र 60 से घटाकर 55 की जाए, इसके लिए भी महिला प्रकोष्ठ की टीमें बूथ स्तर पर फार्म भरकर ऐसी महिलाओं का सही आंकड़ा जुटाने का काम कर रही हैं।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close