हेल्थ

हल्के में न लें मांसपेशियों की जकड़न

Today News

अगर आपको एक या एक से ज्यादा मांसपेशियों में अचानक अनचाही जकड़न महसूस हो तो इसे मांसपेशियों में ऐंठन भी कहते हैं। मांसपेशियों में ऐंठन के कारण होने वाला दर्द काफी गंभीर होता है, जिससे आपको सोते समय या चलते समय परेशानी हो सकती है। मांसपेशियों में ऐंठन होने से कोई नुकसान तो नहीं होता, लेकिन यह ऐंठन और दर्द मांसपेशियों के इस्तेमाल में अस्थायी रूप से बाधा बन सकता है। व्यायाम करने से या शारीरिक काम ज्यादा करने के कारण भी मांसपेशियों में ऐंठन आ सकती है।

इसलिए हो सकता है दर्द

  •  खून की आपूर्ति में कमी: जिन धमनियों के जरिए पैरों में खून पहुंचता है, अगर वह संकुचित हो जाएं तो इससे आपके पैरों की मांसपेशियों में ऐंठन आ सकती है जिसके कारण आपको व्यायाम करते समय गंभीर दर्द महसूस हो सकता है। हालांकि, जब आप व्यायाम करना बंद कर देते हैं तो यह ऐंठन और दर्द खुद ठीक हो जाते हैं।
  • नसों पर दबाव: अगर रीढ़ की हड्डी की नसों पर दबाव पड़ रहा हो तो इसके कारण भी पैरों की मांसपेशियों में ऐंठन और दर्द हो सकता है। यह दर्द आपके चलने के साथ-साथ और गंभीर होता जाता है। इस तकलीफ से जुड़े अपने लक्षणों को कम करने का सबसे कारगर उपाय है कि किसी एक ही तय ढंग से धीरे चला जाए। जैसे कि आपके आगे शॉपिंग कार्ट है और आप उसे ठेलते हुए धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे हैं। इससे आपकी हालात बेहतर होगी।
  •  आहार में खनिज कम लेना: अपने भोजन में महत्वपूर्ण खनिजों जैसे पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम को बेहद कम जगह देना भी पैरों की मांसपेशियों में ऐंठन की एक बड़ी वजह हो सकते हैं। हाई ब्लड प्रेशर के लिए ली जाने वाली दवा, ड्यूरेटिक्स भी इन खनिजों को सोंख कर इन की बेहद कमी कर देती है।

कैसे पाएं दर्द से राहत

जिस मांसपेशी में ऐंठन आई हो उसे स्ट्रेच करें और हल्के-हल्के सहलाएं। अगर पिंडली की मांसपेशी में ऐंठन आई हो तो शरीर का वजन उस पैर पर डालें और अपने घुटने को मोड़ने की कोशिश करें। खड़े नहीं हो पा रहे हो तो जमीन या किसी कुर्सी पर बैठ जाएं और पैर को सीधा और चौड़ा रखकर स्ट्रेच करें।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close