फतेहाबादहरियाणा

Today News |प्रशासन सख्त, रोडवेज कर्मियों की हड़ताल विफल

Today News

रोडवेज कर्मचारियों द्वारा आह्वान की गई हड़ताल को दबाने के लिए प्रदेश सरकार ने पहले से ही तैयारी कर ली थी । रोडवेज ज्वांइट एक्शन कमेटी के साथ वार्ता विफल होने के बाद जहां कर्मचारियों ने हड़ताल करने की घोषणा की वहीं प्रदेश सरकार ने भी एस्मा लगाकर कर्मचारियों को पीछे धकेलने का प्रयास किया। एस्मा का विरोध करते हुए कर्मचारी संगठनों ने हड़ताल करने की बात कही तथा इसके लिए व्यापक प्रबंध भी किए।

डिपो स्तर पर सभी कर्मचारी नेताओं की ड्यूटियां लगाई गई। कई डिपो में तो मंगलवार शाम के बाद से ही बसें बंद कर दी गई वहीं हड़ताली कर्मचारियों से सख्ती से निपटने के लिए प्रदेश सरकार ने भी रणनीति बनाई। बुधवार अल सुबह ही जिला प्रशासन ने रोडवेज डिपो पर डेरा डाल दिया तथा बसों को चलवाने का प्रयास किया।

इस दौरान जिन कर्मचारियों ने विरोध किया तो उनको गिरफ्तार कर लिया गया। सुबह कुछ परेशानी के बाद अधिकांश ड्राईवर व कंडक्टर ड्यूटी पर आ गए तथा बसें अपने रुट पर चलने लगी। हरियाणा सरकार तथा माननीय उच्च न्यायालय के निर्देशानुसार जिला प्रशासन द्वारा किए गए पुख्ता प्रबंधों के चलते बुधवार को कुछ संगठनों द्वारा की गई रोडवेज की हड़ताल का कुछ खास असर देखने को नहीं मिला और जिला से विभिन्न रूटों पर राज्य परिवहन के अतिरिक्त अन्य राज्यों की बसें व सरकार से परमिट प्राप्त बसें चलती रही। प्रशासनिक अधिकारियों तथा पुलिस के जवानों की मुस्तैदी के चलते आम जनता ने भी राहत की सांस ली और उन्हें अपने गंतव्य तक जाने में ज्यादा दिक्कतें नहीं हुई। बुधवार सुबह हड़ताली कर्मचारियों ने बसों की आवाजाही को बाधित करने का प्रयास किया, जिस पर पुलिस द्वारा उन्हें हिरासत में ले लिया गया।

अन्य राज्यों की बसों, निजी बसों व अन्य वाहनों की उपलब्ध्ता के कारण हड़ताल का ज्यादा असर दिखाई नहीं दिया। उपायुक्त डॉ जेके आभीर तथा पुलिस अधीक्षक दीपक सहारण ने स्वयं जिला भर के विभिन्न मार्गों एवं बस अड्डा परिसरों का दौरा कर सभी प्रबंधों व सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। उपायुक्त डॉ आभीर ने कहा कि हरियाणा रोडवेज आम जनता के यातायात का प्रमुख साधन है, जिसे सुचारू रूप से चलाना प्रशासन की जिम्मेवारी है।

उन्होंने कहा कि आमजन को अपने रोजमर्रा के कार्यों के अतिरिक्त आकस्मिक कार्य भी करने होते हैं। ऐसे में यदि रोडवेज व्यवस्था ठप्प हो जाए तो जनता को भारी दिक्कतें होती है। पुलिस अधीक्षक दीपक सहारण ने कहा कि कानून एवं शांति व्यवस्था को बनाए रखना तथा आमजन के अधिकारों की रक्षा पुलिस की महत्वपूर्ण जिम्मेवारी है। हड़ताल के मद्देनजर पुलिस ने बखूबी से अपनी जिम्मेवारी का निर्वहन किया है। उन्होंने अपील की कि कोई भी व्यक्ति किसी आंदोलन के नाम पर कानून एवं शांति व्यवस्था को न बिगाड़े। इस मौके पर एसडीएम सरजीत नैन, डीएसपी जोगेन्द्र शर्मा, रोडवेज जीएम राहुल मित्तल व प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

Today News |सरकार की सख्ती के आगे टिक नही पाई रोडवेज की चक्का जाम नीति

Today News |हड़ताली कर्मचारियों पर पुलिस का लाठीचार्ज, धारा 144 लागू

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close