टुडे न्यूज़हरियाणाहिसार

सतलोक आश्रम प्रकरण में फैसले से पूर्व प्रशासन मुस्तैद, जिला में बनाए गए कुल 48 नाके

Hisar  News| हिसार

उपायुक्त अशोक कुमार मीणा की अध्यक्षता में आज लघु सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में आगामी 11 अक्टूबर को रामपाल आश्रम प्रकरण के संभावित न्यायिक फैसले के मद्देनजर जिला में कानून व्यवस्था के लिए अधिकारियों की एक बैठक का आयोजन किया गया।उपायुक्त ने सभी अधिकारियों को मुस्तैद रहने के निर्देश देते हुए कहा कि न्यायिक फैसले के मद्देनजर रामपाल समर्थकों के उग्र होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। प्रशासन द्वारा किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सभी आवश्यक प्रबंध कर लिए गए हैं। किसी भी व्यक्ति को किसी भी सूरते हालात में कानून हाथ में लेने नहीं दिया जाएगा इसके लिए ड्यूटी मैजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं जो पुलिस अधिकारियों के साथ मिलकर कानून व्यवस्था पर पूरी नजर बनाए रखेंगे।

उन्होंने उम्मीद जताई है कि कहीं भी किसी भी प्रकार की हिंसा नहीं होगी परन्तु फिर भी ऐतिहात के तौर पर जिला को चार स्तरीय सुरक्षा व्यवस्था से चाक चौंकध किया गया है। इसके पहले स्तर पर जिला सीमा से लगते सभी जिलों व राज्य की सीमा पर नाके लगाए गए हैं जहां से किसी भी तरह के संदिग्ध व्यक्ति को प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। दूसरे स्तर पर शहर के संवदेनशील स्थानों पर नाके लगाए गए हैं। इसके अतिरिक्त न्यायिक परिसर में बिना अनुमति के किसी को घुसने की इजाजत नहीं दी जाएगी। उपायुक्त ने कहा कि व्यवस्था भंग करने की इजाजत किसी भी कीमत पर नहीं दी जाएगी। यदि कोई व्यक्ति कानून व्यवस्था को भंग करता है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाही अमल में लाई जाएगी। ड्यूटी मैजिस्ट्रेट कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए परिस्थितियों अनुसार विवेक से निर्णय ले। कानून तोडऩे वालों को किसी भी तरह की छूट नहीं मिलनी चाहिए। सभी ड्यूटी मैजिस्ट्रेट के साथ एक-एक वीडियोग्राफर रहेगा जो हर प्रकार की गतिविधियों की वीडियोग्राफी करेगा। आपसी तालमेल बनाए रखने व सूचनाओं के आदान प्रदान के लिए सभी ड्यूटी मैजिस्ट्रेट को वायरलैश सैट उपलब्ध करवाए जाएंगे। इसके साथ-साथ अन्य सुरक्षा उपकरण भी दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि जिला के संवेदनशील स्थानों पर प्रशासन का विशेष फोकस रहेगा।

इन प्वाईंटस पर अतिरिक्त बल तैनात होने के साथ-साथ जिला पुलिस, वॉटर कैनन, फायर ब्रिगेड की गाडिय़ां, एम्बुलेंस, जेसीबी मशीन व क्रेन आदि की भी पर्याप्त व्यवस्था रहेगी। न्यायालय व कचहरी परिसर पूरी तरह से सील रहेगा। यहां पर किसी भी अनाधिकृत व्यक्ति का प्रवेश वर्जित रहेगा । इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री शिव चरण ने बताया कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुख्ता प्रबंध किए हैं। जिला के विभिन्न स्थानों पर पुलिस नाके लगाए जाएंगे। इन नाकों में जिला के अन्दर 25 नाके, जिला की सीमाओं पर 12 नाके तथा साथ लगते अन्य जिलों में 11 पुलिस नाके शामिल हैं। इन सभी पुलिस नाकों पर पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात रहेगा। इस प्रकार कानून व्यवस्था की अनदेखी करने वाले किसी भी व्यक्ति को किसी भी कीमत पर नहीं छोड़ा जाएगा। इस अवसर पर उपमंडल अधिकारी नागरिक परमजीत, सीटीएम शालिनी चेतल, डीआरओ राजेन्द्र कुमार, डीडीपीओ अश्वीर नैन, जिला परिषद के डिप्टी सीईओ सुरजभान, उपनिदेशक पशु पालन विनोद फौगाट,तहसीलदार विनय चौधरी, बीडीपीओ जयपाल सिंह तंवर, संदीप भारद्वाज, संजय टांक, एक्सेन भीम सैन, बीएस खोकर, कुलबीर सिंह, सतीश कुमार, जीत राम, केके गिल, सुनील कुमार, रमेश कुमार, डीएस ढिल्लो, एडीए राकेश कुमार सहित अन्य उपस्थित थे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close