टुडे न्यूज़फतेहाबादसिरसाहरियाणाहिसार

रोडवेज की हड़ताल को अन्य विभागों और कांग्रेस का मिला समर्थन

सरकार का भरोसा नहीं ऐसा ही रहा तो कल किसानों पर भी एस्मा लगाएगी : पूर्व मंत्री सांगवान

Hisar News| हिसार

हरियाणा रोडवेज की हड़ताल के तीसरे दिन बृस्पतिवार को जहां दिनभर चक्का जाम रहा, वहीं दूसरे विभागों के कर्मचारियों सहित कांग्रेस भी रोडवेज के समर्थन में पहुंची। कर्मचारियों ने रणनीति तैयार कर रोडवेज की हड़ताल का समर्थन करते हुए स्पष्ट किया कि अगर जरूरत पड़ी तो सभी विभागों के कर्मचारी हड़ताल में शामिल होंगे। रोडवेज सहित कई विभागों के कर्मचारियों ने शहर में रोष प्रदर्शन करते हुए सीएम मनोहर लाल का पुतला फूंका। अल्टीमेटम भी दिया कि उनकी मांगें पूरी नहीं तो हड़ताल अनिश्चितकालीन होगी। बिजली, जनस्वास्थ्य, शिक्षा, आशा वर्करों सहित कई विभागों के कर्मचारी रोडवेज कर्मचारियों के समर्थन में एकजुट हुए और रोडवेज की हड़ताल का समर्थन किया। दादरी के रोज गार्डन में आयोजित मीटिंग में सभी विभागों ने एकजुट होकर हड़ताल के लिए सरकार का विरोध किया। इस दौरान पूर्व मंत्री व कांग्रेसी नेता सतपाल सांगवान सहित प्रदेश सचिव अजीत फौगाट भी समर्थन में पहुंचे।

हर हाल में चलेंगी बसें, बिना कंडक्टर, बिना किराया!
पूर्व मंत्री सांगवान ने कहा कि सरकार कर्मचारियों पर एस्मा लगाकर डरा रही है। सरकार को भरोसा नहीं ऐसा ही रहा तो कल किसानों पर भी एस्मा लगाएगी। ऐसे में सरकार को कर्मचारियों की मांगे माननी चाहिए। वहीं बिजली विभाग के कर्मचारी नेता राजकुमार सांगवान और हेमसा की प्रदेश उपाध्यक्ष शर्मिला हुड्डा ने रोडवेज की हड़ताल को जायज बताया और कहा कि जरूरत पड़ी से सभी विभागों के कर्मचारी हड़ताल में शामिल होंगे।

रोडवेज की हड़ताल को अन्य विभागों और कांग्रेस का मिला समर्थन
रोष मीटिंग के बाद कर्मचारी प्रदर्शन करते हुए बस स्टैंड पहुंचे और दोनों गेटों को ताला जड़ दिया। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए मौके पर भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया था। प्रदर्शन करते हुए कर्मचारियों ने लाला लाजपतराय चौक पर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका।

दूसरे विभागों के हैवी लाइसैंस ड्राइवरों से रोडवेज बसें चलाने के आदेश
रोडवेज डिपो में कर्मचारियों की हड़ताल के कारण जिला प्रशासन द्वारा सरकारी विभागों के हैवी लाइसैंस ड्राइवरों से बसें चलाने के आदेश जारी किए हैं। डीसी अजय सिंह तोमर द्वारा जारी आदेशों में स्पष्ट किया गया है कि वे अपने विभाग के ड्राइवरों को तुरंत रोडवेज डिपो में भेजें ताकि किसी भी हालत में यात्रियों को परेशानी ना हों।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close