टुडे न्यूज़ताजा खबरहरियाणा

मेयर चुनाव : भाजपा के प्रबल दावेदार सुजीत कुमार के साथ ‘जीत’ का सफर तय करेगी भाजपा 

Hisar Today

अर्चना त्रिपाठी | हिसार
संगठन का कार्य करते समय कभी सोचा न था कि यह शख्स हिसार की राजनीति में इतना आगे निकल जाएगा की खुद राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के दरबार में भी उनके नाम से प्रशंसा के बोल गूंजने लगेंगे। हम बात कर रहे हैं लगातार दो बार जिला महामंत्री की दावेदारी संभालने वाले भाजपा महामंत्री सुजीत कुमार की। सुजीत जिसके नाम में ही शब्द छुपा हुआ है “जीत”। नाम के अनुरूप सुजीत कुमार ने जब हिसार में कदम रखा, तो कभी सोचा न था कि वह कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्नेही बनेंगे, तो कभी भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के विश्वासपात्र और किसी ने यह भी कल्पना नहीं की थी कि वह मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मजबूत भरोसेमंद सिपाही बनकर हिसार में भाजपा की ताकत को जमीनी स्तर पर मजबूत करने का काम करेंगे।

हिसार में अधिकतर समय विपक्ष हावी रहा। सत्ता हमेशा वंशवाद के इर्द गिर्द घूमती रही। कभी पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल परिवार तो कभी पूर्व मुख्यमंत्री देवीलाल चौटाला की पार्टी इनेलो ने वर्षों राज किया। दशकों की सत्ता में सेंध लगाना भाजपा के किसी भी नेता के लिए मुश्किल था। ऐसे में खुद के पार्टी की संगठनात्मक ताकत मजबूत कर कुलदीप बिश्नोई से लेकर सांसद दुष्यंत चौटाला पर करारा प्रहार करने की कूवत दिखाने वाले सुजीत कुमार का नाम, इन दिनों मेयर चुनाव के लिए भाजपा के मेयर पद के प्रबल दावेदार के रूप में सामने आ रहा है।

सुजीत कुमार
  सुजीत कुमार

इस बार मेयर पद का चुनाव सभी पार्टियों के लिए अग्निपरीक्षा से कम नहीं है। एक तरफ कांग्रेस पर दशकों की राजनीति का प्रभाव मेयर चुनाव में डालने की पूरी कोशिश करेगी। वहीं ठीक दूसरी तरफ सांसद दुष्यंत चौटाला की लोकप्रियता का फायदा इनेलो प्रत्याशियों को मेयर चुनाव में दिलाने के लिए इनेलो भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी।  ऐसे में भाजपा के लिए यह चुनाव प्रतिष्ठा का चुनाव बन गया है। भाजपा पहली बार अपने चुनाव चिन्ह पर अपने प्रत्याशी को मेयर चुनाव में उतारने की जुगत में जुट गयी है। भाजपा के समक्ष 2002 से हिसार में पार्टी संगठन का काम करने वाले सुजीत कुमार के अलावा और कोई दूसरा चेहरा फिलहाल दिखाई नहीं दे रहा है।

गौरतलब है हिसार क्षेत्र में दशकों से कार्य करने के अनुभव के साथ अब सुजीत कुमार पिछले 4 सालों से नलवा विधानसभा क्षेत्र में भी पार्टी संगठन की ताकत मजबूत करने का काम कर रहे है। राजनीति में रुचि रखने वालों का मानना है कि नलवा में सुजीत कुमार के विकासशील कार्यो के साथ बेहतर जनसम्पर्क के बलबूते भाजपा की ताकत वहां और मजबूत हो चुकी है। वहीं ठीक दूसरी तरफ जब कांग्रेस गुटबाजी के खेल में उलझी रही तब ऐसे समय पर ग्राउंड लेवल पर भाजपा को मजबूती देने का काम सुजीत कुमार ने किया। चर्चा यह भी है कि पिछले विधानसभा चुनावों में डॉ. कमल गुप्ता के जीत में सुजीत कुमार का अहम योगदान रहा है। इसलिए पार्टी आलाकमान अपने भरोसेमंद कार्यकर्ता को इस बार मेयर पद की दावेदारी देने पर विचार कर रहा हैं।

सुजीत कुमार को 22 तारीख को होने वाली मुख्यमंत्री मनोहर लाल की रैली को सफल बनाने की जिम्मेदारी सौपी गई है। मगर यह रैली मात्र रैली नहीं, बल्कि यह रैली जिला महामंत्री सुजीत कुमार के लिए खुद का जनाधार और ताकत पार्टी हाईकमान के सामने साबित करने की अहम चुनौती है। ऐसे में मेयर चुनाव के पूर्व इस रैली को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इस महत्वपूर्ण रैली की जिम्मेदारी जिस प्रकार से पार्टी ने सुजीत कुमार के कंधो पर डाली है, वो इस बात को साबित कर चुकी है की हिसार में भाजपा के लिए पार्टी की तरफ से मेयर पद के सबसे प्रबल और एकमात्र दावेदार सुजीत कुमार ही हैं।

राजकीय सूत्रों का मानना है कि मेयर चुनाव में सुजीत कुमार कि दावेदारी इसलिए भी मजबूत हैं, क्यूंकि सुजीत जिस नलवा विधासभा क्षेत्र में काम कर रहे हैं, वहां के 5 वार्ड मेयर चुनाव में आएंगे। जहां पर 40 हज़ार मतदाता है। इतना ही नहीं सुजीत ने शहरी इलाको में वर्षो से काम किया हैं जिसका लाभ भी भाजपा प्रत्याशी को होगा। ऐसे में पार्टी के लिए सुजीत कुमार का चयन फायदेमंद होगा।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close