टुडे न्यूज़राजनीतिहरियाणा

मां विधायक, बाप मंत्री, खुद डीसी, वोट पीएम के नाम पर: दुष्यंत

 उचाना
पिता केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री, मां सत्ता पक्ष की विधायक, स्वयं डीसी जैसे पदों पर रहे और उचाना में भाजपा प्रत्याशी वोट मांग रहे हैं मोदी के नाम पर। यह कैसी विंडबना है। यदि पिता कैबिनेट मंत्री बिरेंद्र सिंह और मां ने विधायक रहते हुए जनता के काम किए होते तो आज बेटे के सामने इस तरह से वोट मांगने की नौबत नहीं आती जबकि भाजपा प्रत्याशी ब्रजेंद्र सिंह स्वयं भी प्रदेश के विभिन्न जिलों में डीसी जैसे महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं। यह बात जेजेपी और आप गठबंधन प्रत्याशी सांसद दुष्यंत चौटाला ने कही। वे यहां हिसार लोकसभा क्षेत्र उचाना हलके के गांवों में वोट मांगने पहुंचे थे।
गांव नगुरा में नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुए दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जनता हमें काम करने के लिए, उनकी आवाज बूलंद करने के लिए चुनकर लोकसभा में भेजती है न कि ऐसी कमरों में बैठ कर ऐश करने के लिए। यदि हमने जनता के काम नहीं किए, उनकी पीड़ा को नहीं समझा तो, यह न केवल जनता के साथ घोर नाईंसाफी है बल्कि है जन-अपराध व विश्वासघात भी है। उन्होंने कहा कि बिरेंद्र सिंह डूमरखां का परिवार पिछले डेढ़ दशक से सत्ता में है, वह बताएं कि जनता उन्हें वोट क्यों दें। ऐसे क्या काम किए कि उन्हें चुनकर लोगसभा में भेजे। दुष्यंत ने कहा कि बिरेंद्र सिंह, उनकी धर्मपत्नी ने न हिसार लोकसभा और न ही उचाना हलके में कोई काम किए।
दुष्यंत ने कहा कि मैं जनता की पीड़ा को समझता हूं और उनका दुख-दर्द और समस्याएं दूर करना मेरी सर्वोच्च प्राथमिकता है, इसलिए मैंने विपक्ष का सांसद रहते हुए भी जनता के हम मुद्दे पर उनके बीच खड़ा होकर उनकी आवाज को बूलंद किया। हिसार की जनता की आवाज को लोकसभा की दहलीज तक पहुंचाया और उन्हें हल करवाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाया- मैंने दिन देखा न रात, हर समय लोगों की समस्याएं निपटाने में लगा रहा। दूसरी ओर डूमरखां परिवार था जो प्रदेश व केंद्र सरकार में सत्ता में था और ऐसी कमरों में बैठ कर ऐश करता रहा और बेटा नौकरशाही करने में लगा रहा।
दुष्यंत चौटाला ने कहा कि मैं उन लोगों में नहीं हूं जो एक बार जीत कर दिल्ली जाकर ऐसी कमरों में बैठ कर ऐश करते हैं और पांच साल के लिए जनता को भूल जाते हैं, बल्कि मैंने जनता द्वारा अपना प्रतिनिधि चुनने के बाद अपनी जिम्मेवारियों को दोहरी गंभीरता से समझा। छोटी उम्र में भी बड़े हौसले से काम किए।उन्होंने कहा कि मुझे उचाना हलके के लोगों से भारी उम्मीद है, मुझे आप लोगों का इस बार भी पिछले बार से भी ज्यादा साथ चाहिए। मैंने पहले भी आपके भरोसे को नहीं टूटने दिया और विश्वास दिलवाता हूं कि आगे भी आपकी पगड़ी को कभी नहीं झुकने दूंगा।
जेजेपी प्रत्याशी ने कहा कि हर कार्यकर्ता मेरी आवाज बन कर अब घर-घर जाकर वोट मांगे, मतदाताओं को जात-पात का जहर घोलने वालों से सावधान करें और एक-एक वोट चप्पल की जोड़ी पर डालने के लिए लोगों को प्रेरित करें। आज दुष्यंत ने गांव शाहपुर, नगुरा, शामदो, डयोला, चांदपुर सहित डेढ़ दर्जन गांवों का दौरा किया।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close