सिरसाहरियाणा

बीमा क्लेम की मांग को लेकर 36 घंटे बाद भी किसान पानी की टंकी पर डटे

Today News | सिरसा

चौपटा थाना क्षेत्र के गांव रूपावास स्थित जलघर की टंकी पर सोमवार सुबह चढ़े पांच किसानों की रात टंकी पर ही गुजरी। मंगलवार को भी किसान टंकी पर डटे रहें और नीचे विभिन्न गांवों के किसानों का धरना जारी रहा। टंकी पर चढ़े किसान बीमा क्लेम की मांग पर डटे हुए है। पुलिस व प्रशासन की ओर से आश्वासन देने के लिए पहुंचे अधिकारियों को उन्होंने दो टूक कहा कि जब तक उनके खातों में बीमा राशि जमा नहीं हो जाती, तब तक वे टंकी से नीचे नहीं उतरेंगे। उल्लेखनीय है कि अखिल भारतीय स्वमीनाथन संघर्ष समिति के बैनर समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकल पचार के साथ मदन सांगवान, रामदत्त पूनिया, कालू ढिढारिया व अरविंद बैनीवाल पानी की टंकी पर चढ़े हुए है। पानी की टंकी पर चढ़े मदन सांगवान ने बताया कि यदि सरकार ने उनकी मांग पूरी नहीं की तो रणनीति के तहत किसी अन्य गांव में किसान पानी की टंकी पर चढ़ जाएंगे। बिगड़े हालात के लिए सरकार व प्रशासन जिम्मेवार होगा। उन्होंने कहा कि जब सीएम का वादा पूरा नहीं होता, तब अधिकारियों-कर्मचारियों के आश्वासन पर कैसे विश्वास किया जाए।

पानी फुल, बैट्री निललगभग 50 फुट ऊंची पानी की टंकी पर चढ़े किसानों द्वारा पीने के पानी का भरपूर स्टॉक किया गया है। टंकी पर कई दिनों की जरूरत का पानी एकत्रित किया गया है और इसके लिए कैंपर ऊपर ले जाए गए है। इसके साथ ही रस्सी के सहारे खाना भी ऊपर पहुंचाया जा रहा है। किसानों की ओर से खाने का भी बंदोबस्त किया गया है। यदि प्रशासन द्वारा पानी और खाना पहुंचाने पर रोक लगाई जाती है, तब भी वे अपने साथ एक सप्ताह से अधिक का राशन लेकर गए है। लेकिन उन्हें मोबाइल की बैट्री की दिक्कत आ रहीं है। केवल विकल पचार का ही फोन पॉवर बैंक के सहारे चल रहा है बाकि सदस्यों के फोन बैट्री निल होने के कारण बंद हो गए है। स्वच्छता का ख्यालसरकार के खिलाफ रोष प्रदर्शन अलग बात है और स्वच्छता अलग बात। इसी के मद्देनजर किसानों द्वारा शौचनिवृत्ति के लिए डिस्पोजल और कैन का इस्तेमाल किया जा रहा है। मदन सांगवान ने बताया कि वे गंदगी फैलाने में विश्वास नहीं करते। इसलिए शौचनिवृत्ति का भी बंदोबस्त करके गए है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close