हरियाणा

अनदेखी से नाराज एक मंच पर आए पंजाबी नेता व मंत्री, बनाया नया मोर्चा

Today News | चंडीगढ़

हरियाणा में विभिन्न राजनीतिक दलों से जुड़े पंजाबी नेता एक मंच पर इकट्ठा हो गए हैैं। पंजाबी समुदाय से ताल्लुक रखने वाले हरियाणा के पूर्व मंत्रियों ने अपने-अपने सामाजिक संगठनों का विलय करते हुए पूर्व मंत्री एसी चौधरी के नेतृत्व में पंजाबी मोर्चे का गठन किया है। अब सभी पूर्व मंत्री हरियाणा में पंजाबी समुदाय की मिलकर लड़ाई लड़ेंगे।चंडीगढ़ में बृहस्पतिवार को हरियाणा के पूर्व मंत्री एसी चौधरी, पूर्व गृहमंत्री सुभाष बत्रा, पूर्व मंत्री धर्मवीर गाबा, पूर्व राज्यसभा सदस्य एवं सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता आरके आनंद, पंजाबी नेता परीक्षित मदान व संत कुमार ने हरियाणवी पंजाबी वेलफेयर सभा, अखिल भारतीय जागृति मंच व हरियाणा पंजाबी मोर्चा का विलय करते हुए भविष्य में एकजुटता के साथ काम करने का ऐलान किया। एसी चौधरी के अनुसार, आजादी की लड़ाई से लेकर आज तक करीब 13 लाख लोगों के बलिदान के बाद पंजाबियों ने समूचे विश्व में अपना नाम कमाया है।

राजनीतिक दलों ने अपने स्वार्थों के लिए पंजाबी समाज को अलग-अलग वर्गों में विभाजित कर दिया। पंजाबियों की संख्या 32 फीसदी होने के बावजूद उन्हें 15 प्रतिशत की गिना जाता है। एक समय हरियाणा में इस समाज के 13 विधायक थे, जिनमें से दस मंत्री व एक चेयरमैन ने सत्ता चलाई। इसके बाद राजनीतिक रूप से पंजाबी समाज के हितों की अनदेखी की जाती रही।

एसी चौधरी ने बताया कि प्रदेश के सभी पंजाबी संगठनों को एक मंच पर लाने के बाद बहुत जल्द हरियाणा में पंजाबी सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। पूर्व गृहमंत्री सुभाष बत्रा के अनुसार भेदभाव के खिलाफ पंजाबियों को एकजुट किया जाएगा। पूर्व राज्यसभा सदस्य आरके आनंद पंजाबियों का एकमंच पर आना समय की मांग है। हिसार से पूर्व मंत्री स्व. ओमप्रकाश महाजन व हांसी के पूर्व विधायक स्व. अमीर चंद मक्कड़ के परिजनों ने भी एसी चौधरी के नेतृत्व में पंजाबी मोर्चे को समर्थन का ऐलान किया।

पूर्व मंत्री एसी चौधरी को सौंपी पंजाबी मोर्चे की कमान

हरियाणा के विभिन्न पंजाबी संगठनों के प्रतिनिधियों ने पूर्व मंत्री एसी चौधरी को पंजाबी मार्चे का अध्यक्ष नियुक्त किया। मोर्चे में पूर्व गृहमंत्री सुभाष बत्रा चेयरमैन, कुरुक्षेत्र के परीक्षित मदान महासचिव, संत कुमार वरिष्ठ उपाध्यक्ष चुने गए। पूर्व राज्यसभा सदस्य आरके आनंद व पूर्व मंत्री धर्मवीर गाबा मोर्चे के संयोजक होंगे। प्रदेश कार्यकारिणी का गठन भी जल्द किया जाएगा।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close