क्राइमहरियाणाहिसार

अधिवक्ता बूरा के अपहरण मामले पर बार एसोसिएशन लामबंद,बोले-जल्द हो कार्रवाई नहीं तो काम बंद कर करेंगे आंदोलन 

Today News

शहर के वरिष्ठ अधिवक्ता एवं हिसार कंज्यूमर फोरम के पूर्व सदस्य रहे सेक्टर 15 के बीएंडआर कालोनी निवासी करीब 62 वर्षीय हरि सिंह बूरा के अपहरण मामले में बार एसोसिएशन लामबंद हो गई है। सोमवार को बुलाई गई बैठक में पदाधिकारियों ने कहा कि अगर पुलिस ने जल्द कार्रवाई नहीं की तो परिणाम भुगतना होगा। अधिवक्ता बूरा बच गए मगर उन पर हमला करने वाले और अपहरणकर्ताओं को जल्द पकड़ना होगा। नहीं तो हम वर्क सस्पेंड करके आंदोलन किया जाएगा। वहीं बैठक में पहुंच अधिवक्ता बूरा ने अपनी आपबीती सभी अधिवक्ताओं को बताया कि किस तरह से उनके साथ ये हादसा हुआ।

बता दें कि अधिवक्ता का शनिवार रात साढ़े दस बजे बस स्टैंड के सामने से अपहरण हो गया था। 5-6 युवकों ने अधिवक्ता को उनकी कार में ही ड्राइविंग सीट से पिछली सीट पर खींच लिया और पिस्तौल तानकर उनके मुंह और आंखों पर पट्टी बांध दी। गाड़ी में उन्हें पिस्तौल की बट भी मारी गई। बाद में अपहरणकर्ता अधिवक्ता बूरा को महम के भराण गांव के पास फेंककर उनकी सफारी गाड़ी लेकर फरार हो गए। उसी समय अधिवक्ता ने गांव से किसी व्यक्ति का फोन लेकर परिवार और पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस के अनुसार अधिवक्ता हरी सिंह बूरा बस स्टैंड पर किसी को लेने के लिए गए थे। वह गाड़ी में खिड़की खोलकर बैठे थे। इसी दौरान एक युवक उनके पास आया और उनसे सालासर जाने का रास्ता पूछा। अधिवक्ता बूरा ने उस युवक को रास्ता बता दिया। तभी उसने गाड़ी की चाबी निकाल ली। दूसरी तरफ से चार-पांच युवक उनकी गाड़ी में जबरदस्ती बैठ गए। उन्होंने पिस्तौल निकालकर बूरा की कनपटी पर तान दी। युवकों ने अधिवक्ता बूरा को मुंह दबाकर सीट से पीछे खींच लिया और एक युवक गाड़ी चलाने लगा। अधिवक्ता बूरा कुछ देख न सकें, इसके लिए उनकी आंखों पर पट्टी भी बांध दी गई। युवक बार-बार अधिवक्ता को राजगढ़ की तरफ ले जाने और वहीं बीच में फेंकने की बात कह रहे थे। युवकों ने अधिवक्ता के सिर पर पिस्तौल की बट से कई वार किए। बाद में उनको महम के नजदीक भराण गांव के पास फेंककर युवक गाड़ी लेकर फरार हो गए। अधिवक्ता पैदल ही भराण गांव में पहुंचे और शनिवार रात करीब एक बजे एक व्यक्ति से फोन लेकर परिवार और पुलिस को सूचित किया। परिवार के लोग उनको लेकर आए और उनका इलाज करवाया।

50 लाख रुपये की फिरौती मांगी

अधिवक्ता बूरा ने पुलिस को दी शिकायत में कहा युवकों ने उनको 50 लाख रुपये फिरौती के रूप में देने की बात कही। लेकिन बाद में वो उन्हें छोड़कर भाग गए। फिरौती के लिए उन्होंने अपने घर फोन करने के लिए कहा था।

दो किलोमीटर पैदल चल पहुंचे गांव

अधिवक्ता ने बताया कि उनको खेत में फेंककर युवक गाड़ी लेकर भाग गए थे। उसके बाद वह पैदल ही भराण गांव पहुंचे। करीब दो किलोमीटर चलने के बाद वह गांव पहुंचे तो उनको एक व्यक्ति दिखाई दिया। उससे ही फोन लेकर उन्होंने परिवार को सूचना दी।

एसोसिएशन ने बुलाई बैठक

अधिवक्ता के साथ हुई वारदात की जानकारी मिलने के बाद बार प्रधान प्रदीप सिंह बाजिया और अन्य सदस्य भी उनके पास पहुंच गए। बाद में उनके साथ बातचीत कर पुलिस को शिकायत देकर मामला दर्ज करवाया गया है।

युवकों ने बदली थी गाड़ी

बताया गया है कि सफारी गाड़ी में बस स्टैंड के सामने से अपहरण करने के बाद युवक उनको किस दिशा में ले गए, यह अधिवक्ता बूरा को नहीं पता। अपहरणकर्ताओं ने उनको बीच में दूसरी गाड़ी में भी बैठाया था। उसके बाद उनको खेत में ही फेंककर चले गए। उनको दूसरी गाड़ी में कहा बदला और वह युवक कहां गए, इस बारे में उन्हें नहीं पता।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close