टुडे न्यूज़संपादकीय

विपक्ष से मुद्दे छीनने में लगे “मनोहर”

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले 5 साल वह “she” अर्थात सुरक्षा,स्वास्थ और शिक्षा पर देने वाले है ध्यान ।

हिसार टुडे

शायद आपको याद हो कुछ दिनों पूर्व मिशन 10 का नारा चला था, उसका क्या हश्र हुआ दूसरी पार्टियों का यह सभी ने देख लिया। मगर अब मिशन 75 का और यह मिशन 75 ऐसे ही नहीं निकला बल्कि हमारे देश के गृहमंत्री या युं कहें भाजपा के चाणक्य व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के द्वारा निकल कर सामने आया है। विपक्ष तो अभी से कह रहा है कि 75 बस भाजपा ने यही दे दिया, मगर भाई आप यह समझने की गलती न करें  कि भाजपा 75 का नारा देकर केवल माहौल बनाने की कोशिश कर रही है। भाजपा वाले लगातार देख रहे हंै कि लोकसभा की तरह विधानसभा में भी विपक्ष उलझा हुआ है। कांग्रेस का हाल तो ज्यों का त्यों बना हुआ है। जिसे शायद ही कभी बदलते देखा जा सके। इनेलो जैसे तैसे इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला के साथ अपना अस्तित्व बचाने में लगी है मगर इन सब से दूर भाजपा विपक्ष से दो कदम आगे चल रही है।
हरियाणा में भाजपा की इस मुहीम को सफल बनाने के लिए खुद भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अपनी रणनीति बनानी शुरू कर दी है। यही कारण है कि आजकल मनोहर लाल खट्टर ऐसे ऐसे घोषणा का बम फोड़ने वाले है जिससे शायद विपक्ष को हमले का मुद्दा न मिले। जैसा कि हिसार में मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले 5 साल वह “she” अर्थात सुरक्षा, स्वास्थ और शिक्षा पर ध्यान देने वाले हैं। यानी उन्होंने विपक्ष के यह 3 मुद्दे छीन लिए हैं। बता दें कि जिस प्रकार से मनोहर सरकार के राज में लड़का-लड़की अनुपात में जो सुधार आया है, वह हरियाणा के प्रगति के लिए सबसे महत्वपूर्ण कदम है। मगर साथ ही बच्चियों और महिलाओं के साथ जितने अत्याचार हुए उसने भाजपा के सामने मुसीबत जरूर पैदा की है। इसलिए अब भाजपा अपना हर कदम फूंक-फूंक कर रख रही है।
आपको पता ही होगा कि विधानसभा चुनाव में भाजपा को डर है कि कहीं रोडवेज की तरफ विपक्ष को कोई अन्य मुद्दा न मिल जाए। यही कारण है कि उन्होंने विपक्ष को कोई मौका न देते हुए चालक में एक नया निर्णय लेकर नहले पर दहला खेला है। वह बड़ा फैसला है ड्राइविंग लाइसेंस में छू। आपको तो इस बात का अंदाजा है ही कि लोकसभा चुनाव में इस बार मोदी लहर के बावजूद नूंह जिला के मेवात इलाकों से भाजपा को अपेक्षाकृत कम समर्थन मिला था। वैसे तो इसके अनेक कारण हैं मगर पूरे मेवात में यह बात हर घर में होती थी कि मेवातियों के पास वाहन चलाने का एक रोजगार था और वह भाजपा ने छीन लिया। असल में मेवात में कम पढ़े लिखे लोग वाहन चालक का काम करते रहे हैं। पहले उनके ड्राइविंग लाइसेंस बिना शैक्षणिक योग्यता के बन जाते थे। लेकिन नए केंद्रीय मोटर व्हीकल एक्ट के लागू होने के बाद लाइसेंस केवल उन्हीं के बन सकते हैं जिन्होंने आठवीं कक्षा पास की हुई हो।
इससे मेवात क्षेत्र के करीब 20 हजार लोग बेरोजगार हो गए थे क्योंकि उनके पुराने लाइसेंस का नवीनीकरण भी इस शैक्षणिक योग्यता की शर्त के चलते नहीं हो पा रहा था। सूत्र बताते हैं कि लोकसभा चुनाव के नतीजों के बाद मिली इस जमीनी हकीकत की रिपोर्ट के आधार पर खुद मनोहर लाल ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मिलकर यह मामला सुलझवाया। अब भाजपा विधानसभा चुनाव में इस मुद्दे को भी भुनाएगी। इतना ही नहीं चरखी-दादरी और जींद जिला के 25 गांवों के किसानों की भूमि के मुआवजा राशि में बढ़ोतरी का मामला भी मुख्यमंत्री ने विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर सुलझवाया है।
मुख्यमंत्री इन दिनों जिस तेजी के साथ केंद्र की सारी परियोजना को पूरा करने में लगे हैं उससे यह तो तय है कि विधानसभा चुनाव में भाजपा की मनोहर लाल खट्टर सरकार यह दिखाने की कोशिश करेगी कि उनके राज में केंद्र ने ऐसा विकास करवाया जो किसी ने नहीं करवाया।
यही नहीं मुख्यमंत्री ने अपने सभी विधायकों से रिपोर्ट भी मांगी है जिसमें उन्हें कहा गया है कि वह अपने क्षेत्र में सभी विकास शील कार्य और रुके हुए परियोजना का ब्योरा दें, ताकि वह इस दिशा में कार्य करें और आगामी विधानसभा चुनाव के पहले उसे पूरा कराने का काम करें।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close